पोस्ट ऑफिस के इन स्कीम में करें निवेश, पाएं शानदार रिटर्न और टैक्स बेनिफिट्स

पोस्ट ऑफिस (India Post) में अगर टाइम डिपॉजिट (TD), सीनियर सिटिजन सेविंग्स स्कीम (SCSS), पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF), नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट्स (NSC). अगर आप इनमें निवेश करते हैं तो 80C के तहत सालाना 1.5 लाख तक इनकम टैक्स में छूट मिल जाएगी.

पोस्ट ऑफिस के इन स्कीम में करें निवेश, पाएं शानदार रिटर्न और टैक्स बेनिफिट्स
अगर आप 15 सालों के लिए प्रोविडेंट फंड में इंवेस्ट करते हैं तो 8 फीसदी का सालान इंटरेस्ट मिलेगा. (फाइल)

नई दिल्ली: सेविंग करने के दो मकसद होते हैं. पहला, सेविंग के जरिए हम अपने भविष्य को सुरक्षित रखते हैं, इसके अलावा टैक्स बेनिफिट्स के लिए भी हम अलग-अलग जगहों पर निवेश करते हैं. ऐसे में इस आर्टिकल में आपको पोस्ट ऑफिस में सेविंग्स की अलग-अलग स्कीम के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां अच्छा रिटर्न मिल रहा है, साथ ही इनकम टैक्स में भी बेनिफिट्स उठाये जा सकते हैं.  पोस्ट ऑफिस (India Post) में अगर टाइम डिपॉजिट (TD), सीनियर सिटिजन सेविंग्स स्कीम (SCSS), पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF), नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट्स (NSC). अगर आप इनमें निवेश करते हैं तो 80C के तहत सालाना 1.5 लाख तक इनकम टैक्स में छूट मिल जाएगी.

टाइम डिपॉजिट (TD)- यह एक साल, दो साल और तीन सालों का शॉर्ट टर्म सेविंग्स है. इसपर 7 फीसदी का इंटरेस्ट मिलता है. 5 सालों के लिए TD पर 7.8 फीसदी इंटरेस्ट रेट मिलता है. पांच सालों के लिए TD करने पर 80C का फायदा उठाया जा सकता है.

सीनियर सिटिजन सेविंग्स स्कीम (SCSS)- 60 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोग इसमें निवेश कर सकते हैं. इसपर 8.7 फीसदी इंटरेस्ट रेट मिलता है. एक साल में 10 हजार से ज्यादा निवेश करने पर TDS (Tax deducted at source) केवल इंटरेस्ट पर कटता है.

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)- अगर आप 15 सालों के लिए प्रोविडेंट फंड में इंवेस्ट करते हैं तो 8 फीसदी का सालान इंटरेस्ट मिलेगा, जो हर साल कंपाउंड जुड़ता है. PPF अकाउंट 100 रुपये से खुलवाये जा सकते हैं. एक साल में कम से कम 500 रुपये जमा करना होगा, अधिकतम सीमा 1.5 लाख है. इसके तहत निवेश का फायदा 80C के तहत उठाया जा सकता है.

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट्स (NSC)- इसमें निवेश करने पर सालाना 8 फीसदी इंटरेस्ट रेट मिलता है. साथ ही इस निवेश का फायदा 80C के तहत भी उठाया जा सकता है. इंटरेस्ट रेट कंपाउंड सालाना कैलकुलेट होता है, लेकिन मैच्युरिटी के बाद ही यह निकाला जा सकता है. अगर NSC के तहत 100 रुपया 5 सालों के लिए जमा करते हैं तो आपको 146.93 रुपये मिलेगा.