22 दिसंबर: आज है साल का सबसे छोटा दिन और लंबी रात

22 दिसंबर को पूरी दुनिया विंटर सॉल्सटिस के नाम से जानता है, इस दिन पूरे साल की तुलना में रात सबसे लंबी होती है. जानिए क्यों होती है आज के दिन रात लंबी.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 22, 2019, 10:57 AM IST
    • 22 दिसंबर को विंटर सॉल्सटिस के नाम से जाना जाता है
    • 21 जून को होता है समर सॉल्सटिस
22 दिसंबर: आज है साल का सबसे छोटा दिन और लंबी रात

नई दिल्ली: 22 दिसंबर को सबसे छोटा दिन और साल की सबसे लंबी रात होती है. आज के ही दिन उत्तरी गोलार्द्ध में सर्दियों के मौसम की शुरुआत होती है और यह 20 मार्च तक चलेगी. 

क्यों होती है सबसे लंबी रात
इस दिन को विंटर सॉल्सटिस भी कहते हैं क्योंकि मकर रेखा पृथ्वी के सबसे पास होती है, पृथ्वी अपने घूर्णन के अक्ष पर लगभग 23.5 डिग्री झुकी हुई होती है. इस घटित होने वाली घटना को खगोलीय घटना भी कहते हैं. पृथ्वी के झुकाव के चलते हर गोलार्ध को पूरे साल अलग-अलग मात्रा में सूर्य की किरणें प्राप्त होती है. 22 दिसंबर को सूर्य की किरणें सीधे ही भूमध्य रेखा के दक्षिण की ओर मकर रेखा के साथ पहुंचती है. ये किरणें सीधे ही पूरे साल में दो बार पृथ्वी पर भूमध्य रेखा से होकर पहुंचती है जो एक बार 22 दिसंबर में और दूसरी बार 21 जून को पहुंचती है.

कैंसर की दवा बनाने से एक कदम करीब वैज्ञानिक, खोजा सहयोगी जिंस लिंक पर क्लिक कर पढ़े पूरी खबर.

विंटर सॉल्सटिस के नाम से जाने जाने वाला यह दिन इस दिन सूर्य पृथ्वी से काफी दूर रहता है जिससे चांद की रोशनी पृथ्वी पर काफी देर तक रहती है. सॉल्सटिस शब्द लैटिन भाषा से लिया गया है जिसका अर्थ होता है सूर्य अभी स्थिर है. क्योंकि सॉल्सटिस के समय सूर्य जब अपनी दिशा उत्तर या दक्षिण की ओर बदलता है उससे पहले थोड़ी देर के लिए ठहर जाता है. 

अब पराली नहीं फैलाएगी प्रदूषण बल्कि सुधारेगी पशुओं की सेहत, लिंक पर क्लिक कर जानें कैसे.

जैसे विंटर सॉल्सटिस को कई जगहों पर सेलिब्रेट किया जाता है वैसे ही समय सॉल्सटिस को भी त्यौहार की तरह लोग मनाते हैं. लेकिन इसका असर बिल्कुल उलटा होता है इस दिन रात छोटी और दिन लंबी होती है. 
 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़