• चीन भारत की बातचीत में भारत का नेतृत्व लेह स्थित 14वीं कोर के जनरल कमांडिंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह ने की
  • सूत्रों के अनुसार, 'चीन की तरफ से तिब्बत मिलिटरी डिस्ट्रिक्ट के कमांडर ने अगुआई की'
  • लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत से पहले स्थानीय कमांडरों के स्तर पर दोनों सेनाओं के बीच 12 राउंड बातचीत हो चुकी है
  • देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 1,15,942 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 2,36,656: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 1,14,072 जबकि अबतक 6,642 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • पिछले 24 घंटों में कुल 1.37 लाख कोरोना के नमूनों की जांच की गई. कुल परीक्षणों की संख्या 45.34 लाख से ज्यादा(ICMR)
  • कोविड-19 महामारी के बीच प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना से स्ट्रीट वेंडर्स को किफायती ऋण दिया जाएगा.
  • 6 मई से अब तक वंदे भारत मिशन के तहत करीब 64,000 लोगों को वापस लाया गया
  • आईएनएस जलाश्व के माध्यम से मालदीव और श्रीलंका से 2,700 भारतीय नागरिकों को स्वदेश वापस लाया गया
  • कोविड-19 के लक्षण दिखाई देने पर घबराएं नहीं, तुरंत 1075 डायल करें.

आज की रात बड़ा और खूबसूरत दिखेगा चांद, जानिए क्यों

जब चांद और धरती के बीच की दूरी सबसे कम हो जाती है और चंद्रमा की चमक बढ़ जाती है, उस स्थिति में चांद को सुपरमून कहा जाता है. इस दौरान चांद आम दिनों की तुलना में 14 प्रतिशत ज्यादा बड़ा और 30 प्रतिशत ज्यादा चमकीला दिखाई देता है.

आज की रात बड़ा और खूबसूरत दिखेगा चांद, जानिए क्यों

नई दिल्लीः कोरोना संकट के बीच आदमजात तो घर में बंद है, लेकिन प्रकृति खुल कर सांस ले रही है. इस महामारी के बीच आज की रात एक खूबसूरत खगोलीय घटना इस बीच एक और प्राकृतिक व भौगोलिक घटना होने वाली है. जिसे पूरी दुनिया देख सकेगी. ये घटना मंगलवार, 7 अप्रैल 2020 यानी आज ही होने वाली है. 

ऐसे होता है सुपरमून
पूर्णिमा का चंद्रमा यूं तो हमेशा ही अद्भुत लगता है, लेकिन इस बार यह नजारा और भी खास होगा क्योंकि यह इस बार की पूर्णिमा अपने साथ सुपर मून लेकर आ रही है. आज धरती सुपरमून का दीदार करेगी. आज रात आसमान में साल का सबसे बड़ा चांद दिखाई देगा. 

जब चांद और धरती के बीच की दूरी सबसे कम हो जाती है और चंद्रमा की चमक बढ़ जाती है, उस स्थिति में चांद को सुपरमून कहा जाता है. इस दौरान चांद आम दिनों की तुलना में 14 प्रतिशत ज्यादा बड़ा और 30 प्रतिशत ज्यादा चमकीला दिखाई देता है.

आगे बढ़ सकता है लॉकडाउन, केंद्र सरकार कर रही है विचार

यह है इस खगोलीय घटना का राज
7 अप्रैल को रात 11:38 पर चंद्रमा पृथ्वी के सबसे ज्यादा नजदीक होगा. इस समय पर चंद्रमा की पृथ्वी से दूरी मात्र 356900 किलोमीटर रह जाएगी. चांद की यह स्थिति पेरिगी कहलाती है. आमतौर पर पृथ्वी से चंद्रमा की दूरी 384400 किलोमीटर मानी जाती है.

वहीं, चंद्रमा की पृथ्वी से सबसे ज्यादा दूरी होने पर यह दूरी लगभग 405696 किमी मानी जाती है जिसे अपोगी कहते हैं. चंद्रमा की पेरिगी की स्थिति में पूर्णिमा पड़ जाए, तो हमें सुपरमून दिखाई देता है. एक साल में न्यूनतम 12 पूर्णिमा पड़ती है, लेकिन ऐसा कम होता है कि पेरिगी की स्थिति में पूर्णिमा भी पड़े.

आगे बढ़ सकता है लॉकडाउन, केंद्र सरकार कर रही है विचार

भारत में नहीं दिखेगा सुपरमून
आकाश में सुपरमून आठ अप्रैल को दिखेगा, जिसका नाम पिंक सुपर मून है. सुपरमून 8 अप्रैल को दोपहर 2:35 बजे जीएमटी (भारतीय समयानुसार सुबह 8:05 बजे) पर दिखाई देगा. मगर, तब तक सूर्योदय हो चुका होगा और इस स्थिति में भारत के लोग सुपर पिंक मून की घटना को सीधे नहीं देख पाएंगे.