close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हिमाचल स्थित यह प्रसिद्ध मंदिर रेल लिंक से जुड़ा, 1974 में रखी गई थी आधारशिला

इस रेल लाइन पर 16 बड़े और पुल और दो स्टेशन है और इसे बनाने में कुल 335 करोड़ रुपये की लागत आई है.

हिमाचल स्थित यह प्रसिद्ध मंदिर रेल लिंक से जुड़ा, 1974 में रखी गई थी आधारशिला
(फोटो साभार @manojsinhabjp)

ऊना (हिमाचल प्रदेश): उत्तर भारत के सबसे व्यस्त धार्मिक स्थलों में से एक हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले स्थित चिंतपूर्णी माता मंदिर को मंगलवार को रेल लाइन से जोड़ दिया गया. केंद्रीय रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने यहां एक कार्यक्रम में अंब से दौलतपुर चौक तक 16 किलोमीटर लंबे ब्रॉड गेज लाइन का उद्घाटन किया. एक अधिकारी ने न्यू एजेंसी आईएएनएस को बताया कि इस रेल लाइन पर 16 बड़े और पुल और दो स्टेशन है और इसे बनाने में कुल 335 करोड़ रुपये की लागत आई है. 

रेलमंत्री सिन्हा ने इसके अलावा नई दिल्ली और अंब-अंदौरा के बीच प्रतिदिन चलने वाली हिमाचल एक्सप्रेस का भी उद्घाटन किया. नांगल से तलवाड़ा ब्रॉड गेज लाइन 83 किलोमीटर लंबा है, जिस पर दौलतपुर चौक ऊना जिले का अंतिम स्टेशन है. पंजाब में दौलतपुर चौक से तलवाड़ा तक आठ किमी का ट्रैक अभी भी निमार्णाधीन है. सिन्हा ने कहा कि 2022 तक पंजाब में मुकेरियन तक रेल लाइन का विस्तार किया जाएगा.

 

 

ट्रेन हादसों पर लगाम के लिए ट्रेन में लगेंगे लाइट इंडिकेटर, इस तरह करेगा काम

इस रेल लाइन की आधारशिला 1974 में तत्कालीन रेल मंत्री ललित नारायण मिश्रा ने अंब में रखी थी. इस रेल लाइन पर कुनेरन गांव में पड़नेवाले एक स्टेशन का नाम चिंतपूर्णी मार्ग रखा गया है क्योंकि यह चिंतपूर्णी मंदिर के सबसे करीब है, जहां पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के ज्यादातर तीर्थयात्री आते हैं. यह मंदिर रेलवे स्टेशन से 25 किलोमीटर दूर स्थित है, जहां सड़क मार्ग से पहुंचा जा सकता है. 

(इनपुट-आईएएनएस)