• भारत में कोरोना के अब तक 918 मामले सामने आए, अब तक 19 लोगों की मौत हो चुकी है, 79 लोगों का सफल इलाज हुआ
  • कोरोना के सबसे ज्यादा मामले केरल और महाराष्ट्र में सामने आ रहे हैं, केरल में 167 और महाराष्ट्र में 186 लोग कोरोना प्रभावित
  • पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के 6,61,367 मामले सामने आ चुके हैं
  • कोरोना वायरस के कारण विश्व में अब तक 30,671 लोगों की मौत हो चुकी है, जबिक 1,41,464 लोग बचाए जा चुके हैं
  • कर्नाटक में कोरोना से प्रभावित लोगों की संख्या 76 पहुंच गई है. पिछले 22 घंटे में 12 नए मामले सामने आए हैं
  • उत्तर प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल 61 मामले, शनिवार को 11 मामले सामने आए जिसमें सबसे ज्यादा 9 मामले नोएडा में दिखे
  • महाराष्ट्र में कोराना वायरस के 9 नए मामले, मुंबई में 8 और नागपुर में 1 नया मरीज, कुल मामले 167 हुए
  • कोरोना वायरस से अबतक महाराष्ट्र में 5, गुजरात में 3, कर्नाटक में 2, मध्य प्रदेश में 2 लोगों की मौत हो चुकी है
  • तमिलनाडु, बिहार, पंजाब, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, कश्मीर और हिमाचल में एक-एक मौतें हो चुकी हैं.

कोरोना के लिए बांग्ला टीम के खिलाड़ियों ने दिए करोड़ों, भारत वालों ने नहीं

बहुत बड़ा दिल है इन बांग्लादेशी खिलाड़ियों का जिन्होंने एक बड़े इंसानी मकसद के लिये अपनी दौलत की परवाह नहीं की और इतनी बड़ी रकम लुटा दी  कोरोनावायरस से लड़ने के लिए. वहीं भारत के क्रिकेट सितारे तो अरबपति हैं लेकिन उनकी जेब से एक रुपया भी नहीं निकला..

कोरोना के लिए बांग्ला टीम के खिलाड़ियों ने दिए करोड़ों, भारत वालों ने नहीं

नई दिल्ली: हैरानी की बात ये नहीं है कि भारतीय अरबपति क्रिकेट खिलाड़ियों ने एक भी पैसा कोरोना से युद्ध के लिये देना पसंद नहीं किया. क्योंकि ये कोई नई बात नहीं है. ये तो पता ही था सबको, जो हैरानी की बात है वो ये है कि बांग्लादेश जैसे गरीब देश के क्रिकेट खिलाड़ियों ने करोड़ों रुपये देने में कोई गुरेज नहीं किया. अब जिस तरह से कोरोना वायरस के हमले को याद किया जाएगा उसी तरह से इन दिलदार खिलाड़ियों को भी कभी भुलाया नहीं जाएगा जो एक इंसानी मकसद के लिये आगे आये और इतनी बड़ी रकम दे कर अपना फर्ज अदा किया.

27 क्रिकेटरों ने दान की रकम

सारी दुनिया कोरोना के जहर से जूझ रही है. ऐसे में बांग्लादेश के ये सत्ताईस क्रिकेट खिलाड़ी हैं जो अब तक क्रिकेटर्स के रूप में जाने जाते थे लेकिन अब क्रिकेट स्टार्स के रूप में जाने जाएंगे. क्योंकि जो बड़ा काम इन्होने किया है वो दुनिया के लाखों लोगों के लिये एक प्रेरणा बनेगा. वैसे भारत में ये चर्चा ज़ोरों पर है कि देश के दिग्गज क्रिकेट सुपरस्टार क्योंकि जुबान बंद करके और जेबें सिल करके बैठे हुए हैं, अरबपति हो कर भी वे कोरोना के लिये आर्थिक मदद की घोषणा क्यों नहीं कर रहे हैं?

आधे माह का वेतन दिया

दुनिया में हर देश में लोग कोरोना से लड़ाई के लिये अपनी अपनी सरकारों की जितनी भी मदद हो सकती है कर रहे हैं. सब अपने अपने ढंग से अपनी अपनीक्षमता के अनुसार मदद कर रहे हैं. बांग्लादेश में क्रिकेट खिलाड़ियों ने अपनी आधे महीने की तनख्वाह इस मकसद से दान कर दी है. लेकिन इधर भारत में लोग पूछ रहे हैं भारतीय अरबपति क्रिकेटर कब खोलेंगे खजाना?

संदेशों का दान कर रहे हैं

भारतीय क्रिकेट सितारे कुछ नहीं कर रहे, ऐसा नहीं है. वे जो कर सकते हैं वही कर रहे हैं. अरबपति हो कर भी वे अपनी दौलत निकाल नहीं सकते इसलिए संदेशों खेती कर रहे हैं अर्थात मेसेज का दान कर रहे हैं. हैरानी की बात ये भी नहीं होगी कि बांग्लादेश के खिलाड़ियों के इतने बड़े मानवीय दान  की खबर सुनकर भी हिन्दुस्तानी क्रिकेटरों के कानों पर जूं न रेंगे और वे अपनी महाकंजूसी का बेशर्म मुजाहिरा करते रहें.

इसे भी पढ़ें: दो महीने में भारत में आ सकते हैं 13 लाख मामले

तीन तो अरबपति क्रिकेटर हैं हमारे यहां

बात करें भारतीय क्रिकेटरों की तो टीम क्रिकेट इन्डिया के कप्तान विराट कोहली दुनिया में सबसे ज्यादा कमाई करने वाले क्रिकेटर हैं. विराट के अलावा एमएस धोनी, पूर्व दिग्गज सचिन तेंदुलकर सहित और भी कई नामीगिरामी चेहरे हैं जो साल में करोड़ों रुपये कमाते हैं, लेकिन इन दिग्गजों ने अभी तक सिर्फ  वीडियो मैसेज ही दिये हैं, अपनी जेब में हांथ डाल कर एक पैसा बाहर नहीं निकाला.

इसे भी पढ़ें: और भी कदम उठाने होंगे, सिर्फ लॉकडाउन काफी नहीं!

इसे भी पढ़ें: अगर कोरोना साजिश तो सवालों के घेरे में डब्ल्यूएचओ