कश्मीर और राजस्थान में टूट गया रिकॉर्ड, ठंड से जम गई झील

श्रीनगर में रविवार को न्यूनतम तापमान शून्य से 6 दशमलव 2 डिग्री सेल्सियस नीचे था. श्रीनगर में पिछले 30 सालों में ऐसी सर्दी नहीं पड़ी. यहां का मशहूर डल झील जम गया. झील या पानी का जमना आमतौर पर ठंडे प्रदेशों में होता है. लेकिन अब तो मैदानी इलाकों में भी पानी जमने लगा है, राजस्थान के माउंट आबू में पारा माइनस तीन डिग्री पहुंच गया है.

कश्मीर और राजस्थान में टूट गया रिकॉर्ड, ठंड से जम गई झील

नई दिल्ली: देश के कई हिस्सों में सर्दी के मौसम से लोगों को ठिठुरना पड़ रहा है. राजस्थान के माउंट आबू और श्रीनगर में कोई खास फर्क नहीं रह गया है. दोनों ही जगहों पर मौसम माइनस में है. दिसंबर खत्म होने वाला है और जनवरी का इंतजार है. ऐसे में इन दोनों जगहों पर लोगों को बर्फीले ठंड वाले मौसम का आतंक आगे भी झेलना पड़ सकता है.

श्रीनगर में टूटा 30 साल का रिकॉर्ड

श्रीनगर में सर्दी ने पिछले 30 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. श्रीनगर में पारा शून्य से 6 डिग्री नीचे चला गया है. जमा देने वाली बर्फीली हवाओं ने श्रीनगर की मशहूर डल झील को भी जमा दिया है. डल झील की तस्वीरों को देखकर हर कोई कांप उठेगा. जमी हुई झील के बीच में शिकारे फंसे हुए थे. ऐसा लग रहा था जैसे बर्फ की ज़मीन पर नाव रख दिए गए हैं.

जम गई डल झील

झील पर बर्फ की इतनी मोटी परत जमी हुई है कि लोग लाठी से बर्फ को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन बर्फ है कि टूटने का नाम नहीं ले रही है. डल झील के कुछ हिस्से में शिकारे चल रहे हैं लेकिन इसके लिए शिकारे वालों को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है. शिकार वाले भी मौसम की मार से परेशान हो गए हैं.

माइनस 6 दशमलव 2 डिग्री तापमान के बीच भी पर्यटक श्रीनगर के मौसम का आनंद लेने के पहुंच रहे हैं, लेकिन यहां का मौसम देखकर सैलानी भी कांप गए हैं. इस सीज़न में डल झील अक्सर जमजाती है. लेकिन श्रीनगर से 1462 किलोमीटर दूरी पर भी ठंड का यही आलम है.

जम गया राजस्थान के माउंट आबू का तालाब 

राजस्थान के माउंट आबू का भी हाल कुछ-कुछ श्रीनगर जैसा ही है. राजस्थान का एक मात्र हिल स्टेशन माउंट आबू, इन दिनों श्रीनगर जैसा हो गया है. माइनस 3 डिग्री वाले मौसम में सबकुछ जम जा रहा है. पाइप से निकलने वाले पानी भी जमीन पर पड़ते ही पानी जम जा रहा है. पानी गिरने के बाद जमी बर्फ को लोग हाथ में उठाते दिखे. यहां पाइप में पानी जम गया, जिसके बाद लोगों को पाइप को हिलाकर पानी निकालना पड़ा.

इसे भी पढ़ें: कुदरत का कोल्ड WAR! ठंड से जम गया द्रास

माउंट आबू में एक तालाब के पानी के ऊपर बर्फ की एक परत जम गई है. लोग तालाब और पानी के गड्ढों से बर्फ के टुकड़े निकालते दिखाई दिए. इसके अलावा यहां एक शीशे के टेबल पर भी बर्फ की परत जम गई. जिले में माइनस वाले मौसम का ऐसा आतंक है कि पेड़ पत्तियां तक जम जा रहा है. माउंट आबू में लोगों के लिए अलाव ही एकमात्र सहारा है. बच्चे हों या जवान सभी अपने कान और मुंह को ढक कर सर्दी से बचने का जतन कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: भीषण ठंड से ठिठुर रहा उत्तर भारत, लेह में जमी सिंधु नदी