इंफोसिस का चौथी तिमाही शुद्ध लाभ 3.5% बढ़ा, शेयर मूल्य 6 प्रतिशत गिरा

आईटी सेवा क्षेत्र की प्रमुख कंपनी इंफोसिस का एकीकृत शुद्ध लाभ 31 मार्च 2015 को समाप्त तिमाही में 3.5 प्रतिशत बढ़कर 3,097 करोड़ रुपए रहा। कंपनी के लिये कारोबार करना चुनौतीपूर्ण बना रहा और उसके तिमाही परिणाम बाजार की उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाये।

इंफोसिस का चौथी तिमाही शुद्ध लाभ 3.5% बढ़ा, शेयर मूल्य 6 प्रतिशत गिरा

चेन्नई : आईटी सेवा क्षेत्र की प्रमुख कंपनी इंफोसिस का एकीकृत शुद्ध लाभ 31 मार्च 2015 को समाप्त तिमाही में 3.5 प्रतिशत बढ़कर 3,097 करोड़ रुपए रहा। कंपनी के लिये कारोबार करना चुनौतीपूर्ण बना रहा और उसके तिमाही परिणाम बाजार की उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाये।

देश की दूसरी सबसे बड़ी साफ्टवेयर निर्यातक कंपनी ने इससे पिछले साल 2013-14 की चौथी तिमाही में 2,992 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हासिल किया था।

समाप्त वित्त वर्ष 2014-15 की चौथी तिमाही (जनवरी से मार्च) के दौरान कंपनी की कुल आय 4.2 प्रतिशत बढ़कर 13,411 करोड़ रुपये रही जो 2013-14 की इसी तिमाही में 12,875 करोड़ रुपये थी। मार्च तिमाही के परिणामों की तुलना इससे पिछली तिमाही अक्तूबर-दिसंबर, 2014 से करने पर कंपनी का शुद्ध लाभ 4.7 प्रतिशत घट गया। तीसरी तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 3,250 करोड़ रुपये रहा था। वहीं आय भी 2.8 प्रतिशत कम रही जो उस समय 13,796 करोड़ रुपये थी।

इंफोसिस ने कहा कि वित्त वर्ष 2015-16 में उसकी आय वृद्धि 10 से 12 प्रतिशत के दायरे में रहने का अनुमान है जो नासकॉम द्वारा उद्योग की वृद्धि के लिये व्यक्त 12 से 14 प्रतिशत के अनुमान से कम है। इंफोसिस के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) विशाल सिक्का ने कहा, ‘हम 10 से 12 प्रतिशत की वृद्धि की उम्मीद कर रहे हैं। हम 2020 तक 20 अरब डालर की आय का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं। हमारी औसत आय प्रति कर्मचारी 2020 तक 80,000 डालर होने की उम्मीद है।’