US Election 2020: जानिए, ट्रंप-बाइडेन मुकाबला यदि किसी भी तरह टाई हो जाए तो क्या होगा?

अमेरिका राष्ट्रपति चुनाव 2020 परिणाम (US Presidential Election 2020 Result) की तस्वीर अब लगभग साफ है. बीते चुनावों में भी टाई की स्थिति नहीं बनी है लेकिन 1800 के दशक में इस प्रक्रिया को अमेरिका में लागू किया गया था. इसलिये समझना जरूरी है कि टाई की स्थिति में अमेरिकी संविधान क्या इजाजत देता है?

 US Election 2020: जानिए, ट्रंप-बाइडेन मुकाबला यदि किसी भी तरह टाई हो जाए तो क्या होगा?
फाइल फोटो.

वॉशिंगटन: अमेरिका राष्ट्रपति चुनाव 2020 के परिणाम (US Presidential Election 2020 Result) की घोषणा होने में बस कुछ ही घंटे बाकी हैं. रिजल्ट की तस्वीर लगभग साफ है, फिर भी तमाम संभावनाओं पर चर्चा हो रही हैं. एक चर्चा यह भी है कि अगर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump)  और उनके डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन (Joe Biden)  के बीच राष्ट्रपति पद की दौड़ का परिणाम किसी भी तरह टाई हो जाये तो? ऐसा तभी संभव है जब दोनों को 269-269 वोट मिलते हैं, हालांकि इसकी संभावना अब न के बराबर है.

यह भी पढ़ें: US Presidential Election 2020: ट्रंप जीतें या बाइडेन, भारतीयों के मतलब की है ये बात

संविधान का 12वां संशोधन है रास्ता
अगर ऐसा होता है, तो अमेरिकी संविधान के 12वें संशोधन में इसका प्रावधान है. इसके जरिये नवनिर्वाचित प्रतिनिधि सभा 6 जनवरी को राष्ट्रपति के भाग्य का फैसला करेगी. इस प्रक्रिया के तहत प्रत्येक राज्य के वोट एक प्रतिनिधिमंडल द्वारा तय किए जाएंगे. इस बीच सीनेट उपाध्यक्ष चुना जायेगा, जिस प्रक्रिया में सभी 100 सीनेटरों के वोट होंगे.

ये है स्थिति
वर्तमान में रिपब्लिकन 26 राज्य प्रतिनिधिमंडलों को नियंत्रित करते हैं जबकि डेमोक्रेट 22 को. वहीं पेंसिल्वेनिया डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन सदस्यों के बीच फंसा हुआ है. मिशिगन में सात डेमोक्रेट, छह रिपब्लिकन और एक निर्दलीय है.

अदालत का रास्ता
इसके अलावा एक और रास्ता अदालत का है. सवाल उठता है क्या दोनों दल अदालत जा सकते हैं? तो इसक जवाब हां है. दोनों राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों को सर्वोच्च न्यायालय में जाने का अधिकार है. हालांकि, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पहले ही घोषित कर दिया है कि वह अदालत का दरवाजा खटखटायेंगे. वह सर्वोच्च न्यायालय से वोट की गिनती को रोकने के लिए हस्तक्षेप की मांग भी कर रहे हैं. जबकि उनके डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन जीत के प्रति आश्वस्त हैं.

यहां ट्रंप भारी
अब तक के नतीजों के आधार पर बाइडेन 264 जबकि ट्रंप 214 इलेक्टोरल वोट हासिल कर चुके हैं. अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 23 राज्यों में रिपब्लिकन की जीत का अनुमान लगाया जा है. इनमें सबसे बड़ा रोल फ्लोरिडा, टेक्सास, इंडियाना, केंटकी, मिसौरी और ओहियो का है. इन सभी जगहों पर 2016 में भी ट्रंप ने जीत दर्ज की थी.

यहां बाइडेन का जलवा
वहीं बाइडेन ने अपने गृह राज्य डेलावेयर के साथ-साथ कैलिफोर्निया और न्यूयॉर्क सहित 20 राज्यों पर जीत कर ली है. पूर्व उपराष्ट्रपति बाइडेन ने 2016 में ट्रंप द्वारा जीते गए राज्य दक्षिण-पश्चिम एरिजोना में भी जीत हासिल की है.

1800 के दशक में हुआ था टाई
बीते चुनावों में अमेरिका में टाई की स्थिति नहीं आई है. इस बार भी संभावना कम ही है. लेकिन 1800 के दशक में इस प्रक्रिया को लागू किया गया था. तब थॉमस जेफरसन और आरोन बूर के बीच चुनाव मुकाबला था.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.