जब इस कारण बेहद घबरा गई थीं रीमा लागू, संजय दत्त संग ये सीन शूट करना हो गया था मुश्किल

रीमा लागू आज बेशक हमारे बीच नहीं हैं लेकिन अपनी बेहतरीन अदाकारी से उन्होंने हमेशा के लिए दर्शकों के दिलों में एक खास जगह बनाई है. रीमा को पर्दे पर ज्यादातर मां का किरदार निभाते हुए ही देखा गया था.

Written by - Bhawna Sahni | Last Updated : May 18, 2021, 10:22 AM IST
  • रीमा लागू का शानदार अभिनय हमेशा दर्शकों के जहन में ताजा रहेगा
  • फिल्म 'वास्तव' के एक सीन के कारण रीमा बुरी तरह से घबरा गई थीं
जब इस कारण बेहद घबरा गई थीं रीमा लागू, संजय दत्त संग ये सीन शूट करना हो गया था मुश्किल

नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्ट्रेस रीमा लागू (Reema Lagoo) आज बेशक हमारे बीच नहीं है, लेकिन अपनी बेहतरीन अदाकारी के दम पर वह हमेशा ही भारतीय सिनेमा प्रेमियों के दिलों में जिंदा रहेंगी. उन्होंने 18 मई 2017 को हमेशा के लिए इस दुनिया को अलविदा कह दिया था. रीमा को आज भी लोग उनकी शानदार अदाकारी के लिए याद करते हैं. उन्होंने अपने करियर में कई बार मां के किरदार को पर्दे पर उतारा.

कई हमउम्र कलाकारों की बनीं मां

रीमा ने ऐसे सितारों की मां का रोल भी बखूबी निभाया जिनके साथ असल जिंदगी में उम्र का बड़ा फासला नहीं था. ऐसे में फिल्म 'वास्तव' (Vaastav) में रीमा ने अभिनेता संजय दत्त (Sanjay Dutt) की मां का किरदार भी निभाया था, जिसे दर्शकों ने बेहद पसंद किया था. इसी फिल्म में रीमा पर एक सीन फिल्माया गया था जिसे शूट करने के दौरान उनके पसीने छूट गए थे.

आंखे नम कर देता है ये सीन

इस फिल्म में रीमा ने चॉल में रहने वाली एक ऐसी महिला का किरदार निभाया था, जिसका बेटा आपराधिक रास्तों पर निकल पड़ता है और वह उसे रोक भी नहीं पाती. फिल्म के क्लाइमेक्स में उन्हें अपने बेटे को उसके दर्द से आजादी दिलाने के लिए खुद ही गोली मारनी पड़ती है. वैसे, कहने को तो यह एक्टिंग थीं, लेकिन इस सीन ने दर्शकों की आंखे नम कर दी थीं. वहीं रीमा के लिए भी यह बेहद मुश्किल था.

संजय दत्त ने थमाई थी पिस्तौल

दरअसल, इस सीन में रीमा को जिस पिस्तौल से संजय दत्त को गोली मारनी थी उन्हें उसके वजन का अंदाजा नहीं था. संजय दत्त ने उन्हें सीन शूट करने के लिए जैसे ही पिस्तौल थमाई वह इसे देखकर काफी घबरा गई थीं. पिस्तौल बेशक नकली थी, लेकिन रीमा के लिए इसे उठाना काफी मुश्किल हो गया था. हालांकि, डायरेक्टर महेश मांझरेकर और संजय दत्त ने उन्हें इसके लिए काफी सपोर्ट भी किया.

बेहद घबरा गई थीं रीमा लागू

सीन की रिहर्सल शुरू हुई तो रीमा इस पिस्तौल को उठा भी नहीं पा रही थीं. आलम ये था कि वह इस सीन के दौरान पूरी तरह पसीने में नहा चुकी थीं. हालांकि, बहुत घबराहट के बावजूद रीमा ने बखूबी यह सीन पर्दे पर उतारा. उनके साहसी मां के इस रूप की खूब सराहना भी की गई. इस फिल्म को जितनी बार भी देखो यह सीन दर्शकों की आंखें नम कर देता है.

रीमा ने निभाए कई बेहतरीन किरदार

रीमा लागू ने छोटे और बड़े पर्दे पर ऐसी भूमिकाएं निभाई हैं जिनमें आज उनकी जगह किसी और को देखने की कल्पना भी नहीं की जा सकती. रीमा को खोने को गम हमेशा दर्शकों और फिल्मी हस्तियों के मन में रहेगा.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़