• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 1,01,497 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 2,07615: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 1,00,303 जबकि अबतक 5,815 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • रेलवे ने 4155 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया; 57+ लाख यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुँचाया गया
  • इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्री ने #AatmaNirbharBharat के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए 3 योजनाओं की शुरुआत की
  • #AatmaNirbharBharat के लिए #MakeInIndia को प्रोत्साहित करने के लिए DPIIT ने पब्लिक प्रोक्योरमेंट ऑर्डर, 2017 में संशोधन किया
  • एंटी-कोविड ​​ड्रग मॉलेक्यूल के फास्ट-ट्रैक विकास के लिए SERDB-DST ने IIT (BHU) वाराणसी में अनुसंधान के लिए सहयोग को मंजूरी दी
  • ट्राइफेड कोविड ​​-19 के कारण संकट में पड़े आदिवासी कारीगरों को हरसंभव सहायता प्रदान करेगी
  • पीएसए और डीएसटी ने संयुक्त रूप से राष्ट्रीय विज्ञान प्रौद्योगिकी और नवाचार नीति 2020 के निर्माण की प्रक्रिया की शुरुआत की
  • कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग ने विभिन्न बागवानी फसलों के लिए 2019-20 का दूसरा अग्रिम अनुमान जारी किए हैं
  • कोविड के लक्षण विकसित होने पर, घबराएं नहीं, तुरंत 1075 पर कॉल करें #IndiaFightsCorona #BreakTheStigma

यहां तो जगह ही नहीं बची, लाशों को दफ़नायें कहाँ ?

ये हाल है कोरोना काल का जहां कोरोना वास्तव में काल बन कर तांडव मचा रहा है और मरने वालों की लाइन लग गई है. बुरी हालत और बुरी तब हो गई जब पता चला कि लाशों को दफनाने की अब और जगह नहीं बची है..  

यहां तो जगह ही नहीं बची, लाशों को दफ़नायें कहाँ ?

नई दिल्ली.  दुनिया की महामारी ब्राज़ील की त्रासदी बन गई है. मरने वालों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है और मरने वालों को दफनाने वाली जगह कम पड़ती जा रही है. कोरोना का नया वैश्विक एपिसेंटर ब्राज़ील कोरोना संक्रमण के मामलों में रूस को पीछे छोड़ते हुए पूरी दुनिया में दूसरे पायदान पर पहुंच गया है. 

 

पिछले 24 घंटे में मारे गए सवा हज़ार लोग 

कोरोना ने अपना नया शिकार बनाया है ब्राजील को. रूस और ब्राजील ये दो देश हैं जो कोरोना संक्रमण के मामले में सबसे ऊपर दिख रहे हैं. ब्राज़ील कोरोना का नया निशाना है. पिछले दो दिनों में यहां  कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या बड़ी बुरी तरह बढ़ी है. इस दुर्दशा का आकलन सिर्फ इस बात से लगाया जा सकता है कि यहां एक दिन में कोरोना ने 1179 लोगों की जान ले ली है.

कब्रिस्तान नहीं बचे दफनायें किधर?

हालत इतनी बुरी है कि मरने वालों के लिए दो गज जमीन अब उपलब्ध नहीं है इस देश में. ब्राजील का  सबसे बड़ा कब्रिस्तान पूरा भर चुका है और नए शव दफनाने के लिए जगह नहीं मिल पा रही है. स्थिति की भयावहता ऐसे समझी जा सकती है कि लोग अपने परिजनों के लाशें कब्रिस्तान के बाहर और सड़कों पर ही छोड़ कर लौटने लगे हैं. 

तीन लाख उन्तालीस हज़ार हुए हैं संक्रमित 

इस दक्षिण अमेरिकी देश में अब तक तीन लाख उन्तालीस हज़ार हुए हैं संक्रमित. कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा यहां साढ़े इक्कीस हज़ार को पार कर गया है. पिछली बार 12 मई को ब्राज़ील में सिर्फ एक दिन में 881 लोगों की जान गई थी. अधिकारियों का अनुमान बताता है कि ब्राजील में हालात अभी और बिगड़ सकते हैं.

ये भी पढ़ें. कोरोना लव स्टोरी: पहली नज़र का प्यार और कानपुर का बाजार