हिंसा की टेंशन देने वालों पर अब एक्शन! दंगाइयों से निपटने का 'योगी मॉडल'

अगर नागरिकता कानून पर प्रदर्शन के नाम पर हिंसा फैलाने वाले ये सोच रहे थे कि बात कुछ दिनों बाद ठंडी हो जाएगी और वो निजी और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के बाद भी बच कर निकल जाएंगे तो वो समझ लें कि ऐसा नहीं होगा. दंगाइयों ने जो नुकसान किया उसकी पाई पाई उनसे वसूली जाएगी. यूपी की योगी सरकार ने ये काम शुरू भी कर दिया है.

हिंसा की टेंशन देने वालों पर अब एक्शन! दंगाइयों से निपटने का 'योगी मॉडल'

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में नागरिकता कानून की आड़ में हिंसा फैलाने वालों की अब खैर नहीं है. क्योंकि योगी सरकार प्रदर्शन के नाम पर दंगा और हिंसा करने वालों पर बहुत सख्ती करने जा रही है. सरकारी संपत्ति का नुकसान करने वालों की पहचान करके अब उनसे ही वसूली की जाएगी.

दंगाइयों से निपटने का योगी मॉडल

नागरिकता कानून पर सिर्फ अफवाहों पर घर से बाहर निकलकर हिंसा करने वाले, सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान करने वाले, निजी संपत्ति को आग लगाने वाले, पुलिस चौकी फूंकने वाले, मोटरसाइकल जलाने वाले, पुलिस की गाड़ियां जलाने वालों पर एक्शन शुरू हो गया है.

दंगाइयों पर योगी का 'एक्शन' 

  • नागरिकता पर हिंसा के बाद योगी सरकार दंगाइयों पर सख्त
  • आरोपियों के घरों पर पुलिस रिकवरी नोटिस भेज रही है
  • पुलिस ने करीब 100 लोगों को रिकवरी नोटिस भेजा 
  • आरोपियों को पकड़ने के लिये पुलिस की छापेमारी
  • लखनऊ में जिला प्रशासन ने 82 लोगों को नोटिस भेजा
  • रामपुर प्रशासन ने 28 उपद्रवियों को वसूली का नोटिस भेजा
  • गाज़ियाबाद में हिंसा में शामिल 80 लोगों को पुलिस का नोटिस
  • मुजफ्फरनगर में पुलिस ने दंगाइयों की दुकानें सील की
  • हिंसा फैलाने के आरोप में 5400 लोगों को हिरासत में लिया गया
  • हिंसा फैलाने के आरोप में 705 लोगों को जेल भेजा गया

दंगे का पंगा अब पड़ेगा महंगा

CAA के नाम पर दंगा भड़काने वालों को अब महंगी कीमत चुकानी पड़ेगी. जिन लोगों के घरों और दुकानों पर नोटिस चस्पा किया गया है. उनमें से कुछ घर से गायब भी हो गए हैं. लेकिन जिन्होंने हिंसा की है. वो ये समझ लें कि नुकसान की पाई पाई उनसे वसूली जाएगी.

शहर में आग लगाओगे तो अपना घर गंवाओगे

हिंसा के फौरन बाद योगी सरकार ने एक टीम बनाई जो दंगाइयों की संपत्ति जब्त करने की कार्रवाई पर काम शुरू कर चुकी है. जहां हिंसा हुई थी वहां ऐसे लोगों को चिन्हित किया है, 13 FIR हैं, 148 नामज़द. उनके ख़िलाफ़ चालीस लाख सरकारी संपत्ति के नुकसान को वसूलने के लिए नोटिस जारी कर दिए गए हैं.

पुलिस की संपत्ति जलाई अब करो भरपाई

किस नुकसान की कितनी भरपाई?

  • पुलिस की जीप- 7.5 लाख रूपये
  • हीरो डीलक्स बाइक- 55,000 रूपये
  • होंडा शाइन बाइक- 65,000 रूपये
  • टीवीएस स्पोर्ट्स मोटर साइकिल- 55,000 रूपये
  • पुलिस की मोटर साइकिल- 90,000 रूपये
  • अपाचे मोटर साइकिल- 90,000 रूपये
  • वायरलेस सेट, हूटर, 10 डंडे, 3 हेलमेट, 3 बॉडी प्रोटेक्टर- 31,500 रूपये
  • बैरिकेडिंग और पुलिस बैरियर- 3.5 लाख रूपये

इसे भी पढ़ें: नागरिकता कानूनः उत्तर प्रदेश में प्रदर्शनों में शामिल 300 लोगों कोे नोटिस

शांतिपूर्ण प्रदर्शन का हक सभी को है, आवाज़ उठाने की इजाजत सभी को है. लेकिन जो हिंसा फैलाएगा, दंगा करेगा, निजी और सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान करेगा उसे तो चुकाना ही पड़ेगा. ऐसे दंगाइयों की संपत्ति जब्त करके ही नुकसान की भरपाई की जाए. और यही सभी राज्य सरकारों को तुरंत करना चाहिए.

इसे भी पढ़ें: 'अपना नाम रंगा बिल्ला बताइए और पता 7 रेस कोर्स रोड बताइए'