कोरोना वैक्सीन के दावों के बीच WHO ने बताया कब सुनने को मिलेगी ‘अच्छी खबर’

कोरोना वायरस (CoronaVirus) की वैक्सीन को लेकर भले ही बड़े-बड़े दावे किये जा रहे हों, लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने स्पष्ट कर दिया है कि वैक्सीन जल्द आने की कोई उम्मीद नहीं है.

कोरोना वैक्सीन के दावों के बीच WHO ने बताया कब सुनने को मिलेगी ‘अच्छी खबर’
फाइल फोटो

जिनेवा: कोरोना वायरस (CoronaVirus) की वैक्सीन को लेकर भले ही बड़े-बड़े दावे किये जा रहे हों, लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने स्पष्ट कर दिया है कि वैक्सीन जल्द आने की कोई उम्मीद नहीं है. WHO ने कहा है कि अगले साल के मध्य तक ही वैक्सीन तैयार हो सकती है. WHO की प्रवक्ता मार्गारेट हैरिस (Margaret Harris) ने ट्रायल में प्रभावशीलता और सुरक्षा के महत्व पर जोर देते हुए कहा कि वैक्सीन बनाने वाला कोई भी देश अब तक एडवांस ट्रायल में नहीं पहुंचा है. अब तक के ट्रायल में किसी भी वैक्सीन के कम से कम 50% के स्तर पर प्रभावशाली होने के स्पष्ट संकेत नहीं मिले हैं. ऐसे में अगले साल मध्य से पहले तक व्यापक रूप से कोरोना की वैक्सीन की उपलब्धता की उम्मीद नहीं की जा सकती.

लंबा होगा तीसरा चरण
हैरिस ने आगे कहा कि वैक्सीन के ट्रायल का तीसरा चरण लंबा होगा. क्योंकि हमें यह देखने की जरूरत है कि वैक्सीन कितनी सुरक्षित है, और वायरस से कितना बचा सकती है. WHO प्रवक्ता ने कहा, ‘ट्रायल के सभी डेटा को साझा किया जाना चाहिए और उनकी तुलना होनी चाहिए. बहुत से लोगों को टीका लगाया गया है और हमें यह नहीं पता कि वो वास्तव में काम करता है या नहीं. अभी हमारे पास इस बात का स्पष्ट संकेत नहीं है कि क्या यह पर्याप्त प्रभावी और सुरक्षित है’.

यह है COVAX का लक्ष्य
गौरतलब है कि WHO और GAVI वैश्विक वैक्सीन आवंटन योजना का नेतृत्व कर रहे हैं, जिसे COVAX के नाम से जाना जाता है. इसका उद्देश्य उचित रूप से खरीदारी और वितरण करना है. COVAX का लक्ष्य 2021 के अंत तक स्वीकृत टीकों की 2 बिलियन खुराक की खरीद और वितरण करना है, लेकिन कुछ अमेरिका सहित कुछ देश इसमें शामिल नहीं हैं.

अमेरिका की तैयारी
मालूम हो कि रूस पहले ही वैक्सीन बनाने का दावा कर चुका है और अमेरिका एक नवंबर से इसके वितरण की तैयारी में है. दवा निर्माता कंपनी फाइजर और अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों ने गुरुवार को कहा कि अक्टूबर के अंत तक एक टीका वितरण के लिए तैयार हो सकता है. यह 3 नवंबर को अमेरिकी चुनाव से ठीक पहले होगा. 

VIDEO