''यौन संबन्ध बनाने के लिये किया जाता है ब्लैकमेल''

ये वो सनसनीखेज आरोप है जो IMG Venture मामले पर पीड़िताओं ने लगाए हैं. जिस मुंबई शहर में सच का गला घोट कर इन्साफ को फांसी पर लटका दिया जाता है, वहां ये संगीन आरोप सामने कैसे आ गये, ये एक बड़ा सवाल है..     

 ''यौन संबन्ध बनाने के लिये किया जाता है ब्लैकमेल''

नई दिल्ली.   एक और बड़ा मोर्चा खुल गया है मुंबई की बॉलीवुड में. और ये मामला भी बड़ी जांच की मांग करता हैं क्योंकि मुंबई की भ्रष्ट पुलिस पीड़िताओं की न्याय की आशा के साथ इस मामले को भी बीस फ़ीट गहरे गाड़ देगी. ऐसे में अब कौन आएगा आगे जो बॉलीवुड के चमकीले पर्दों के पीछे चल रहे इन काले खेलों को उजागर करेगा और दोषियों को उनके मुकाम पर पहुंचाएगा?

 

 

आयोग ने की है दूसरी नोटिस जारी

इस मामले में न केवल IMG Venture नामक एक बॉलीवुड कम्पनी आरोपों के कटघरे में है बल्कि महेश भट्ट, उर्वशी रौतेला, ईशा गुप्ता, रणविजय सिंह, मौनी रॉय और प्रिंस नरूला के खिलाफ भी यही नोटिस जारी किये जाने की बात सामने आई है. महिला आयोग की प्रथम नोटिस पर जब ये तथाकथित फ़िल्मी हस्तियां हाज़िर नहीं हुईं तो आयोग को दूसरी नोटिस जारी करनी पड़ी है. 

पीड़िताओं के आरोप हैं बहुत संगीन

पीड़ित लड़कियों का आरोप है कि IMG Venture ये कंपनी फ़िल्मी दुनिया में किस्मत आजमाने के लिये आने वाली लड़कियों को अपने जाल में फंसाती है. योगिता भावना नामक महिला द्वारा आयोग में आईएमजी वेंचर्स के प्रमोटर सनी वर्मा के विरुद्ध शिकायत दर्ज कराई गई है. योगिता का आरोप है कि मॉडलिंग और प्रॉजेक्ट दिलाने का लालच दे कर इन लड़कियों का यौन उत्पीड़न करने के बाद उनको  ब्लैकमेल भी किया जाता है.

 

ब्लैकमेल द्वारा करते थे यौन उत्पीड़न

महिला आयोग में दर्ज शिकायत में बताया गया है कि सनी वर्मा की ये कंपनी 2,950 रुपये की फीस ले कर इन लड़कियों को मॉडलिंग की दुनिया में प्रमोट करने का लालच देकर उनको अश्लील फोटो लाने को मजबूर करती है. इन लड़कियों से उनकी नग्न तसवीरें और वीडियो भी मांगे जाते हैं. इस दौरान विभिन्न सौन्दर्य प्रतियोगिताओं और मॉडलिंग कंपीटीशन्स में विजेता बनाने का लालच देकर इन लड़कियों का शारीरिक शोषण भी होता है. बाद में उनको ब्लैकमेल करके दूसरे लोगों के साथ भी यौन संबन्ध बनाने के लिये विवश किया जाता है.

ये भी पढ़ें. यौन उत्पीड़न से जुड़े मामले में महेश भट्ट सहित पांच लोगों को नोटिस