Uttar Pradesh में कुछ बड़े सियासी बदलाव के संकेत देते हैं ये सारी बैठकें

उत्तर प्रदेश की सियासत में इन दिनों जबरदस्त हलचल देखने को मिल रही है. इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दिल्ली पहुंचकर अमित शाह, पीएम मोदी और जेपी नड्डा से मुलाकात कर रहे हैं. क्या बीते कुछ दिनों की हलचल बड़े बदलाव के संकेत हैं?

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jun 10, 2021, 09:46 PM IST
  • उत्तर प्रदेश की सियासत में सबसे बड़ी हलचल
  • योगी ने गृह मंत्री अमित शाह से की मुलाकात
Uttar Pradesh में कुछ बड़े सियासी बदलाव के संकेत देते हैं ये सारी बैठकें

नई दिल्ली: वो कहते हैं ना कि दिल्ली का रास्ता यूपी से होकर जाता है, लेकिन इस बार क्या दिल्ली से यूपी जीत का रास्ता निकलेगा? दरअसल, सबसे ज्यादा लोकसभा सीटों और विधानसभा सीटों वाले उत्तर प्रदेश में जीत हासिल करना, किसी भी पार्टी के लिए, सबसे बड़ा दांव होता है. फिलहाल सबसे बड़ी पार्टी भाजपा के लिए भी यूपी का अगला विधानसभा चुनाव बहुत कुछ तय करने वाला है. जबकि चुनावी तैयारियों से पहले पार्टी संगठन और यूपी कैबिनेट को लेकर, कई तरह के विवाद की अटकलें भी तेज रहीं हैं.

पहले शाह से मुलाकात, फिर मोदी-नड्डा से होगी बात

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अमित शाह के आवास पर बैठक की है. योगी कल पीएम मोदी से मुलाकात करेंगे. साथ ही वो बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी कल ही मिलेंगे. बैठकों का दौर बहुत कुछ कहता है.

योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के ठीक बाद, गृह मंत्री अमित शाह से मिलने अपना दल नेता अनुप्रिया पटेल भी पहुंची. बता दें, अपना दल यूपी में बीजेपी की सहयोगी पार्टी है.

पिछले कई दिनों से उत्तर प्रदेश की सियासत में जबरदस्त हलचल देखी जा रही है. इसीलिए ऐसा लग रहा है कि ये सारे बैठक Uttar Pradesh में कुछ बड़े सियासी बदलाव के संकेत देते हैं.

यूपी में पिछले 15 दिनों में बैठकों का दौर

21-23 मई
दिल्ली में सुनील बंसल की बीजेपी और संघ के बड़े नेताओं के साथ कई दौर की बैठक हुई.

25 मई
संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले लखनऊ पहुंचे.

27 मई
योगी आदित्यनाथ लखनऊ में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मिलने पहुंचे.

28 से 31 मई तक योगी का लखनऊ के बाहर कोई कार्यक्रम नहीं लगा.

31 मई
बीजेपी के संगठन महामंत्री बीएल संतोष सुबह लखनऊ पहुंचे. बीएल संतोष ने यूपी सरकार के मंत्रियों के साथ मुलाकात की. बीएल संतोष ने बीजेपी पदाधिकारियों के साथ लखनऊ में बैठक की.

सीएम योगी आदित्यनाथ के आवास पर 3 घंटे मीटिंग की, यह यूपी कोर ग्रुप की बैठक थी जिसमें बीएल संतोष भी मौजूद थे.

1 जून
यूपी सरकार के दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा से मुलाकात की, केशव मौर्य ने कहा कि अध्यक्ष जी के नेतृत्व में 300 पार जीतेंगे. यूपी सरकार के अन्य मंत्रियों से भी मुलाक़ात की.

बीएल संतोष ने पहले दिन कुल 12 मंत्रियों से मुलाकात की, 2 दिन में कुल 22 मंत्रियों से मिले.

