चीन और ब्राजील सैटेलाइट से करेंगे अमेजन के जंगलों की निगरानी

नई दिल्लीः चीन और ब्राजील द्वारा संयुक्त रूप से विकसित की गई पृथ्वी की निगरानी करने वाली एक सैटलाइट का 20 दिसंबर को अंतरिक्ष में प्रक्षेपण हुआ. ये प्रक्षेपण एक द्विपक्षीय कार्यक्रम के तहत हुआ जिसे ब्रिक्स देशों की बीच विस्तृत सहयोग के एक मॉडल के रूप में देखा जा रहा है. चीन की आधिकारिक समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने बताया कि चीन-ब्राजील अर्थ रिसोर्स सैटलाइट-4ए का प्रक्षेपण एक लॉन्ग मार्च-4बी राकेट पर चीन के उत्तरी प्रांत चान्शी में हुआ. ये सैटेलाइट सन 1988 में शुरू हुए चीन-ब्राजील अर्थ रिसोर्सेज (सीबर्स) कार्यक्रम के तहत विकसित होने वाली छठी सैटेलाइट थी. इन सैटेलाइटों का डिजाइन असैन्य उपयोग के लिए अंतरिक्ष से पृथ्वी पर नजर रखने के लिए किया गया है. 

 चीन और ब्राजील सैटेलाइट से करेंगे अमेजन के जंगलों की निगरानी

नई दिल्लीः चीन और ब्राजील द्वारा संयुक्त रूप से विकसित की गई पृथ्वी की निगरानी करने वाली एक सैटलाइट का 20 दिसंबर को अंतरिक्ष में प्रक्षेपण हुआ. ये प्रक्षेपण एक द्विपक्षीय कार्यक्रम के तहत हुआ जिसे ब्रिक्स देशों की बीच विस्तृत सहयोग के एक मॉडल के रूप में देखा जा रहा है. चीन की आधिकारिक समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने बताया कि चीन-ब्राजील अर्थ रिसोर्स सैटलाइट-4ए का प्रक्षेपण एक लॉन्ग मार्च-4बी राकेट पर चीन के उत्तरी प्रांत चान्शी में हुआ. ये सैटेलाइट सन 1988 में शुरू हुए चीन-ब्राजील अर्थ रिसोर्सेज (सीबर्स) कार्यक्रम के तहत विकसित होने वाली छठी सैटेलाइट थी. इन सैटेलाइटों का डिजाइन असैन्य उपयोग के लिए अंतरिक्ष से पृथ्वी पर नजर रखने के लिए किया गया है. 

आठ और सैटेलाइटों को अंतरिक्ष में भेजा
अमेजन के जंगलों की निगरानी और देश के पर्यावरण में बदलाव पर नजर रखने के प्रयासों में सीबर्स-4ए ब्राजील की सरकार की मदद करेगा.  इसी राकेट से आठ और सैटेलाइटों को अंतरिक्ष में उनकी कक्षा में भेजा गया, जिनमें एक चौड़ी रेंज वाली, रिमोट-सेंसिंग लघु सैटेलाइट भी थी जिसे इथियोपिया को उपहार में दिया गया था. 

ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका - जिन्हें ब्रिक्स के नाम से जाना जाता है - के बीच सैटेलाइटों का एक समूह बनाने के लिए और एक दूसरे की सैटेलाइटों से मिली जानकारी साझा करने के लिए एक समझौते पर बातचीत चल रही है. समूह के लिए हर देश एक से दो सैटेलाइट देगा. सीबर्स सैटेलाइटों को समूह में शामिल किया जाएगा. वर्त्तमान में ब्रिक्स समूह में सिर्फ दक्षिण अफ्रीका के पास अपना कोई सैटेलाइट नहीं है. 

अमेजन के जंगल में लगी थी भयंकर आग
इसी साल जून के आखिरी सप्ताह में अमेजन के जंगलों में आग लग गई थी. अमेजन रेन फॉरेस्ट में लगी यह आग दो माह से अधिक समय बीतने पर भी नहीं बुझाई जा सकी थी. आग का सबसे ज्यादा असर ब्राजील में रहा था.  यहां वातावरण में जहरीली गैसें फैल रही हैं, जिससे बड़ी तादात में बच्चे बीमार हो गए थे. ब्राजील के सार्वजनिक स्वास्थ्य अनुसंधान संस्थान ‘ओसवाल्डो क्रूज फाउंडेशन’ ने आग के प्रभाव पर रिपोर्ट जारी की था. इसमें बताया गया कि महीनों से जारी आग आबादी की सेहत के लिए खतरा खड़ा हो गई है. 

मेट्रो का सहारा लेकर प्रदर्शन करने जा रहे थे लोग! 17 स्टेशनों के गेट बंद

आस्ट्रेलिया के जंगल भी जल रहे हैं
ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग अब भयंकर रूप धारण कर गई है और यह सिडनी शहर के चारों और फैल गई है. अब तक की रिपोर्ट्स के मुताबिक इस आग में कमसे कम 693 घर जल कर ख़ाक हो चुके हैं और छह लोगों की जान चली गई है. रिपोर्ट्स के मुताबिक सिडनी शहर के चारों ओर 100 से ज्यादा जगह जंगल आग में धधक रहे हैं. सिडनी के ४५ लाख लोगों से ज्यादा लोगों की जिंदगी पर इसका असर पड़ा है.

आग के कारण कनंगरा बॉयड नेशनल पार्क से जानवर सड़कों की तरफ जान बचाने के लिए भाग रहे हैं. आग लगने से इलाके का तापमान भी बढ़ गया है.

क्या जनसंख्या नियंत्रण कानून लाने जा रही है सरकार ?