Car मेकैनिक ने करोड़ों की लैंबॉर्गिनी को केवल 10 लाख में बनाया, इस CM को किया गिफ्ट
topStories1hindi1464027

Car मेकैनिक ने करोड़ों की लैंबॉर्गिनी को केवल 10 लाख में बनाया, इस CM को किया गिफ्ट

Assam CM Car Gift: असम के सीएम को एक शख्स ने खुद से बनाई लैंबॉर्गिनी कार गिफ्ट की है. खुद मुख्यमंत्री ने इस कार को चलाया और गिफ्ट को स्वीकार किया. सीएम हिमंत बिस्वा सरमा के कार चलाने का वीडियो भी सोशल मीडिया पर मौजूद है. 

Car मेकैनिक ने करोड़ों की लैंबॉर्गिनी को केवल 10 लाख में बनाया, इस CM को किया गिफ्ट

CM Himanta Biswa Sarma Gets Lamborghini: असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा को एक स्पेशल गिफ्ट मिला है. उनके एक चाहने वाले ने सीएम को लैंबॉर्गिनी जैसी कार गिफ्ट की है. खास बात है कि इस कार को शख्स ने खुद तैयार किया है. गिफ्ट देने वाला युवक पेशे से कार मेकैनिक है. इस गाड़ी को उसने महज 10 लाख 20 हजार रुपए में तैयार किया है. खुद मुख्यमंत्री ने इस कार को चलाया और गिफ्ट को स्वीकार किया. सीएम हिमंत बिस्वा सरमा के कार चलाने का वीडियो भी सोशल मीडिया पर मौजूद है. 

जानकारी के मुताबिक, करीमगंज के रहने वाले नुरुल हक (Nurul Haque) पेशे से कार मेकैनिक हैं. उन्होंने खास सीएम के लिए अपने हाथों से लैंबॉर्गिनी जैसी दिखने वाली कार बना डाली. नुरुल हक सीएम हिमंत बिस्वा सरमा के लिए सफेद रंग की कार लेकर सिलचर पहुंच गए. नुरुल ने मारुति स्विफ्ट डिज़ायर को मोडिफाई करके लैंबॉर्गिनी जैसा बनाया है. सीएम हिमंत ने भी गिफ्ट स्वीकार करते हुए इस गाड़ी को चलाकर देखा. आसपास के लोग भी इस कार को देखकर हैरानी में थे. इसमें आगे की तरफ काफी चमकदार लाइट्स लगाई गई हैं, जो रात के समय बेहद आकर्षक नहीं आ रही हैं. 

दरअसल, मगंलवार को सिलचर में असम सरकार की कैबिनेट बैठक हुई थी. इस दौरान रात में सीएम बिसवा सरमा सिलचर में ही रुके हुए थे. जब मुख्यमंत्री को नुरुल हक की इस सोच और खोज के बारे में पता चला तो सीएम खुद नूरुल के पास पहुंच गए. सीएम ने खुद गाड़ी चलाई और यह तोहफा कुबूल किया. उन्होंने नुरुल हक की काबिलियत को सराहा और गाड़ी लेकर गुवाहाटी आने का निमंत्रण दिया.

रिपोर्ट के मुताबिक, नुरुल हक ने लॉकडाउन के दौरान इस कार की डिजाइनिंग का काम शुरू किया था. उन्होंने 10 लाख 20 हजार रुपए खर्च कर इस कार को मोडिफाई किया है. नुरुल कहते हैं, यह कार सीएम को गिफ्ट करना उनका सपना था और यही इस कार को बनाने के पीछे की एकमात्र वजह है. 

(इनपुट: सौमित सेन गुफ्ता, गुवाहाटी) 

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं.

Trending news