• भारत में कोरोना के अब तक 1071 मामले सामने आए. अब तक 29 लोगों की मौत
  • देश में अभी तक कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 1071, अभी भी 942 लोग संक्रमित, 99 लोगों का इलाज हो चुका है.
  • तेलंगाना, पश्चिमी बंगाल, केरल, तमिलनाडु, बिहार, पंजाब, पश्चिम बंगाल, और हिमाचल प्रदेश में 1-1 व्यक्ति की मौत हुई है
  • पूरी दुनिया में कोरोना मरीजों की संख्या 6,83,600, अब तक 32,144 की मौत हुई है और 1,46,396 लोग ठीक हो गए.
  • इटली में सबसे ज्यादा 10030 लोगों की मौत, संक्रमित लोगों की संख्या पहुंची 92500
  • स्पेन में अब तक 6532 लोगों की मौत, 78800 लोग कोरोना संक्रमण के शिकार
  • अमेरिका में अब तक 2230 लोगों की मौत, 123830 लोग कोरोना से संक्रमित
  • महाराष्ट्र में कोरोना के 186 मामले 6 की मौत, गुजरात में 56 मामले 5 की मौत, कर्नाटक में 76 मामले 3 की मौत
  • मध्य प्रदेश में कोरोना के 30 मामले 2 की मौत, दिल्ली में 49 मामले 2 की मौत, कश्मीर में 31 मामले 2 की मौत

हिसार की गाजर और स्ट्रॉबेरी विदेशों में होगी सप्लाई

हिसार के स्याहड़वा एरिया में ग्रामीण किसान परंपरागत खेती की बजाय स्ट्रॉबेरी की खेती कर उन्नत किसान के रूप में अपनी पहचान बना चुके हैं. ऐसे ही बहबलपुर एरिया की गाजर की अपनी ही अलग पहचान है. अब ब्रिटिश हाइकमीश्न का डेलिगेशन इनकी खेती को देखने आना अपने आप में ही गौरव की बात है.  

 हिसार की गाजर और स्ट्रॉबेरी विदेशों में होगी सप्लाई

हिसार: हरियाणा के हिसार के स्याहड़वा एरिया में की जाने वाली स्ट्राबेरी की खेती और बहबलपुर की गाजर के चर्चे देश ही नहीं विदेशों में भी होने वाले हैं. दरअसल, आज ब्रिटिश हाइकमीश्न का डेलिगेशन ने स्याहड़वा और बहबलपुर के खेतों में पहुंच कर यहां किसानों द्वारा अपनाई जा रही तकनीक के बारे में चर्चा की है. 

Sonbhadra Gold: क्या जानबूझकर दबाई जा रही है सोनभद्र में मिले सोने की खबर?

बता दें कि इंडिया और ब्रिटिश मिलकर किसानों की आमदन बढ़ाने के लिए फोकस कर रहे हैं. ऐसे में आज 10 सदस्यीय दल हिसार के खेतों में पहुंचा था, जो की स्याहड़वा एरिया और बहबलपुर के लिए आज गौरव का पल था. फसल को लेकर किसानों की आमदनी किस तरह से बढ़ाई जा सकती है और कैसे उन्हें पैकेजिंग और दूसरी सहुलियते मिल सकती है. इन तमाम पहलुओं पर मंथन करने के लिए 10 सदस्यीय ब्रिटिश हाइकमीश्न का डेलिगेशन हिसार पहुंचा था. इनकी अगुवाई हिसार की डीसी डॉ प्रियंका सोनी ने की.

हिसार की स्ट्रॉबेरी दूसरे देशों में एक्सपोर्ट की जाने की तैयारी
डेलीगेशन के सदस्य इएन क्लींटन ने बातचीत में बताया कि यहां पर किसानों द्वारा स्ट्रॉबेरी की खेती को लेकर चर्चा की गई है. साथ ही उन्होंने कहा कि ब्रिटेन और भारत सरकार मिलकर किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए फोकस करके चल रही है. ऐसे में कोशिश यही है कि किसानों को वहां अपनाई जाने वाली ना सिर्फ तकनीक के बारे में बताया जाए बल्कि किस तरह से अपने प्रोडक्ट की पैकिंग करनी है वो भी समझाया जाएगा. जिससे किसानों को ज्यादा से ज्यादा मुनाफा मिल सके. इसके लिए किसानों की स्ट्रॉबेरी दूसरे देशों में एक्सपोर्ट भी की जाएगी. ब्रिटिश हाई कमिशन की टीम ने गांव बहबलपुर के खेतों पर जाकर यहां उगाई गई गाजर की फसल का निरीक्षण किया. यहां विकसित किए गए गाजर के देसी बीज, गाजर की धुलाई, ग्रेडिंग, पैकिंग तथा सीड प्रोडक्शन यूनिट का भी जायजा किया गया.