close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कमलेश तिवारी की हत्या के बाद सुरक्षा की मांग कर रहे हिंदूवादी नेता

उत्तर प्रदेश में कमलेश तिवारी की हत्या से सनसनी फैली हुई है. पुलिस ने इस वारदात में पांच को गिरफ्तार किया है और मामले की जांच में जुटी है. दूसरी तरफ कई अन्य हिंदूवादी नेता भी अपनी जान का खतरा जताकर सुरक्षा की मांग कर रहे हैं. कुछ के समर्थकों ने भी अपने नेताओं के लिए सुरक्षा की मांग की है

कमलेश तिवारी की हत्या के बाद सुरक्षा की मांग कर रहे हिंदूवादी नेता

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश में हिदूवादी नेता कमलेश तिवारी की चिता की आग अभी ठंडी नहीं हुई कि हिंदुत्व के अन्य चेहरों को भी मिटा डालने की धमकियां मिलने लगी हैं.  हिंदुवादी संगठनों केकई नेताओं ने प्रदेश सरकार से लेकर केंद्र सरकार तक से सुरक्षा  की मांग की है. इनमें साध्वी प्राची, राजीव कुमार और अमित जानी का नाम सबसे प्रमुख हैं. इन नेताओं के समर्थक भी सरकार से इन्हें सुरक्षा दिए जाने की मांग कर रहे हैं. कौन-कौन हैं इस सूची में शामिल, जानते हैं उनके बारे में

साध्वी प्राचीः सुरक्षा की मांग करने वालों में सबसे पहला नाम साध्वी प्राची का है. उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर सुरक्षा दिए जाने की मांग की है, साथ ही उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को भी पूरे मामले की जानकारी दी है.
उन्होंने पत्र में इस बात का जिक्र किया है कि वह सीमा पार से आने वाले आतंकियों के निशाने पर हो सकती हैं. साथ ही बताया है कि हरिद्वार में उनके आश्रम के आसपास कुछ संदिग्ध लोग टहलते-फिरते देखे गए हैं. आंशका है कि वह किसी भी
दहशतगर्दी को अंजाम दे सकते हैं.  साध्वी प्राची फायर ब्रांड हिंदुवादी नेता हैं और कमलेश तिवारी की हत्या के बाद उन्होंने कट्टरपंथियों व जेहादियों को निशाने पर लिया था. 

पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठः सोशल मीडिया से लेकर देश के विभिन्न हिस्सों में हिंदू संगठनों के बुलावे पर तीखे भाषणों के लिए चर्चित हैं पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ. उनका ट्वविटर हैंडल हिंदुत्व की विचाराधारा को समर्थन करते ट्वीट से भरा रहता है. हालांकि पुष्पेंद्र ने 
ने खुद तो सुरक्षा नहीं मांगी है, लेकिन ट्विटर पर उनके समर्थक सरकार से उनके लिए सुरक्षा की मांग कर रहे हैं. 

राजीव कुमारः अखिल भारतीय हिंदू महासभा के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष हैं राजीव कुमार. राजीव कुमार ने भी वरिष्ठ नेताओं को पत्र लिखकर अपनी जान का खतरा बताया है और सरकार से सुरक्षा दिए जाने की मांग की है. उनका कहना है कि पिछले
कुछ समय से वह अपने आसपास संदिग्ध गतिविधियों को महसूस कर रहे हैं. इसलिए उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई जानी चाहिए.

अमित जानी. उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के सेना के अध्यक्ष अमित जानी को भी अपने साथ अनहोनी होने की आशंका है. उन्होंने सीधे तौर पर धमकी दिए जाने की बात कही है और नोएडा के सेक्टर-20 थाने में एफआईआर भी दर्ज कराई है. उन्होंने अपनी ओर से दी शिकायत में बताया है कि रविवार को उनके घर एक महिला आई और सुरक्षा गार्ड को सीलबंद लिफाफा थमा गई, इस पत्र के अनुसार उनसे कहा गया है कि कमलेश तिवारी के बाद अब आपकी बारी है. एक समय अमित जानी बसपा सुप्रीमो मायावती की मूर्ति तोड़कर चर्चा में आए थे. 

उपदेश राणाः मौजूदा समय में हिंदुत्व का झंडा बुलंद किए उपदेश राणा ने भी खुद को धमकी दी जाने की बात कही है. उन्होंने एक अंतरराष्ट्रीय कॉल के जरिये धमकी मिलने की बात कही है. इस समय उपदेश बिगबॉस में दिखाई जा रही अश्लीलता के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं. उनके समर्थकों ने मध्यप्रदेश के माकड़ौन थाने में एफआईआर दर्ज कराई है. एक समय में उपदेश कोलकाता में मौलाना बरकती को थप्पड़ मारने के बाद चर्चा में आए थे.