CDS Bipin Rawat Death: 1963 में हेलीकॉप्टर हादसे में देश ने खोए थे 6 बड़े सैन्य अफसर, लखनऊ में बाल-बाल बचा था शीर्ष नेतृत्व

CDS Bipin Rawat Death: यह पहली घटना नहीं है, जब देश ने हेलीकॉप्टर दुर्घटना में देश के जवानों को खोया हो. इससे पहले साल 1963 में भी देश भीषण सैन्य हादसे का गवाह बन चुका है.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 9, 2021, 06:52 AM IST
  • पुंछ में हुआ था बड़ा हेलीकॉप्टर हादसा
  • लखनऊ में 1952 में हुआ था डेवन क्रैश

ट्रेंडिंग तस्वीरें

CDS Bipin Rawat Death: 1963 में हेलीकॉप्टर हादसे में देश ने खोए थे 6 बड़े सैन्य अफसर, लखनऊ में बाल-बाल बचा था शीर्ष नेतृत्व

नई दिल्लीः CDS Bipin Rawat Death: तमिलनाडु के कुन्नूर के नजदीक बुधवार को  एमआई-17वी5 दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसमें देश के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका और 11 अन्य की मृत्यु हो गई. यह पहली घटना नहीं है, जब देश ने हेलीकॉप्टर दुर्घटना में देश के जवानों को खोया हो. इससे पहले साल 1963 में भी देश भीषण सैन्य हादसे का गवाह बन चुका है, जिसमें 6 सैन्य अधिकारियों की मौत हो गई थी. यह हादसा जम्मू-कश्मीर के पुंछ में हुआ था. 

22 नवंबर 1963 को हुआ था हादसा
पुंछ में हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना को देश के विमान इतिहास में हुए सबसे बड़े हादसे में से एक के तौर पर याद किया जाता है. 22 नवंबर, 1963 को हुए इस हादसे में लेफ्टिनेंट जनरल दौलत सिंह, लेफ्टिनेंट जनरल बिक्रम सिंह, एयर वाइस मार्शल ई डब्ल्यू पिंटो, मेजर जनरल के एन डी नानावती, ब्रिगेडियर एस आर ओबेरॉय और फ्लाइट लेफ्टिनेंट एस एस सोढ़ी की मृत्यु हो गई थी. 

लखनऊ के पास हुए डेवन क्रैश की याद हुई ताजा
कुन्नूर में हुआ हादसा 1952 में लखनऊ के पास डेवन क्रैश की भी याद दिलाता है, जिसमें भारतीय सेना का भावी शीर्ष नेतृत्व समाप्त हो सकता था. उस हादसे में सेना की पश्चिमी कमान के तत्कालीन प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल एस एम श्रीगणेश और क्वार्टरमास्टर जनरल, मेजर जनरल के एस थिमैया बाल-बाल बच गए थे. वे दोनों बाद में सेना प्रमुख बने थे. 

पूर्वी कमान के प्रमुख बने थे मेजर जनरल थोराट
उस हेलीकॉप्टर में मेजर जनरल एसपीपी थोराट, मेजर जनरल मोहिंदर सिंह चोपड़ा, मेजर जनरल सरदानन्द सिंह और ब्रिगेडियर अजायब सिंह सवार थे. मेजर जनरल थोराट को बाद में पूर्वी कमान का प्रमुख नियुक्त किया गया था. 

डेवन विमान के पायलट फ्लाइट लेफ्टिनेंट सुहास विश्वास को अशोक चक्र से सम्मानित किया गया था. 

पुंछ में 2019 में भी हादसे का शिकार हुआ था एक हेलीकॉप्टर
वर्ष 2019 में उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह और आठ अन्य सैन्यकर्मी पुंछ सेक्टर में हुई एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में घायल हो गए थे.

यह भी पढ़िएः कौन हैं ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह, जो सीडीएस रावत के हेलीकॉप्टर क्रैश में हैं अकेले सर्वाइवर

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़