Exclusive: एयर इंडिया की 100% हिस्सेदारी बेच सकती है सरकार, ये है पूरी प्लानिंग

घाटे में चल रही एयर इंडिया को बेचने के लिए सरकार की तरफ से एक बार फिर से कदम बढ़ाया जा सकता है. सूत्रों के हवाले से आ रही खबर के अनुसार महाराजा में सरकार 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी कर रही है.

Exclusive: एयर इंडिया की 100% हिस्सेदारी बेच सकती है सरकार, ये है पूरी प्लानिंग

नई दिल्ली : घाटे में चल रही एयर इंडिया को बेचने के लिए सरकार की तरफ से एक बार फिर से कदम बढ़ाया जा सकता है. सूत्रों के हवाले से आ रही खबर के अनुसार महाराजा में सरकार 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी कर रही है. सूत्रों का कहना है कि साल की दूसरे छमाही में सरकार एयर लाइन को बेचने की तैयारी कर रही है. इससे पहले भी सरकार की तरफ से एयर इंडिया को बेचने के लिए कोशिश हो जा चुकी है, लेकिन कर्ज के कारण इसे खरीदार नहीं मिल सका.

इसलिए कोई बड़ा खरीदार सामने नहीं आया
सूत्रों का कहना है कि इस बार सरकार दूसरी कोशिश में एयर इंडिया को बेचने के लिए पहले की असफलता से सबक लेते हुए कई बड़े और अहम बदलाव भी कर सकती है. इस बार सरकार एयर इंडिया विनिवेश को लेकर सरकार की तरफ से दो बड़े बदलाव किए जा सकते हैं. पहला यह कि एयर इंडिया 74 फीसदी नहीं बल्कि 100 फीसदी हिस्सेदारी को बेचा जा सकता है. माना जा रहा है पिछली बार एयर इंडिया को बेचने की कोशिश में असफलता का सबसे बड़ा कारण यह था कि सरकार खुद 26 प्रतिशत हिस्सेदारी रखना था जिसके चलते कोई भी बड़ा खरीदार आगे नहीं आया.

एयर इंडिया पर 25 हजार करोड़ का कर्ज
दूसरा बड़ा कदम सरकार की तरफ से यह उठाया जा सकता है कि फिलहाल एयर इंडिया पर 25 हजार करोड़ का कर्ज है उसका बड़ा हिस्सा स्पेशल पर्पज व्हीकल (SPV)की तरफ डायवर्ट कर दिया जाए. इसके पहले जब एयर इंडिया पर तकरीबन 55 हजार करोड़ रुपये का कर्ज था तब बोझ को कम करने के लिए सरकार ने करीब 29 हजार करोड़ रुपये एसपीवी में डाले थे. जानकारों का मानना है कि एयर इंडिया पर 25 हजार करोड़ का कर्ज एक बड़ा कारण हो सकता है, जिसकी वजह से कोई भी खरीदार आगे नहीं आ रहा.