सुबह 10 बजे पीएम मोदी के करीबी सुनील ओझा ने योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की. दोपहर 2 बजे यूपी बीजेपी प्रभारी राधामोहन सिंह ने यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की.

बीएल संतोष बीजेपी दफ्तर से शाम 4 बजे निकले, कहां गए ये किसी को पता नहीं. बीएल संतोष ने यूपी में संघ के दोनों क्षेत्र प्रचारकों से लखनऊ में मुलाकात की. शाम 6:15 बजे बीएल संतोष यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के घर पहुंचे, ये बैठक 2 घंटे चली. सिर्फ योगी और बीएल संतोष के बीच में बातचीत हुई.

2 जून
सुबह 9 बजे लखनऊ के विधायक और सांसदों के साथ बैठक की, कुछ मंत्रियों के साथ भी बैठक की. सुबह 10:30 बजे पार्टी प्रवक्ताओं के साथ बैठक की.

दोपहर 1:40 बजे बीएल संतोष लखनऊ से दिल्ली रवाना हुए. बीएल संतोष ने दिल्ली में देर रात जेपी नड्डा और अमित शाह से मुलाकात की.

3 जून
योगी आदित्यनाथ का गोरखपुर दौरा रद्द हो गया. कानून मंत्री बृजेश पाठक दिल्ली पहुंचे, राजनाथ सिंह और जेपी नड्डा से मिले.

4 जून
यूपी बीजेपी के संगठन महामंत्री सुनील बंसल दिल्ली पहुंचे. दिल्ली में बीजेपी और संघ की बैठक हुई.

5 जून
सुबह 11 बजे संघ और संगठन की बैठक दिल्ली में हुई. दिल्ली में कई बड़ी मीटिंग्स हुई. फिर से योगी आदित्यनाथ का गोरखपुर दौरा रद्द हुआ.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली में बीएल संतोष और जेपी नड्डा के साथ बैठक की, पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव और तैयारियों को लेकर बैठक बताई जा रही थी. इसी दिन यूपी बीजेपी प्रभारी राधामोहन सिंह लखनऊ पहुंचे.

6 जून
सुबह 11 बजे राधामोहन सिंह राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मिलते हैं.

7 जून
दत्तात्रेय होसबले लखनऊ पहुंचे.

9 जून
यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के घर पर शाम 7 बजे सुनील बंसल और स्वतंत्र देव सिंह की मुलाकात हुई.

10 जून
योगी आदित्यनाथ दिल्ली पहुंचे और अमित शाह के आवास पर बैठक की.

क्या योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के मिशन (Mission) पर अमित शाह (Amit Shah) की अंतिम मुहर लग गई है? ये सवाल इसलिए क्योंकि शाह और योगी के बीच चल रही बैठक खत्म हो चुकी है. मुख्यमंत्री योगी इस बैठक के बाद सीधे यूपी सदन पहुंचे हैं. आज और किसी से मिलने का कोई कार्यक्रम नहीं है. अब योगी सीएम योगी कल पीएम मोदी और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करेंगे.

इसे भी पढे़ं- Delhi में योगी: क्या दिल्ली में बन रहा है यूपी विजय का प्लान?

ऐसे वक्त में सीएम योगी की दिल्ली में हाई लेवल बैठकों का दौर आखिर क्या कहता है? सीएम योगी अचानक दिल्ली क्यों आए हैं? क्या पार्टी और सरकार में बड़े बदलाव होने हैं? 300 प्लस का टारगेट पूरा करने के प्लान में आखिर क्या रणनीति बन रही है? अगर यूपी में सब कुछ ठीक है तो दिल्ली क्यों आए सीएम योगी आदित्यनाथ? क्या यूपी में कुछ बड़ा होने वाला है?

इसे भी पढे़ं- लड़कियों को मोबाइल ना दें, लड़कों से बात करते करते भाग जाती हैं: UP महिला आयोग मेंबर

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़