• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 2,64,944 और अबतक कुल केस- 7,42,417: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 4,56,831 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 20,642 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 61.13% से बेहतर होकर 61.53% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 16,883 मरीज ठीक हुए
  • डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में प्रति दस लाख आबादी पर सबसे कम मामले हैं
  • स्वस्थ होने वालों की संख्या करीब 4.4 लाख, संक्रमितों और ठीक होने वालों की संख्या का अंतर 1.8 लाख से अधिक
  • आईसीएमआर: पिछले 24 घंटे में 2.41+ लाख नमूनों की जांच की गई, कुल परीक्षणों की संख्या 1.02 करोड़ के पार
  • फिल्म निर्माण शुरू करने को लेकर सरकार जल्द ही एसओपी की घोषणा करेगी, ताकि फिल्म निर्माण में फिर से तेजी लाई जा सके
  • सीबीएसई ने छात्रों को दी बड़ी राहत, कक्षा 9वीं से 12वीं का सिलेबस घटाया गया
  • एमएचआरडी: यूजीसी और स्वयं के द्वारा "इंटरनेशनल बिजनेस" में मुफ्त ऑनलाइन कोर्स उपलब्ध है
  • विश्व बैंक ने गंगा के कायाकल्प हेतु ‘नमामि गंगे कार्यक्रम’ में आवश्यक सहयोग बढ़ाने के लिए 400 मिलियन डॉलर प्रदान किए

पाकिस्तान ने किया सीजफायर उल्लंघन, आम नागरिकों को बनाया निशाना

पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. आए दिन वो सीमा पर गोली बारी करके सीजफायर का उल्लंघन करता है.

 पाकिस्तान ने किया सीजफायर उल्लंघन, आम नागरिकों को बनाया निशाना

श्रीनगर: पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. आए दिन वो सीमा पर गोली बारी करके सीजफायर का उल्लंघन करता है. पाकिस्तानी रेंजरों ने तीन दिन बाद फिर सीजफायर का उलंघन करते हुए हीरानगर सेक्टर के चक चंगा और छन्नटांडा गांवों को निशाना बनाकर गोलाबारी की. सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने भी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है.

आम नागरिकों और गांवों को बनाया निशाना

पाकिस्तानी रेंजरों ने आम नागरिकों और गांवों को निशाना बनाया. गोलाबारी की आशंका से लोग पहले ही बंकरों के अंदर चले गए थे, जिस कारण वह सुरक्षित रहे. गोलाबारी बंद होने के बाद सुबह चौकी प्रभारी चकड़ा नरेंद्र सिंह के नेतृत्व में पुलिस कर्मियों और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) के जवानों ने गांव में तलाशी अभियान चलाया. इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान की ओर से चलाए गए मोर्टार के खोखे इकट्ठे किए और फसलों के नुकसान का जायजा लिया.

नियंत्रण रेखा पर आए दिन गोलीबारी

पाकिस्तान की ओर से ही आए दिन नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी की जाती है इसमें सीमा पर रहने वाले निर्दोष नागरिकों की मौत हो रही है. भारत इसके कई सबूत भी दे चुका है उसके बाद भी पाकिस्तान इस पर अंकुश नहीं लगा रहा है. अदरूनी कलह और आर्थिक मंदी से पाकिस्तान पहले ही छटपटा रहा है.

सेना प्रमुख और चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ दे चुके हैं चेतावनी

सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे चीन, पाकिस्तान और कश्मीर में 'छद्म युद्ध' से जूझ रहे सेना के जवानों को चौबीसों घंटे चौकस रहने को कहा था. हाल ही में उन्होंने कहा था कि यदि संसद चाहे तो पाक अधिकृत कश्मीर भी भारत का हिस्सा होगा. उन्होंने कहा कि सेना ने उभरते खतरों से निपटने के लिए सैद्धांतिक अनुकूलन और क्षमता वृद्धि की दिशा में कई कदम उठाए हैं.

ये भी पढ़ें- भाजपा अध्यक्ष के रूप में जेपी नड्डा की ताजपोशी आज