अमेरिकी प्रशासन में एक और भारतवंशी, जानिए कौन हैं विदिशा भट्टाचार्य?

भट्टाचार्य को सोमवार को कृषि सेवा एजेंसी (एफएसए) में वरिष्ठ नीति सलाहकार के पद पर नियुक्त किया गया. भट्टाचार्य ग्रामीण भारत में सौर ऊर्जा के समाधान के क्षेत्र में काम करने वाले प्रौद्योगिकी स्टार्टअप सिम्पा नेटवर्क्स के साथ तीन साल काम कर चुकी हैं.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Feb 23, 2021, 01:48 PM IST
  • विदिशा ‘सेंटर फॉर अमेरिकन प्रोग्रेस’ में जलवायु एवं ऊर्जा नीति की निदेशक थीं
  • विदिशा ने ग्रामीण भारत में सौर ऊर्जा के समाधान के क्षेत्र में काम किया है
अमेरिकी प्रशासन में एक और भारतवंशी, जानिए कौन हैं विदिशा भट्टाचार्य?

नई दिल्लीः अमेरिकी प्रशासन में कई भारतवंशियों के जगह बनाने के बाद इस कड़ी में एक और अहम नाम जुड़ गया है. अमेरिका में राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) के प्रशासन ने ग्रामीण भारत में सौर ऊर्जा समाधान के क्षेत्र में तीन साल काम कर चुकीं जलवायु एवं ऊर्जा विशेषज्ञ भारतवंशी अमेरिकी विदिशा भट्टाचार्य को कृषि विभाग में अहम पद पर नियुक्त किया है.

कृषि सेवा एजेंसी में बनीं सलाहकार

भट्टाचार्य (Bhattacharyya) को सोमवार को कृषि सेवा एजेंसी (एफएसए) में वरिष्ठ नीति सलाहकार के पद पर नियुक्त किया गया. भट्टाचार्य ग्रामीण भारत में सौर ऊर्जा के समाधान के क्षेत्र में काम करने वाले प्रौद्योगिकी स्टार्टअप सिम्पा नेटवर्क्स के साथ तीन साल काम कर चुकी हैं. विदिशा भट्टाचार्य (Bidisha Bhattacharyya) भारतवंशी अमेरिकी हैं

ये भी पढ़ें- US President Oath: आखिर Joe Biden के सामने क्यों लगाए गए थे दो लाख झंडे?

इमर्जिंग मार्केट्स की उपाध्यक्ष रहीं विदिशा

जानकारी के मुताबिक, इससे पहले विदिशा ‘सेंटर फॉर अमेरिकन प्रोग्रेस’ में जलवायु एवं ऊर्जा नीति की निदेशक थीं. अमेरिकन प्रोग्रेस में शामिल होने से पहले भट्टाचार्य प्रभाव निवेश कंपनी विलेज कैपिटल में इमर्जिंग मार्केट्स की उपाध्यक्ष थीं. उन्होंने भारत, मेक्सिको और पूर्वी अफ्रीका में स्वच्छ ऊर्जा एवं इनके वित्तीय समाधान के लिए उच्च प्रभाव वाले स्टार्टअप में निवेश को प्रोत्साहित करने वाली टीम का नेतृत्व किया.

ये भी पढ़ें- White House को बाय-बाय कहते हुए भावुक दिखे डोनाल्ड ट्रंप, तोड़ दिए नियम

भारत के लिए तीन साल किया काम

टेक्नोलॉजी और एनर्जी डेवलपमेंट के लिए विदिशा भट्टाचार्य (Bidisha Bhattacharyya) ने ग्रामीण भारत में सौर ऊर्जा के समाधान के क्षेत्र में काम किया है. भटाचार्य टेक्नोलॉजी स्टार्टअप सिम्पा नेटवर्क्स के साथ तीन साल काम कर चुकी हैं. उन्होंने हार्वर्ड से पब्लिक पॉलिसी में मास्टर की डिग्री ली है और सेंट ओलाफ कॉलेज से इकोनॉमिक्स में ग्रेजुएशन किया है.

ये भी पढ़ें- Jack Ma की वापसी, Chinese Government की आलोचना के बाद से थे गायब

अमेरिका में चर्चित हैं भारतवंशी

अभी हाल ही में NASA की स्वाति मोहन चर्चा में आई थीं. उन्हें मंगल पर नासा के पर्सिवरेंस रोवर मिशन के लिए ख्याति मिली है. इसके अलावा भव्या लाल भी चर्चित हुईं, जिन्हें NASA की कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है. वहीं पिछले दिनों ट्रंप प्रशासन में कई भारतवंशियों को शामिल किया गया है. जिसके बाद भारतवंशी चर्चित हैं. चीफ ऑफ स्टाफ के पद पर तारक शाह, ‘ऑफिस ऑफ साइंस’ की चीफ ऑफ स्टाफ तान्या दास, नारायण सुब्रमण्यम, शुचि तलाती जैसे कई नाम हैं. उपराष्ट्रपति कमला हैरिस भी भारतवंशी हैं.

ये भी पढ़ें- जापान में नियुक्त किया गया 'Minister of Loneliness', अब नहीं करेंगे अकेला महसूस

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़