सरकार के खिलाफ मोर्चा निकालने से पहले ही पप्पू यादव कर लिए गए नजरबंद

CAA को लेकर देशभर में कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन हो रहा है. अब बिहार में हर मुद्दे पर बवाल खड़ा करने वाले बागी नेता पप्पू यादव भी इसके विरोध में उतरने वाले थे लेकिन इससे पहले ही उन्हें डिटेन कर लिया गया. बताया यह गया कि जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष एनआरसी और नागरिकता संशोधन कानून सहित तमाम मुद्दों पर सरकार को घेरने के लिए छात्रों के संग मार्च करने वाले थे.   

सरकार के खिलाफ मोर्चा निकालने से पहले ही पप्पू यादव कर लिए गए नजरबंद

पटना: जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव पिछले कुछ दिनों से बिहार की सक्रिय राजनीति में अपनी बागी भूमिका के लिए छाए हुए थे. बागी भूमिका राज्य सरकार और केंद्र सरकार के खिलाफ. मुजफ्फरपुर चमकी बुखार का मामला हो या पटना में जलजमाव का, राज्य सरकार की नाकामी हो या केंद्र सरकार की नीतियों का विरोध सभी मोर्चों पर पप्पू यादव बढ़त बनाए जा रहे हैं. इस बार राज्य सरकार ने उन्हें नागरिकता संशोधन कानून के विरोध प्रदर्शन के मामले में बढ़त बनाने का कोई मौका नहीं दिया और पहले ही डिटेन करा लिया गया. 

मजिस्ट्रेट के आदेश पर उन्हीं के आवास पर किए गए नजरबंद

पटना में अपने आवास पर विरोध प्रदर्शन की तैयारियों में जुटे पप्पू यादव को सोमवार की शाम ही मजिस्ट्रेट के आदेश के बाद डिटेन कर लिया गया. हालांकि पुलिस ने उन्हें उनके आवास में ही नजरबंद रखा है. लेकिन किसी भी तरह के विरोध प्रदर्शन के लिए उन्हें जाने की अनुमति नहीं मिलेगी.

दरअसल, एनआरसी मामले में लगाई गई एडवाइजरी ने पटना विश्वविद्यालय के छात्रों के साथ मिलकर विरोध प्रदर्शन करने की योजना की जानकारी मिलते ही पप्पू यादव को नजरबंद कर लेने का नोटिस जारी कर दिया. 

डिटेन किए जाने के बाद क्या कहा पप्पू यादव ने

इसके बाद पप्पू यादव मीडिया तक अपनी इतनी ही खबर भिजवा सके कि यह लोकतंत्र के आवाज को दबाने की कोशिश है. जो किसी भी लिहाज से स्वस्थ नहीं. हम चुप नहीं बैठेंगे. संविधान की रक्षा के लिए, बेटियों की रक्षा के लिए और न्याय के लिए मजबूती से लड़ाई लड़ी जाएगी. पप्पू यादव को नजरबंद किए जाने के बाद जब सिटी मजिस्ट्रेट से पूछा गया तो वे इसपर कुछ भी बोलने से बचते दिखे. 

बीएन कॉलेज की छात्रा के साथ दुष्कर्म को लेकर किया जाना था विरोध मार्च

मालूम हो कि पटना विश्वविद्यालय के बीएन कॉलेज की छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में छात्रों को विरोध प्रदर्शन लगातार चल रहा है. राजधानी पटना में हर तरफ विरोध की आवाजें उठती जा रही हैं. आरोपियों को जल्द से जल्द सजा देने की मांग की जा रही है.

इसी बीच नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में भी पटना में प्रदर्शन किए गए. पुलिस की जीप तक जला दी गई. जाप अध्यक्ष इन सभी मसलों को एक साथ समेट कर बड़े स्तर पर विरोध मार्च करने निकलने वाले थे. 

पिछले कुछ दिनों से दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया में नागिरकता संशोधन कानून के विरोध में बिगड़ते हालातों पर भी बिहार के कई हिस्सों में हिंसा हुई. पटना विश्वविद्यालय में जाप की छात्र ईकाई ने इन सभी मसलों को टारगेट कर वृहद पैमाने पर विरोध मार्च करने का फैसला किया था. अब उनके नेता गिरफ्तार कर लिए गए हैं.