केवल लोकल वेंडर्स से सामान खरीदेगी रेलवे, पॉलिसी में किया बड़ा बदलाव

Indian railways आत्मनिर्भर भारत मिशन (Atma Nirbhar) के लिए पब्लिक प्रोक्योरमेंट पॉलिसी में बड़ा बदलाव करने जा रही है.

केवल लोकल वेंडर्स से सामान खरीदेगी रेलवे, पॉलिसी में किया बड़ा बदलाव
फाइल फोटो

नई दिल्लीः Indian railways आत्मनिर्भर भारत मिशन (Atma Nirbhar) के लिए पब्लिक प्रोक्योरमेंट पॉलिसी में बड़ा बदलाव करने जा रही है. सूत्रों के मुताबिक रेलवे पब्लिक प्रोक्योरमेंट नीति में बदलाव की तैयारी कर चुकी है और इसके लिए कॉमर्स मंत्रालय के अंतर्गत DPIIT विभाग से सलाह भी मांगी है. 

नीति में बदलाव के तहत अब लोकल वेंडर्स को बढ़ावा और सहूलियत देने के लिए पॉलिसी में कई बदलाव किए जाएंगे. मसलन, हेल्पलाइन नंबर और FAQ शामिल किया जाएगा, जिसके जरिए लोकल वेंडर्स (Local vendors) के रेलवे के साथ व्यापार करने से लेकर किसी भी सवाल का जवाब आसानी से मिल सकेगा.

सूत्रों के मुताबिक लोकल वेंडर्स से ही ज्यादा सामान खरीदने पर जोर रहेगा. इसके लिए रेलवे गवर्मेंट ई-मार्केटप्लेस या GeM पोर्टल के जरिए ही ज्यादा सामान खरीदेगी. रेलवे सालाना करीब 50,000-70,000 करोड रुपये तक का सामान पब्लिक प्रोक्योरमेंट के जरिए खरीदती है. रेलवे की नीति में बदलाव का बड़ा फायदा देश के मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर खासकर MSME सेक्‍टर को मिलेगा.

हाल ही में वित्त मंत्रालय ने सरकारी प्रोक्योरमेंट नीति में बदलाव कर पड़ोसी देशों जैसे चीन और पाकिस्तान से सामान नहीं खरदीने पर जोर दिया है. सरकार ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप से निपटने और अर्थव्यवस्था को बूस्‍ट करने के मकसद से सरकार ने हाल ही में आत्मनिर्भर भारत अभियान (Atma Nirbhar bharat abhiyan) के तहत 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया था.

फाइनेंस डिपार्टमेंट के एक अधिकारी के मुताबिक कोरोना संकट के बाद देश में तेजी से रिकवरी देखने को मिल सकती है. कोविड-19 के कारण पैदा हुई आर्थिक सुस्ती से उबरने के लिए कृषि (Agriculture) पर निर्भरता अब पहले के मुकाबले ज्यादा बढ़ गई है. कृषि क्षेत्र के विकास का असर मैन्‍युफैक्‍चरिंग और FMCG सेक्टर पर भी पड़ेगा.

यह भी पढ़ेंः SBI ने लॉन्च किया IRCTC के साथ Co-Branded रूपे कार्ड, टिकट बुकिंग होगी सस्ती

ये भी देखें---