आज के पंचांग में जानिए कब करें शुभ कार्य, कैसे होंगी महालक्ष्मी प्रसन्न

पौष शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि है. शुक्रवार का दिन और नवमी तिथि शाम तक रहेगी. आज के नक्षत्र की बात करें तो आज बेहद खास शुक्र का भरणी नक्षत्र है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jan 22, 2021, 07:01 AM IST
  • भरणी नक्षत्र का स्वामी शुक्र है जोकि एक शुभ, सौंदर्यप्रिय, और कलाप्रिय ग्रह भी है
  • आज शुभ मुहूर्त देखें तो दोपहर 12:08 से 12:52 तक शुभ मुहूर्त रहेगा
आज के पंचांग में जानिए कब करें शुभ कार्य, कैसे होंगी महालक्ष्मी प्रसन्न

नई दिल्लीः आज का पंचांग समृद्धि भरे मुहूर्त लेकर आ रहा है. महालक्ष्मी को प्रसन्न करने का आज सबसे महत्वपूर्ण दिन है. देवी लक्ष्मी स्वयं प्रकृति का स्वरूप हैं. संसार उनके ही प्रताप से पोषित होता है. वह पृथ्वी के रूप में हम सबका भार सहती हैं. अन्न देती हैं. जल देती हैं. आवास और निवास भी देती हैं. धन और धान्य दोनों ही देवी लक्ष्मी के स्वरूप हैं. शुक्रवार को उनका पूजन करना चाहिए. इसी के साथ आज के दिन कब किस समय किस कार्य की शुरुआत करनी चाहिए. इस बारे में पंचांग देखकर सुझाव दे रहे हैं आचार्य विक्रमादित्य...

आज की तिथि
आज पौष शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि है. शुक्रवार का दिन और नवमी तिथि शाम तक रहेगी. आज के नक्षत्र की बात करें तो आज बेहद खास शुक्र का भरणी नक्षत्र है. यानी महालक्ष्मी को प्रसन्न करने का योग साथ ही शुभ नाम का योग भी है. इसके अलावा आज शुभ मुहूर्त देखें तो दोपहर 12:08 से 12:52 तक शुभ मुहूर्त रहेगा. 

इस योग में कोई भी काम करना शुभ फलदायक होता है. आज के राहुकाल पर नजर डालें तो आज सुबह 10:38 से दोपहर 12:02 तक राहुकाल रहेगा. इस समय किसी भी शुभ कार्य को करने से बचें. 

यह भी पढ़िएः Daily Horoscope में जानिए 22 January का राशिफल

जानिए, क्या है भरणी नक्षत्र
भरणी नक्षत्र का स्वामी शुक्र है जोकि एक शुभ, सौंदर्यप्रिय, और कलाप्रिय ग्रह भी है. इसलिए आप चतुर, सौंदर्यप्रिय, भौतिकतावादी, संगीतप्रिय, कलाप्रिय, घूमने-फिरने के शौक़ीन हैं. आपको अच्छे कपड़े पहनने में और राजसी ठाठ-बाट से जीवन जीने में आनंद आता है. कला, गायन, खेल-कूद में भी आपकी रुचि है. स्त्रियों के लिए यह नक्षत्र विशेष शुभ माना गया है,

क्योंकि यह नक्षत्र स्त्रियोचित गुणों में बढ़ोतरी करता है. वैदिक ज्योतिष के अनुसार भरणी नक्षत्र का स्वामी शुक्र ग्रह है. यह योनि की तरह दिखायी देता है. इस नक्षत्र के देवता यम और लिंग स्री है. 

य़ह भी पढ़िएः कड़ी मेहनत कर रहे हैं और नहीं मिल रहा है फल, कहीं ये वजह तो नहीं

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़