बेडरूम की आवाजें सुनने के लिए पड़ोसी ने की ये घिनौनी हरकत, बेड में लगाई थी ये मशीन

महिला ने अपनी पालतू बिल्लियों को खिलाने के लिए चाबियां दी थीं. पड़ोसी ने मौका पाकर बेडरूम में रिकॉर्डर लगा दिए. लेकिन एक दिन खुद उन्हें निकालने पहुंचा और पकड़ा गया. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Oct 3, 2022, 11:52 AM IST
  • महिला ने उसे पकड़ने के लिए घर में एक कैमरा लगाया
  • आरोपी महिला के जाल में फंस गया और पकड़ा गया

ट्रेंडिंग तस्वीरें

बेडरूम की आवाजें सुनने के लिए पड़ोसी ने की ये घिनौनी हरकत, बेड में लगाई थी ये मशीन

लंदन: एक महिला यह देखकर घबरा गई कि उसके पड़ोसी ने उसके घर में वॉयस रिकॉर्डर लगा दिए है. यहां तक महिला के बेडरूम और बेड में भी ये वॉयस रिकॉर्डर लगाए गए. दरअसल महिला ने अपनी पालतू बिल्लियों को खिलाने के लिए चाबियां दी थीं. इसी का फायदा उठाकर पड़ोसी ने वॉयर रिकॉर्डर लगा दिए. 

कैसे पकड़ा गया
द डेली स्टार की रिपोर्ट के मुताबिक महिला ने उसे पकड़ने के लिए घर में एक कैमरा लगाया. एक दिन पड़ोसी उस वॉयर रिकॉर्डर को निकालने आया और पकड़ा गया. 59 वर्षीय विलियम नोलन (आरोपी पुरुष) और उनकी पत्नी की पड़ोसी डेबी वेयरिंग-जोन्स से अच्छे संबंध थे.

भरोसे का कत्ल
एक विधवा महिला 64 वर्षीय डेबी कहती हैं कि वह उस समय भयभीत हो गईं जब उन्हें अपनी कॉफी टेबल के नीचे और फिर अपने बेडरूम में हेडबोर्ड के पीछे एक वॉयस रिकॉर्डर टेप मिला. फिर महिला ने रिकॉर्डिंग किट लेने आए बदमाश को पकड़ने के लिए गुप्त वेबकैम लगाया. जब डेबी ने फुटेज को देखा, तो उसने नोलन को अपने घर में देखा, जो स्पाइवेयर को निकाल रहा था.  डेबी ने कहा कि वे "सामान्य, मित्रवत पड़ोसी" थे, जो एक-दूसरे पर भरोसा करते थे. उसने कहा: “मैं वास्तव में हमेशा खुद को भाग्यशाली मानती थी कि वे पड़ोसी के रूप में हैं. पर बेशक अब मेरी सोच बदल गई है. 

डेबी अपने साथी के साथ घर पर रात का खाना खा रही थी, तभी उसे टेबल के नीचे एक काले रंग का प्लास्टिक का डिब्बा मिला, जो दो तरफा टेप से बंधा हुआ था. उसने शुरू में सोचा था कि यह उसके पोते के खिलौनों में से एक हो सकता है, लेकिन जल्द ही इंटरनेट खोज के बाद उसे एहसास हुआ कि यह स्पाइवेयर था. जब उन्होंने और खोज की, तो उन्हें बेड पर हेडबोर्ड के पीछे रिकॉर्डर मिला. उन्होंने पुलिस को खोज की सूचना दी, लेकिन कहा गया कि जबरन प्रवेश के कोई संकेत नहीं थे, उसे और सबूत की आवश्यकता होगी.

कैमरे लगाने के बाद डेबी ने नोलन की पत्नी से कहा कि वह बाहर जाने वाली है. आधे घंटे बाद उसे अपने लापता उपकरणों की तलाश करते हुए आरोपी फुटेज में कैद हो गया.  डैड-ऑफ-फोर नोलन ने पीछा करने का आरोप स्वीकार किया और उन्हें 15 सप्ताह के लिए जेल में डाल दिया गया. न्यायाधीश डेविड वेन ने मामले को सबसे गंभीर पीछा करने वाले अपराधों में से एक के रूप में वर्णित किया. 

ये भी पढ़िए- ब्राजील के जिंदा नास्त्रेदमस ने की भविष्यवाणी, होने वाला है परमाणु विस्फोट और वर्ल्ड वार-3

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़