प्रदूषण से दिल्ली का घुट रहा है दम

देश की राजधानी दिल्ली में प्रदूषण ने विकराल रूप धारण करके हर किसी को दहला दिया है. दिल्ली में प्रदूषण की बदतर स्थिति के चलते कोरोना का खतरा तो बढ़ ही रहा है, साथी ही दिल्ली का दम घुटने लगा है..

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Nov 8, 2020, 07:01 PM IST
  • दिल्ली में बदतर होती प्रदूषण की स्थिति
  • प्रदूषण से कोरोना वायरस बढ़ने का खतरा
  • प्रदूषण के कारण बढ़ी कोरोना से होने वाली मौतें
  • प्रदूषण के कारण कोरोना से मौतें 15 प्रतिशत बढ़ी
  • प्रदूषण से कमजोर फेफड़ों को निशाना बनाता कोरोना
प्रदूषण से दिल्ली का घुट रहा है दम

नई दिल्ली: कहते हैं जान है तो जहान है, लेकिन दिल्ली के दिल पर डबल खतरा है. ये खतरा है एक तरफ कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों का, तो दूसरी तरफ दिल्ली की हवा में घुलते प्रदूषण के 'ज़हर' का, ये दोनों खतरे आगामी त्यौहार के सीजन को देखते हुए और भी खतरनाक लग रहे हैं.

दिल्ली में सांस लेना हुआ मुश्किल

प्रदूषण ने दिल्ली वालों का जीना मुहाल किया हुआ है. दिल्ली में जहां पटाखे बैन हो चुके हैं वहीं हवा में घुला ज़हर अभी हटने का नाम नहीं ले रहा, हर जगह धुंध छाई हुई है. लोगों को सांस लेने में तकलीफ हो रही है, तो वहीं विशेषज्ञों का कहना है कि प्रदूषण के लगातार बढ़ने से दिल्ली में कोरोना भी एक बार फ़िर तेज़ी से बढ़ रहा है. ऐसे में इस हफ्ते के अंत तक आ रही दीवाली की जगमगाहट भी इस प्रदूषण के आगे फीकी होती नजर आ रही है.

प्रदूषण ने दिल्ली को बनाया गैस चैंबर

दिल्ली में हाल के दिनों के कोरोना के मामलों में भी जबरदस्त बढ़ोतरी हुई है. जानकार इस बढ़ोतरी के लिए प्रदूषण को भी जिम्मेदार बता रहा है. जर्मनी की एक रिसर्च में प्रकाशित सर्वे के मुताबिक प्रदूषण के कारण भारत समेत पूरी दुनिया में कोरोना से होने वाली मौतों का आंकडा 15 प्रतिशत तक बढा है.

जर्मनी के कार्डियोवास्कुलर रिसर्च जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक प्रदूषण के कारण कोरोना से होने वाली मौतों में यूरोप में 19 प्रतिशत, अमेरिका में 17 प्रतिशत, और पूर्वी एशिया में 27 प्रतिशत इज़ाफा हुआ है.

दिल्ली के प्रदूषण ने बढ़ाया कोरोना का खतरा

बात अगर दिल्ली की करें तो, दिल्ली में बीते एक सप्ताह से एयर क्वालिटी इंडेक्स लगातार खराब श्रेणी का बना हुआ है. रविवार को भी राजधानी में प्रदूषण का स्तर बेहद गंभीर रहा.

दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 456 दर्ज

दिल्ली और इसके आसपास के इलाकों में प्रदूषण की स्थ्ति देखिए..

दिल्ली ओवरऑल- 456
IIT दिल्ली- 436
दिल्ली विश्वविद्यालय- 463
मथुरा रोड- 455
आयानगर- 404
नोएडा- 542
गुरुग्राम- 448

दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 456 दर्ज किया गया, जो कि हवा के बेहद खराब स्तर को दर्शाता है. वहीं नोएडा में एयर क्वालिटी इंडेक्स 542 दर्ज किया गया. वहीं गुरुग्राम का एयर क्वालिटी इंडेक्स 448 आंका गया. शाम होते होते दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 413 पर आ गया. वहीं नोएडा का एयर क्वालिटी इंडेक्स 527 और गुरुग्राम का 439 हो गया.

दिल्ली का मथुरा रोड सबसे प्रदूषित इलाका

दिल्ली का मथुरा रोड सबसे प्रदूषित इलाका रहा. वहां का एयर क्वालिटी इंडेक्स 489 आंका गया. माना जा रहा है कि दिल्ली में अभी प्रदूषण और बढ़ेगा. ये प्रदूषण सिर्फ फेफड़ों को नुकसान पहुंचाता था, लेकिन अब कमजोर फेफड़ों को कोरोना वायरस आसानी से अपना घर बना रहा है.

ऐसे में कैसे मनेगी दीवाली - दिल्ली वाली?

दिल्ली के आसमान को हर साल अक्टूबर से धुंध की गहरी चादर गिरफ्त में ले लेती है. इस साल भी वहीं हुआ, तो पराली और वाहनों को जिम्मेदार बताया गया. आनन फानन में दिल्ली के मुख्यमंत्री ने सिग्नल पर गाड़ियां बंद करने की मुहीम छेड़ दी. तो वहीं अब पटाखों पर पूरी तरह बैन लगा दिया गया है. देखना होगा कि दिल्ली वालों की ये ग्रीन दिवाली प्रदूषण के राक्षस का खात्मा किस हद तक कर पाती है.

देश और दुनिया की हर एक खबर अलग नजरिए के साथ और लाइव टीवी होगा आपकी मुट्ठी में. डाउनलोड करिए ज़ी हिंदुस्तान ऐप, जो आपको हर हलचल से खबरदार रखेगा... नीचे के लिंक्स पर क्लिक करके डाउनलोड करें-

Android Link - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.zeenews.hindustan&hl=en_IN

iOS (Apple) Link - https://apps.apple.com/mm/app/zee-hindustan/id1527717234

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़