पत्नी को गिफ्ट किया "चांद का टुकड़ा", कानूनी तरीके से चांद पर खरीदी 3 एकड़ जमीन

उनका यह कारनामा सच होने के साथ ही लीगल भी है. दरअसल, अमेरिका के न्यूयॉर्क सिटी स्थित फर्म 'लूनर सोसाइटी इंटरनेशल' चांद पर जमीन बेच रही है,

पत्नी को गिफ्ट किया "चांद का टुकड़ा", कानूनी तरीके से चांद पर खरीदी 3 एकड़ जमीन
फाइल फोटो

अजमेर/भोपालः अगर हम आपसे कहें कि आप चांद पर ज़मीन खरीद सकते हैं और आपको बस कुछ डॉलर खर्च करने होंगे, तो शायद आप इसे झूठ मानेंगे. लेकिन राजस्थान के अजमेर में रहने वाले धर्मेंद्र अनीजा ने कुछ ऐसा ही कर दिखाया है. उन्होंने अपनी शादी की 8वीं सालगिरह पर पत्नी को 'चांद का टुकड़ा' गिफ्ट किया है.

कोरोना वैक्सीन में सुअर की चर्बी को लेकर दारुल उलूम ने नहीं दिया फतवा, कही यह बड़ी बात

उनका यह कारनामा सच होने के साथ ही लीगल भी है. दरअसल, अमेरिका के न्यूयॉर्क सिटी स्थित फर्म 'लूनर सोसाइटी इंटरनेशल' चांद पर जमीन बेच रही है, पूरे वैध तरीके से. कंपनी चांद पर जमीन खरीदने वालों को वहां की शहरियत भी देती है. खरीदने वाले चाहे तो मुस्तकबिल में अपनी लूनर प्रॉपर्टी बेच भी सकते हैं.

Video: स्टेशन पर खड़ी थी ट्रेन में के इंजन से उठने लगे आग के गोले, देखिए फिर क्या हुआ

अजमेर निवासी धर्मेंद्र अनीजा एनआरआई (Non-Resident Indian) हैं. वह ब्राजील (Brazil) में रहते हैं. उन्होंने अपनी पत्नी सपना अनीजा को सालगिरह पर चांद की 3 एकड़ जमीन खरीद कर तोहफे में दी. धर्मेंद्र ने वहां की सिटीजनशिप और चांद पर जमीन की रजिस्ट्री भी दी है. 

पाकिस्तान: एक ऐसा त्योहार जिसमें महिलाएं चुनती हैं अपना पति, शादी से पहले रहती हैं लड़के के घर

चांद पर उनकी जमीन 5.6 डिग्री पूर्वी रेखांश (Longitude) और 14.3 डिग्री उत्तरी अक्षांश (Latitude) पर मौजूद है. उनकी जमीन का पता 'ट्रैक्ट पार्सल नंबर 377, 378 एंड 379, मून'  है. इस 3 एकड़ जमीन का फाइल नंबर 14253182f है. अगर इस जमीन पर मुस्तकबिल में कोई रिसर्च सेंटर कायम होता है, तो उसकी रॉयल्टी भी धर्मेंद्र को मिलेगी.

लापरवाही की हद: डाक विभाग ने छाप दिए मुन्ना बजरंगी और छोटा राजन के डाक टिकट

अजमेर में धर्मेंद्र ने मनाई शादी की सालिगरह
बीते 24 दिसंबर को धर्मेंद्र और सपना ने अपनी शादी की सालिगरह अजमेर में मनाई. इसके लिए बकायदा इवेंट कंपनी रकम इंटरनेशल ने तैयारी की थी. इस इवेंट में आर्टिफिशियल बादल भी बनाए गए थे, जो हवा में तैर रहे थे. ऐसा महसूस हो रहा था जैसे बादलों के बीच दोनों खड़े हैं और वहीं पर चांद का टुकड़ा गिफ्ट किया जा रहा है. चांद पर खरीदी गई जमीन की रजिस्ट्री देख सपना की आंखें भर आईं. धर्मेंद्र अनीजा का कहना है कि वह चांद पर खरीदी गई जमीन की कीमत नहीं बता सकते, क्योंकि गिफ्ट के पीछे उनकी भावनाएं जुड़ी हैं, जिसकी कीमत वह नहीं तय कर सकते.

Zee Salaam LIVE TV