FIFA World Cup 2022: एमबापे ने पोलैंड के खिलाफ पेले को छोड़ा पीछे, क्वार्टरफाइनल में पहुंचा फ्रांस

FIFA World Cup 2022: फीफा विश्वकप 2022 में रविवार को फ्रांस की टीम ने किलियान एमबापे के दो गोल और ओलिवर गिरोड के रिकॉड गोल की मदद से पोलैंड को 3-1 से रौंदकर क्वार्टरफाइनल में जगह बना ली है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 5, 2022, 09:24 AM IST
  • गिरोड ने तोड़ा ऑनरी का रिकॉर्ड
  • एमबापे ने तोड़ा पेले का रिकॉर्ड

ट्रेंडिंग तस्वीरें

FIFA World Cup 2022: एमबापे ने पोलैंड के खिलाफ पेले को छोड़ा पीछे, क्वार्टरफाइनल में पहुंचा फ्रांस

FIFA World Cup 2022: कतर में खेले जा रहे फीफा विश्वकप 2022 में रविवार को फ्रांस की टीम ने पोलैंड को 3-1 से रौंदकर क्वार्टरफाइनल में जगह बना ली है. फ्रांस ने किलियान एमबापे के दो गोल और ओलिवर गिरोड के रिकॉड गोल की मदद से रविवार को यहां फीफा विश्व कप के राउंड 16 मैच में पोलैंड को 3-1 से हराकर क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया. फ्रांस की टीम विश्व कप में लगातार तीन चरण (2014, 2018, 2022) के क्वार्टरफाइनल में खेलेगी.

क्वार्टरफाइनल में फ्रांस का सामना 10 दिसंबर को इंग्लैंड और सेनेगल के बीच देर रात खेले जाने वाले मैच के विजेता से होगा. सेंटर फॉरवर्ड गिरोड (44वें मिनट) ने पहले हाफ में अपने देश के रिकॉर्ड 52वां गोल दागा.  एमबापे (74वें और 90+1वें मिनट) ने दूसरे हाफ में दो गोल किये और गिरोड को गोल करने में मदद भी की. पोलैंड के लिये सांत्वना गोल उसके करिश्माई स्ट्राइकर रॉबर्ट लेवांडोव्स्की (90+9वें मिनट) ने पेनल्टी स्पाॉट पर किया.

गिरोड ने तोड़ा ऑनरी का रिकॉर्ड

पहले हाफ से एक मिनट पूर्व गिरोड फ्रांस के लिये सबसे ज्यादा गोल करने वाले फुटबॉलर बन गये और उन्होंने थिएरी ऑनरी (123 मैच में 51 गोल) को पीछे छोड़ दिया. 36 वर्षीय गिरोड के 117 मैचों में 52 गोल हो गये हैं. ग्रुप डी के शुरूआती मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 4-1 की जीत में वह ऑनरी की बराबरी पर आये थे. एमबापे ने बॉक्स के अंदर गिरोड को गेंद दी जिन्होंने बायें पैर से शानदार शॉट लगाकर रिकॉर्ड गोल दागा और फ्रांस को 1-0 से आगे कर दिया. कोच कोच डिडिएर डेसचैंप्स इसका जश्न मनाते दिखे. मैच के दौरान पोलैंड ने मौके बनाये लेकिन टीम दुर्भाग्यशाली रहे कि ये फलदायी नहीं रहे. 

ग्रुप डी में शीर्ष पर रही फ्रांस ने मैच के 15 मिनट में दबदबा बनाये रखा जिसमें गोल करने के तीन अच्छे प्रयास किये जिसमें से एक में ऑरेलियन चोउमेनी ने 13वें मिनट में गोल की ओर शॉट लगाया था, पर इसका पोलैंड के गोलकीपर वोजशिएक श्जेश्नी ने डाइव करते हुए अच्छा बचाव किया. पोलैंड के दिग्गज खिलाड़ी और सर्वश्रेष्ठ स्ट्राइकरों में से एक लेवांडोव्स्की ने फ्रांस के हाफ में घुसने के लिये कई प्रयास किये. 1998 चैम्पियन फ्रांस को 27वें मिनट में बढ़िया मौका मिला जब बार्सिलोना के विंगर ओस्माने डेम्बले ने गिरोड को क्रास दिया लेकिन वह इसे नेट में नहीं पहुंचा सके. पोलैंड के खिलाड़ी एमबापे को रोकने के लिये हर तरह के प्रयास में जुटे थे जो अब टूर्नामेंट में पांच गोल कर ‘गोल्डन बूट’ की दौड़ में आगे चल रहे हैं. 

फ्री किक का फायदा नहीं उठा सकी फ्रांस

चोउमनी को फ्रांकोवस्की को टैकल कर फाउल करने के लिये इस दौरान पीला कार्ड भी दिखाया और पोलैंड को फ्री किक मिली जो बेकार चली गयी. फ्रांस के गोलकीपर हुगो लौरिस टीम के लिये रिकॉर्ड 142वें मैच में उतरकर सबसे ज्यादा मैच खेलने वाले लिलियन थुरम की बराबरी पर आ गये. उन्होंने 38वें मिनट में पोलैंड के पियोट्र जिलिंस्की के प्रयास का अच्छा बचाव किया. दूसरे हाफ में पोलैंड के बातोस्ज बेरेस्जिंस्की को ओस्माने डेम्बेले को गिराने के लिये पीला कार्ड मिला और फ्रांस को फ्री किक. पोलैंड के गोलकीपर ने फ्री किक पर एंटोइन ग्रिजमान के ताकतवर शॉट का डाइव करते हुए अच्छा बचाव किया. 

एमबापे को इस दौरान मौका मिला, लेकिन उनका शॉट वाइड चला गया. गिरोड के पास 66वें मिनट में बढ़त दोगुनी करने का मौका था, उन्होंने पोस्ट के करीब कौंडे के क्रास को दिशा देने की कोशिश की लेकिन यह नेट के साइड से निकल गया. पोलैंड के खिलाड़ी फ्रांस के हाफ में थे और तभी जवाबी हमले में फ्रांस के खिलाड़ियों ने गेंद का रूख बदल दिया. गिरोड ने डेम्बले को पास दिया जिन्होंने इसे एमबापे की ओर किया, इस स्टार ने पोलैंड के बॉक्स में दायें पैर से ताकतवर शॉट से सीधे निशाना गोल में लगाया और श्जेसनी कुछ नहीं कर सके. 

एमबापे ने तोड़ा पेले का रिकॉर्ड

एमबापे इस तरह 24 साल से कम उम्र में विश्व कप में आठ गोल करने वाले खिलाड़ी बन गये. इस तरह उन्होंने पेले के 24 साल पूरे होने से पहले किये रिकॉर्ड सात गोल को पीछे छोड़ा. एमबापे ने फिर एक और जादू दिखाते हुए मैच में अपना दूसरा गोल कर दिया. थुर्रम के पास पर उन्होंने अपने विश्व कप गोल की संख्या नौ कर दी. पोलैंड की टीम 36 साल में पहली बार नॉकआउट दौर में पहुंची थी, उसके लिये सांत्वना गोल 99वें मिनट में ‘हैंडबॉल’ उल्लंघन से हुई पेनल्टी पर हुआ. मैच के दौरान रैफरी ने जूल्स कोंडे की सोने की चेन भी निकलवा दी, वह इसे पहनकर खेल रहे थे जो नियमों का उल्लंघन है.

इसे भी पढ़ें- PKL 9: पीकेएल में लगभग खत्म हुआ मुंबा का सफर, गुजरात ने हासिल की रोमांचक जीत

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप. 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़