close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्‍ली का प्रदूषण महाराष्‍ट्र में नहीं आएगा, CM का चेहरा शिवसेना का ही होगा: संजय राउत

संजय राउत ने कहा कि महाराष्‍ट्र की राजनीति और चेहरा बदल रहा है. आप जिसे 'हंगामा' कह रहे हैं, वो 'हंगामा' नहीं दरअसल न्‍याय और अधिकारों की लड़ाई है. इसमें जीत हमारी होगी.

दिल्‍ली का प्रदूषण महाराष्‍ट्र में नहीं आएगा, CM का चेहरा शिवसेना का ही होगा: संजय राउत

मुंबई: महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Elections 2019) के बाद बीजेपी और शिवसेना के बीच सरकार गठन को लेकर गतिरोध बना हुआ है. इस बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि महाराष्‍ट्र में मुख्‍यमंत्री केवल शिवसेना का ही होगा. मुख्‍यमंत्री केवल शिवसेना का ही होगा. महाराष्‍ट्र की राजनीति और चेहरा बदल रहा है. आप जिसे 'हंगामा' कह रहे हैं, वो 'हंगामा' नहीं दरअसल न्‍याय और अधिकारों की लड़ाई है. इसमें जीत हमारी होगी.

संजय राउत ने कवि दुष्यंत कुमार की कविता के जरिये भी बीजेपी पर निशाना साधा. संजय राउत के ट्वीट को महाराष्‍ट्र के मौजूदा राजनीतिक परिदृश्य से जोड़कर देखा जा रहा है. उन्‍होंने कहा, ''सिर्फ हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद नही मेरी कोशिश है कि सूरत बदलनी चाहिए.'' यानी इसके जरिये उन्‍होंने कहा कि शिवसेना महाराष्ट्र में राजनीतिक हालात को लेकर सिर्फ हंगामा नहीं खड़ा कर रही है बल्कि महाराष्ट्र की राजनीतिक सूरत बदलना चाहती है.

उद्धव के करीबी ने RSS को लिखा खत, बातचीत के लिए गडकरी को मध्‍यस्‍थ बनाने को कहा

इससे पहले संजय राउत ने कहा कि सब कुछ पारदर्शी और स्‍पष्‍ट है. दिल्ली का प्रदूषण महाराष्‍ट्र में नहीं आएगा. महाराष्ट्र का निर्णय महाराष्ट्र में होगा. उद्धव ठाकरे इसका निर्णय करेंगे.

शिवसेना और कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन के साथ मिलकर सरकार बनाने से जुड़े कयास लगाए जा रहे हैं कि क्‍या कांग्रेस बाहर से समर्थन करेगी और एनसीपी नेता शरद पवार मुख्‍यमंत्री बनेंगे? इस पर संजय राउत ने कहा कि ये सरासर गलत है. शरद पवार देश के इतने बड़े नेता हैं, ये जो अफवाह उड़ा रहे हैं, उसको बंद करें. ये कौन उड़ा रहा है कि शिवसेना का NCP को समर्थन और कांग्रेस का बाहर से समर्थन? राजनीति में बातें उड़ती हैं...बातें उड़ानेवाले लोग भी होते हैं... और बातों-बातों में बहुत सी बात बन जाती है.

जब उनसे पूछा गया कि इस तरह की भी खबरें हैं कि उद्धव से मिलने फडणवीस मातोश्री जा सकते हैं या फोन कर सकते हैं? इस पर उन्‍होंने कहा कि ये तो बस खबरें आई हैं ना...आपने देखी तो नहीं हैं ना...कैमरे पर विश्वास रखना चाहिए, कयासों पर विश्वास नहीं करना चाहिए.

LIVE TV

तरुण भारत ने शिवसेना पर साधा निशाना
इस बीच आरएसएस के विचारों से प्रभावित अखबार तरुण भारत ने आज फिर शिवसेना पर निशाना साधा. अखबार ने संजय राउत को 'कम अक्ल' वाला कहा. अखबार के मुताबिक, ''संजय राउत ने कहा कि तरुण भारत का नाम नहीं जानता. ऐसा कहने वाले संजय राउत ने अपनी कम अक्ल होने का सबूत दिया. पेपर का नाम नहीं जानते तो प्रवक्ता किसने बनाया. ऐसे स्वघोषित अनुभवी पत्रकार का अभिनंदन किया जाना चाहिए.''

अखबार ने कहा कि 175 विधायकों के समर्थन मिलने के संजय राउत के दावे पर खुद शरद पवार ने ही सवाल उठा दिए हैं. यह संख्या कहां से कैसे आई, खुद पवार ने संजय राउत से पूछा है. कांग्रेस कभी भी शिवसेना को समर्थन नहीं देने वाली है. जनादेश का सम्मान सिर्फ बीजेपी ही क्यों करे? शिवसेना को भी करना चाहिए.

अखबार तरुण भारत ने कहा कि सत्ता की भूख के चलते संयुक्त महाराष्ट्र का खयाल भी शिवसेना को नहीं है. बाला साहेब ठाकरे की जिंदगी भर की कमाई को धूल में मिलाने की कोशिश की जा रही है, सामान्य शिवसैनिक इसे कभी बर्दाश्त नही करेगा.

 

(इनपुट: नित्‍यानंद शर्मा के साथ)