केबल टीवी देखना होगा सस्ता, जानिए कितने रुपए सस्ता हुआ प्रति चैनल

 भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) ने ग्राहकों को बड़ा तोहफा दिया है. ट्राई ने केबल टीवी ग्राहकों को बड़ी राहत देते हुए कीमतों में कटौती की है. चैनल के अधिकतम रिटेल मूल्य (MRP) को 19 रुपये से घटाकर 12 रुपये कर दिया है. अब केबल टीवी यूजर्स कम कीमत में ज्यादा चैनल देख सकेंगे. ट्राई के मुताबिक, एक मार्च, 2020 से ग्राहकों को 130 रुपये में 200 चैनल मिलेंगे. अब कोई भी चैनल जो 12 या 12 रुपये से कम है वह चैनल्स के बुके का पार्ट होगा

केबल टीवी देखना होगा सस्ता, जानिए कितने रुपए सस्ता हुआ प्रति चैनल
प्रतीकात्मक तस्वीर....

नई दिल्ली: भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) ने ग्राहकों को बड़ा तोहफा दिया है. ट्राई ने केबल टीवी ग्राहकों को बड़ी राहत देते हुए कीमतों में कटौती की है. चैनल के अधिकतम रिटेल मूल्य (MRP) को 19 रुपये से घटाकर 12 रुपये कर दिया है. अब केबल टीवी यूजर्स कम कीमत में ज्यादा चैनल देख सकेंगे. ट्राई के मुताबिक, एक मार्च, 2020 से ग्राहकों को 130 रुपये में 200 चैनल मिलेंगे. अब कोई भी चैनल जो 12 या 12 रुपये से कम है वह चैनल्स के बुके का पार्ट होगा

ट्राई का कहना है कि पहले जो ब्रॉडकास्टर अपना चैनल 5 रुपये में बेच रहे थे उन्होंने अपने चैनल का रेट बढ़ाकर 19 रुपये कर दिया था. एसडी या एचडी चैनल जिनकी कीमत अलग-अलग थी अब वह 19 रुपये के हो जाएंगे. आपको बता दें कि पहले केबल टीवी ग्राहकों को 130 रुपए में 100 फ्री टू एयर चैनल देखने को मिलते थे. टैक्स मिला दिया जाए तो इसका शुल्क 154 रुपए हो जाता था. इसमें से भी 100 में से 26 चैनल सिर्फ प्रसार भारती के हुआ करते थे. आसान शब्दों मे कहें तो नए नियम के तहत अब किसी भी कंपनी का डीटीएच इस्तेमाल करने वाले यूजर को प्रोवाइडर को प्रतिमाह 130 रुपए (बिना टैक्स के) नेटवर्क कैपेसिटी फीस (NCF) में 100 की जगह 200 चैनल देखने को मिलेंगे. NFC वह चार्ज है जो डीटीएच कनेक्शन एक्टिव रखने के लिए कस्टमर्स को देना होता है. 

ट्राई ने एक बयान में कहा कि एक घर में एक से अधिक टीवी होने पर केबल ऑपरेटर द्वारा ग्राहकों से नेटवर्क क्षमता शुल्कक के रूप में अधिक शुल्कट वसूल करने की शिकायतें मिली हैं. ट्राई के बयान के मुताबिक जिन घरों में एक व्य्क्ति के नाम पर एक से अधिक टीवी कनेक्शहन हैं ऐसे घरों में दूसरे और अतिरिक्तं टीवी कनेक्शकन के लिए अधिकतम 40 प्रतिशत शुल्क  लिया जाएगा.

ट्राई ने नियमों को अपनी वेबसाइट पर अपलोड किया है. कंपनियों को टैरिफ की जानकारी 15 जनवरी को वेबसाइट पर डालनी होगी. इसके अतिरिक्त अपने मनपसंद चैनल के देखने के लिए तय रकम का पेमेंट करना पड़ता है. सभी प्रमुख ब्रॉडकास्टर्स ने अपने पैकेज एनाउंस कर रखे हैं. ब्रॉडकास्टर 12 रुपये से कम कीमत के चैनल ही बुके में दे सकेंगे. नए नियमों के बाद से उपभोक्ताओं को करीब 33 फीसदी का डिस्कांउट मिलेगा.

ये वीडियो भी देखें: