close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फिर से विवादों में Johnson and Johnson, 'बेबी केयर शैम्पू' से कैंसर का खतरा!

बेबी शैम्पू जिसका बैच नंबर बीबी 58177 और बीबी 58204 है, इस प्रोडक्ट में पिछले दिनों हुई जांच के दौरान हानिकारक तत्व पाए गए हैं.

फिर से विवादों में Johnson and Johnson, 'बेबी केयर शैम्पू' से कैंसर का खतरा!
इस शैंपू में हानिकारक फार्मेल्डिहाइड होने की रिपोर्ट है.

आशुतोष शर्मा, जयपुर: हर माता-पिता अपने बच्चों के लिए सबसे बेहतर और बड़ी कंपनी के प्रोडक्ट्स खरीदकर इस्तेमाल करते हैं ताकि उनका बच्चा स्वस्थ रहे और बच्चे की हेल्थ पर कोई दुष्प्रभाव ना पड़े. मगर एक ताजा मामला आपको ये सोचने पर मजबूर कर देगा कि जो प्रोडक्ट बड़ी बेफिक्री से आप अपने बच्चे के लिए खरीद रहे है कही वो आपके बच्चे के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक तो नहीं है. मशहूर ब्रांड जॉनसन एंड जॉनसन का एक ताजा मामला सामने आया है. ये कंपनी हिमाचल प्रदेश के बद्दी में बच्चों के लिए कई उत्पादों का निर्माण करती है. इस कंपनी के बेबी शैम्पू जिसका बैच नंबर बीबी 58177 और बीबी 58204 है, इस प्रोडक्ट में पिछले दिनों हुई जांच के दौरान हानिकारक तत्व पाए गए हैं.

इस बारे में सचेत करते हुए राजस्थान राज्य के सभी ड्रग्स कंट्रोल अफसरों को ड्रग्स बुलेटिन जारी कर सचेत किया गया है. राजस्थान ड्रग्स कंट्रोलर राजाराम शर्मा द्वारा जारी पत्र में बताया गया है कि जॉनसन बेबी शैम्पू के उपरोक्त दोनों बैच मानकों के अनुसार खरे नहीं उतरे हैं, जो कि खरीदारों के लिए नुकसानदेह हैं. इसलिए इस कंपनी के उक्त उत्पाद की बिक्री पर रोक  लगाते हुए बाजार से इसके स्टॉक को वापस मंगाया जाए. साथ ही वे कंपनी के अन्य बैचों की भी समय-समय पर जांच करें.

इस नामचीन बेबी पाउडर के कारण महिलाओं को हुआ ओवेरियन कैंसर, कंपनी देगी अरबों का हर्जाना

इस शैंपू में हानिकारक फार्मेल्डिहाइड होने की रिपोर्ट है. बता दें, फार्मेल्डिहाइड से कैंसर होने का खतरा होता है. राजस्थान ड्रग रेगुलेटर ने इस शैम्पू के 2 बैच- 'BB58204' औप 'BB58177'को टेस्ट किया था. ये शैम्पू सितंबर 2021 में एक्सपायर हो जाएंगे. राजस्थान ड्रग्स वॉचडॉग ने ड्रग्स कंट्रोल अफसर से नोटिस में कहा कि 'इन स्टॉक्स को किसी के भी द्वारा इस्तेमाल ना किया जाए. साथ ही मौजूदा स्टॉक को मार्केट से हटाया जाए. इसके अलावा ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक्स एक्ट 1940 के तहत जो भी एक्शन लिया जा सकता है वो लिया जाए.'

सांसदों की स्वास्थ्य मंत्री को चिट्ठी, जॉनसन एंड जॉनसन पर कार्रवाई की मांग 

2018 में अमेरिका में कुछ महिलाओं में जॉनसन एंड जॉनसन बेबी पाउडर की वजह से ओवेरियन (गर्भाशय) कैंसर के लक्षण मिले थे. मामला जब कोर्ट में पहुंचा तो महिला के वकीलों ने कहा कि उनके क्लाइंट को बेबी पाउडर में मौजूद अस्बस्ट्स की वजह से ओवेरियन कैंसर हुआ है. वकीलों का कहना है कि बेबी पाउडर में अबस्टस की मौजूदगी साल 1970 से प्रमाणित है. सुनवाई के बाद कोर्ट ने 22 पीड़ित महिलाओं को 4.69 अरब डॉलर मुआवजे का आदेश दिया था.

जॉनसन एंड जॉनसन के हिप रिप्‍लेसमेंट में निकली घटिया सामग्री? 20 लाख मुआवजे दे : समिति

इससे पहले 1982 में भी जॉनसन एंड जॉनसन की एक दवा से कुछ लोगों की मौत हो गई थी. विवाद बढ़ने के बाद कंपनी ने 3.1 करोड़ बोतलों को तुरंत वापस लिया था. 2008 में आरोप लगा कि कई उत्पाद में बदूब आ रहे हैं, इस शिकायत के बाद करीब तीन करोड़ यूनिट प्रोडक्स वापस लिए गए.