महंगाई की मारी अवाम, सिर्फ सपने बेचता 'झूठा इमरान'

कंगाल होता पाकिस्तान दाने-दाने को मोहताज रहा है. अब वहां रसोई गैस और सीएनजी की कमी से मोहनतकश अवाम जो दाने जुगाड़ कर पाती है उसे पकाने की हालत में नहीं है. लेकिन मियां इमरान नियाजी खान पहले के हुक्मरानों को कोसने में जुटे हुए हैं.

महंगाई की मारी अवाम, सिर्फ सपने बेचता 'झूठा इमरान'

नई दिल्ली: नया पाकिस्तान बनाने का वादा करने वाले इमरान खान ने अपने मुल्क की हालत बद से बदतर कर दी है. पहले अनाज महंगा हुआ, फिर दालें, दूध, मांस, पेट्रोल और अब रसोई गैस भी महंगी हो चुकी है. लेकिन इमरान हैं कि अपनी पीठ खुद थपथपाए जा रहे हैं. और अभी के हालात के लिए पहले के हुक्मरानों को कोस रहे हैं.

नीचे पढ़िए- इमरान नियाजी खान ने क्या कहा?

पाकिस्तान के झूठे वजीरे आजम इमरान खान कहते हैं कि 'हमारी जो यहां लीडर शिप थी वो इस मुल्क से पैसा चोरी कर डॉलर खरीद कर बाहर बेज रही थी, उसके नतीजे पर हमारा रुपया कमजोर हुआ. 30 फीसद रुपया कमजोर हुआ तो जो भी बाहर से हम चीज़े मंगवाते थे, वो सब 30 फीसद महंगी हो गई. इसका मतलब तेल 30 फीसद महंगा गैस 30 फीसद महंगा तेल जो मलेशिया से मंगवाते थे वो भी 30 फीसद महंगा हो गया इस तरह महंगाई आई.'

नाकामी को छिपाने के लिए झूठ हथियार

इमरान ने अपने हिस्से की तमाम नाकामी को छिपा कर पिछली सरकारों पर पाकिस्तान की खस्ताहाली का ठीकरा फोड़ दिया. लेकिन इमरान यहीं तक नहीं रुके नया पाकिस्तान बनाने का उनका दावा उनके कार्यकाल के पहले साल ही फुस्स हो गया. लेकिन अभी भी अवाम को सपने दिखाने की उनकी आदत नहीं गई.

नीचे पढ़िए- तंगहाली में नरक जैसा जीवन बिता रही आम अवाम को वो कैसे 2020 के सपने बेच रहे हैं.

इमरान ने इसी के साथ कहा कि 'जो बुरा वक्त इस कौम को बिताना पड़ा उसकी वजह इस 10 साल में जो जुल्म हुए इस कौम पर, अल्ला का शुक्र है हमारा जो रुपया गिर रहा था वो मजबूत हो रहा है, ऊपर जा रहा है.'

इमरान की झूठी गाथा

इस इमरान से कोई पूछे कि अगर पाकिस्तान के ऐसे ही अच्छे दिन आ रहे हैं, तो क्यों 2 करोड़ रुपए के लिए बहरीन के राजा को सोन चिरैया के शिकार की मंजूरी दे दी है? क्यों बेजुबान प्यारे मेहमान पक्षियों को मार कर पाकिस्तान 2 करोड़ रुपए कमाना चाहता है. पाकिस्तान के इतने ही अच्छे दिन आ रहे हैं तो क्यों संरक्षित पक्षी सोन चिरैया को जिसे नायाब परिंदा भी कहते है उसका शिकार कर तुम कमाना चाहते हो? इस चिड़ियां के शिकार पर पहले विरोध करने वाले पीएम इमरान अब इसकी इजाजत दे रहे हैं?

इसे भी पढ़ें: इमरान की 'कैबिनेट' घबराई, हिन्दुस्तान करेगा 'चढ़ाई'! PAK की बौखलाहट के 3 सबूत

दरअसल, इमरान पाक की जनता को बेरोजगारी और महंगाई पर भरमा रहे हैं. ताकि उनके खिलाफ़ कोई विद्रोह ना हो, लेकिन झूठ का घड़ा जलdद ही भरता है, इमरान का तब क्या होगा?

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान की फिर इंटरनेशनल बेइज्जती! यहां पढ़ें: ना'पाक' के 3 झूठे किस्से