'पानी' पर पाकिस्तान ने झूठ बोला, तो हिन्दुस्तान ने ऐसे 'खोल दी पोल'

चिनाब नदी के पानी को लेकर पाकिस्तान ने भारत पर झूठा आरोप लगाया, जिसके बाद हिदुस्तान ने ना'PAK' की पोल खोल दी जिससे उसकी बोलती बंद हो गई...

'पानी' पर पाकिस्तान ने झूठ बोला, तो हिन्दुस्तान ने ऐसे 'खोल दी पोल'

नई दिल्ली: हर तरफ से मुंह की खाने के बाद पाकिस्तान साजिशों का जाल बुनना शुरू कर देता है. लेकिन, वो शायद अपनी औकात भूल जाता है. उसे हर बार इस बात को याद दिलाना पड़ता है कि हिन्दुस्तान उसके हर झूठ की एक-एक परत उधेड़ कर रख देता है. एक बार फिर ऐसा ही हुआ है.

पाकिस्तान के झूठ पर भारत ने किया प्रहार

चिनाब नदी में पानी छोड़ने से संबंधित पाकिस्तान ने एक दावा किया और कहा कि पानी की मात्रा में काफी कमी आई है. जिसके बाद पाकिस्तान के इस झूठ की भारत ने कलई खोल कर रख दी. भारत ने इस दावे को बेबुनियाद बताते हुए पाकिस्तान की बोलती बंद कर दी.

पाकिस्तान का एक और बेबुनियाद दावा

दरअसल, पाकिस्तान की तरफ से ये दावा किया गया कि चिनाब नदी के मराला हेडवर्क्स पर पानी का बहाव घटकर करीब आधी हो गई है. आंकड़ों में ये बाताया गया है कि ये बहाव 31,853 क्यूसेक्स से घटकर करीब 18,700 क्यूसेक्स रह गया है. जिसके बाद सिंधु नदी मामलों के भारतीय आयुक्त प्रदीप कुमार ने इस दावे को पूरी तरह बेबुनियाद बता दिया.

प्रदीप कुमार ने उनके पाकिस्तानी समकक्ष सैयद मोहम्मद मेयर अली शाह के दावे को खारिज करते हुए ये साफ कर दिया है कि नदी का प्रवाह सामान्य है और इसमें कोई खास बदलाव नहीं दिखा है. पाकिस्तान के पत्र पर उन्होंने यही जवाब भेजा है. ऐसे में एक बार फिर पाकिस्तान अपने झूठे दावों पर बेनकाब हो गया है.

झूठ बोलना बन गई है पाकिस्तान की फितरत

ये बिल्कुल सच है कि झूठ बोलना पाकिस्तान की फितरत बन गई है. तभी तो वो हर बार बेनकाब होने के बावजूद झूठ पर झूठ बोलता रहता है. लेकिन इस मामले में प्रदीप कुमार सक्सेना ने साफ-साफ कह किया है कि पाकिस्तान का यह पूरी तरह दावा बेबुनियाद है. उन्होंने इस दौरान ये भी साफ किया कि भारत की ओर से चिनाब पर अखनूर और रावी नदी पर सिध्रा में आखिरी गेज है. ऐसे में वहां से पानी के प्रवाह में किसी प्रकार का कोई बदलाव नहीं किया गया है. 

इसे भी पढ़ें: WHO ने भी माना वायरस के लिए चीन उत्तरदायी, कोरोना के वुहान कनेक्शन पर 4 मुख्य सवाल

पाकिस्तान की ये पुरानी आदत है कि वो हर बार मुंह की खाने के बाद हिन्दुस्तान को आंख दिखाने की कोशिश करता है. लेकिन पाक हमेशा ये भूल जाता है कि उसकी औकात भारत के सामने ठीक से खड़े होने की भी नहीं है.

इसे भी पढ़ें: डोवल 'नीति' से बर्बाद हो जाएगी आतंकिस्तान' की 'टेरर कुंडली', 5 घंटे चली बैठक

इसे भी पढ़ें: नायकू के ख़ात्मे से घबराए सलाहुद्दीन का कबूलनामा "भारतीय सेना का पलड़ा बहुत भारी"