• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 89,987 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 1,65,799: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 71,106 जबकि अबतक 4,706 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • वित्त मंत्री ने वित्तीय स्थिरता और विकास परिषद की अध्यक्षता की और घरेलू स्थिति की समीक्षा की
  • वित्त मंत्री ने ‘आधार’ पर आधारित ई-केवाईसी के जरिए ‘तत्काल पैन आवंटन’ की सुविधा का शुभारंभ किया
  • वाणिज्य मंत्री एक्सपोर्टर्स से अधिक प्रतिस्पर्धी होने और दुनिया को गुणवत्तापूर्ण उत्पाद प्रदान करने का आह्वान किया
  • उपभोक्ता कार्य मंत्री एफसीआई के खाद्यान्न वितरण और खरीद की समीक्षा की
  • कैबिनेट सचिव ने कोविड से सबसे अधिक प्रभावित 13 शहरों की स्थिति की समीक्षा की
  • भारत जुलाई के अंत तक, प्रति दिन 5 लाख स्वदेशी किट का उत्पादन करेगा: अधिकार प्राप्त समूह-1
  • केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने नई दिल्ली में वेबिनार के माध्यम से 45,000 उच्च शिक्षण संस्थाओं के प्रमुखों से बातचीत की
  • रेलवे ने 3,736 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया, 50+ लाख प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाया गया

कोरोना काल में अमेरिकन ज्योतिषी की भविष्यवाणी

ये सज्जन हैं मूल रूप से हिन्दुस्तानी लेकिन रह रहे हैं अमेरिका में. भारत के ज्योतिष की अमेरिका में प्रतिष्ठा बढ़ाने वाले ये सज्जन एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं जिन्होंने बताया है कि अगले पंद्रह साल क्या होने वाला है..     

कोरोना काल में अमेरिकन ज्योतिषी की भविष्यवाणी

नई दिल्ली. इन सज्जन का नाम है पीवीआर नरसिम्हा राव जो अमेरिका के बोस्टन शहर में रहते हैं. पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर नरसिम्हा राव "जगन्नाथ होरा" नामक मुफ्त ज्योतिष सॉफ्टवेयर के निर्माता भी हैं. इन्होने 2020 से 2035 तक के दुनिया के भविष्य की गणना कर दी है अपने ज्योतिष ज्ञान के माध्यम से.

 

इंजीनियरिंग स्नातक हैं नरसिम्हा राव 

ये इंडो-अमेरिकन ज्योतिषी आईआईटी मद्रास से इंजीनियरिंग में स्नातक हैं और इन्होने राइस विश्वविद्यालय, ह्यूस्टन के राइस विश्वविद्यालय से मास्टर डिग्री प्राप्त की है. कमाल की बात ये है कि इनकी जड़ों में आज भी भारतीयता है जो इनके अमेरिकी जीवन में भी परिलक्षित होती है. नरसिम्हा राव  संस्कृत और हिंदी के विद्वान भी हैं.

29 मार्च 2020 को की हैं ये भविष्यवाणियां 

दुनिया के बारे में कोरोना ईयर 2020 से लेकर अगले पंद्रह वर्षों की भविष्यवाणी कर चुके हैं नरसिम्हा राव. डेढ़ माह पहले 29 मार्च को ही उन्होंने ये भविष्यवाणियां की हैं जिनमें दुनिया के अगले पंद्रह सालों का हाल बताया है. 

 

ढाई साल रहेगा अराजक-राज 

नरसिम्हा राव के अनुसार दुनिया में अब अगले ढाई साल अर्थात 2023 तक की अराजकता का समय  देखा जाएगा.  इसके बाद पुनर्निर्माण की प्रक्रिया 2023 के मध्य से शुरू होगी जो कि विश्व की अर्थव्यवस्था को स्थिर करने में 2034 तक का समय लेगी. 

अमेरिका और चीन कमज़ोर होंगे 

संयुक्त राज्य अमेरिका दुनिया में अपनी सर्वोच्चता की स्थिति खो देगा और ब्रिटेन की तरह दोयम दर्जे का राष्ट्र बन कर रह जाएगा. इसी तरह चीन की शक्ति भी बहुत कम रह जायेगी क्योंकि वह भी सोवियत रूस की तरह कई देशों में टूट जाएगा.

 

सुपर पावर भारत बनेगा विश्वगुरु  

पूंजीवाद और समाजवाद के अच्छे तत्वों के संयोजन से एक नई वित्तीय प्रणाली उभरेगी और भारत इस नए दौर में अग्रणी राष्ट्र बनेगा. आने वाली शताब्दी और सहस्राब्दी भारत के हैं जिनमें दुनिया भारत को एक नए सुपर पावर के रूप में देखेगी. 

मोदी अगला कार्यकाल भी जीतेंगे 

राष्ट्रहित में प्रधानमंत्री मोदी साहसिक निर्णय लेंगे और 2022 से 2024 तक कई राष्ट्रीय समस्याओं का समाधान करेंगे. मोदी 2024 में 3 गुना अधिक बहुमत से जीतेंगे. तीसरे कार्यकाल के बीच में ही वे अपने  एक सहयोगी को सत्ता सौंप देंगे और सार्वजनिक जीवन से संन्यास ले लेंगे. 

 

ट्रम्प और अमेरिका के लिए समय ठीक नहीं 

डोनाल्ड ट्रम्प का जून 2020 से बुरा समय शुरू होने वाला है. इस वर्ष होने वाले अमरीकी राष्ट्रपतिपद के  चुनावों में अपनी सत्ता खो सकते हैं. सितंबर 2020 तक उन पर महाभियोग चलाये जाने का योग बन रहा है. इस वर्ष 2020 में संयुक्त राज्य अमेरिका में कई राजनीतिक उथल-पुथल देखे जाएंगे.

.ये भी पढ़ें. चीन ने अरबों की चपत लगाईं छोटे भाई पाकिस्तान को