• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 2,76,685 और अबतक कुल केस- 7,93,802: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 4,95,513 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 21,604 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 62.08% से बेहतर होकर 62.42% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 19,135 मरीज ठीक हुए
  • पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 19,135 मरीज ठीक हो चुके हैं, ठीक हुए लोगों और सक्रिय मामलों के बीच का अंतर 2 लाख से अधिक है
  • भारत में प्रति मिलियन आबादी पर कोविड-19 के सबसे कम 538 मामले हैं जबकि वैश्विक औसत 1497 हैं
  • MoHFW ने कोविड-19 के हल्के मामलों में HCQ का उपयोग करने की सिफारिश की और गंभीर रोगियों को इसके सेवन से बचने की सलाह दी
  • एएसआई के स्मारकों में फ़िल्म शूटिंग करने के लिए 15 दिन के अंदर मिलेगी इजाजत
  • 750 मेगावाट की रीवा सौर परियोजना से हर साल करीब 15 लाख टन CO2 बराबर कार्बन उत्सर्जन में कमी आएगी, PM राष्ट्र को करेंगे समर्पित
  • मंत्रालय एक राष्ट्र-एक राशन कार्ड योजना को जनवरी 2021 तक शेष सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में लागू करने के लिए प्रयासरत है
  • MHRD: विज्ञान, तकनीक और कानून आदि जैसे विषयों पर प्राथमिक से PG तक की गुणवत्ता वाली सामग्री विभिन्न प्रारूपों में उपलब्ध है

जानिए 59 चीनी ऐप बैन होने के बाद TikTok सबसे ज्यादा चर्चा में क्यों?

सोमवार को भारत सरकार ने एक अहम फैसला करते हुए 59 चाइनीज ऐप को भारत में बैन कर दिया. इन बैन किए गए ऐप में TikTok भी शामिल है जिसकी चारों तरफ सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है. बता दें कि सरकार ने यह फैसला भारत और चीन सीमा पर चल रहे तनाव के बाद किया है. लद्दाख के गलवान में हुए सैनिक झड़प के बाद से ही लगातार सोशल मीडिया पर चीनी ऐप और प्रोडक्टस को बहिष्कार करने की मुहिम चल रही थी जिसके हक में सरकार ने फैसला किया.  

जानिए 59 चीनी ऐप बैन होने के बाद TikTok सबसे ज्यादा चर्चा में क्यों?

नई दिल्ली: TikTok एक चाइनीज ऐप है जो आज पूरी दुनिया में मशहुर है और करीब 40 करोड़ लोग इसका इस्तेमाल करते हैं. और इसके 50 प्रतिशत यूजर्स तो सिर्फ भारत में ही है. लेकिन पिछले कुछ दिनों से भारत और चीन सीमा को लेकर चल रहे विवाद के बीच सोशल मीडिया पर लगातार चीनी ऐप और प्रोडक्टस को इस्तेमाल न करने की मुहिम चलाई जा रही है. इसी बीच भारत सरकार ने एक बड़ा फैसला करते हुए TikTok समेत 58 अन्य चीनी ऐप को भारत में बैन कर दिया है.

बैन किए गए ऐप में TikTok सुर्खियों में
TikTok का भारत में एक बड़ा बाजार है. भारत में 59 चीन के एप्स को बैन करने के बाद सबसे ज्यादा चर्चा टिकटॉक की हो रही है. क्योंकि भारत के गांव से लेकर शहरों में टिकटॉक का जमकर इस्तेमाल किया जाता है और टिकटॉक से कई लोग फेमस भी हो चुके हैं जिन्हें टिकटॉक स्टार कहा जाता है. टिकटॉक की पैरेंट कंपनी ByteDance है. इस कंपनी के कई एप्स भारत में एक्टिव हैं.

भारत की सेना की बहादुर याद: फील्ड मार्शल मानेकशॉ.

16-24 वर्ष के कुल 41 फीसदी यूजर्स
टिकटॉक की पॉपुलरिटी इतनी ज्यादा है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसे 39 भाषाओं में उपलब्ध करवाया गया है. टिकटॉक करीब 150 बाजारों में उपयोग किया जाता है. और इसको इस्तेमाल करने वाले यूजर्स में करीब 41 फीसदी लोग 16-24 वर्ष के है. यानी की युवा वर्ग इस ऐप पर अपना ज्यादा समय दे रहे हैं.

कमाई के मामले में भी काफी आगे है टिकटॉक
टिकटॉक की पैरेंट कंपनी ByteDance है जिसने वित्त वर्ष के जुलाई-सितंबर तिमाही में 100 करोड़ के राजस्व का टारगेट रखा था. बता दें कि चीनी वीडियो ऐप ने 2019 के अंतिम तिमाही अक्टूबर से दिसंबर में 23-25 ​​करोड़ का रिवेन्यू कमाया था. ByteDance लिमिटेड ने पिछले वर्ष कुल 17 अरब डॉलर से अधिक का रिवेन्यू कमाया था जबकि 2018 में इस कंपनी का कुल साढे सात अरब डॉलर का रिवेन्यू कमाया था यानि 2018 की तुलना में 2019 में तकरीबन ढाई गुना ज्यादा का मुनाफा कंपनी को हुआ. ByteDance के मुनाफा कमाने में टिकटॉक ने मुख्य भूमिका निभाई.