तेजस्वी पर नहीं है भरोसा, अगले विधानसभा चुनाव तक लालू ही रहेंगे राजद अध्यक्ष

लालू प्रसाद यादव को 11वीं बार राजद का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया है. मंगलवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए हुए नॉमिनेशन और स्क्रूटनी के बाद लालू प्रसाद को राष्ट्रीय अध्यक्ष निर्वाचित किया गया. इससे पहले उनके बेटे तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव ने लालू यादव का नॉमिनेशन खुद फाइल किया था.

तेजस्वी पर नहीं है भरोसा, अगले विधानसभा चुनाव तक लालू ही रहेंगे राजद अध्यक्ष

पटना: लालू प्रसाद का नामांकन चार सेटों में दाखिल किया गया था. मंगलवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने का समय साढे़ 11 बजे से 2 बजे तक तय किया गया था.

2 बजे तक एकलौते उम्मीदवार के रुप में लालू प्रसाद की ओर से नामांकन किया गया. नामांकन की जांच और नाम वापसी का समय तीन बजे से साढे़ 4 बजे तक था.

नामांकन वापस नहीं होने की वजह से लालू प्रसाद यादव अध्यक्ष निर्वाचित किये गये.

आखिर पार्टी अध्यक्ष नहीं बन पाए तेजस्वी 

इससे पहले अटकलें लगाई जा रहीं थीं कि इस बार तेजस्वी यादव को RJD का अध्यक्ष बनाया जा सकता है, लेकिन पार्टी में आम सहमति न बन पाने के कारण लालू यादव को फिर से अध्यक्ष बनाने का फैसला किया गया.

बिहार में महागठबंधन के कई नेता तेजस्वी यादव के नेतृत्व पर सवाल खड़े करते रहे हैं. हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के अध्यक्ष और बिहार महागठबंधन के अहम सहयोगी जीतनराम मांझी ने तेजस्वी यादव को अनुभवहीन करार दिया था.

उन्होंने लोकसभा चुनाव में महागठबंधन की हार के लिये तेजस्वी को ही जिम्मेदार बताया था.

यह भी पढ़ें. तो इसलिए राजद को उत्तराधिकारी चुनने के लिए उकसा रहे हैं रामविलास पासवान

कांग्रेस लगातार बना रही थी अध्यक्ष चुने जाने को लेकर दबाव

लम्बे समय से कांग्रेस भी तेजस्वी को अध्यक्ष न बनाने का दबाव बना रही थी. वरिष्ठ कांग्रेस नेता सदानंद सिंह बिहार में कांग्रेस को राजद का साथ छोड़ने की नसीहत दे चुके हैं.

उन्होंने कहा था कि बिहार में तेजस्वी यादव की अनुभवहीन राजनीति के चलते कांग्रेस को नुकसान उठाना पड़ता है. बता दें कि बिहार में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और इस समय राजद अपने सहयोगियों को नाराज़ नहीं करना चाहता है.

गौरतलब है कि पार्टी के अध्यक्ष का कार्यकाल तीन सालों का होता है, लेकिन अगले वर्ष होनेवाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पार्टी ने एक साल पहले ही राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव करा लिया है। ताकि पार्टी मजबूती के साथ लालू प्रसाद के नेतृत्व में चुनाव लड सके. 

BJP ने RJD पर साधा निशाना 

बीजेपी प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने लालू यादव को 11वीं बार राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाये जाने पर निशाना साधते हुए कहा कि RJD जेल और बेल वाली पार्टी है.

अब जेलवाला जेल से पार्टी चलाएगा और बेल वाला CM बनने के सपने देखेगा. तेजस्वी यादव नेता प्रतिपक्ष की भूमिका तो निभा नही पाए अब CM बनने का सपना देख रहे हैं.

ऐसा न हो कि CM बनने का सपना देखते देखते तेजस्वी नेता प्रतिपक्ष भी बनने लायक न रहे.

यह भी पढ़ें. तेजस्वी ने एक बार फिर दिखाई भाजपा से अपनी नजदीकी