close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मेट्रोमैन श्रीधरन ने लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के प्रिंसिपल एडवाइजर पद से इस्तीफा दिया

LMRC के प्रधान सलाहकार के तौर पर श्रीधरन (87) पिछले कुछ माह से लखनऊ नहीं आए थे. दूसरे चरण में करिडोर पर जब मेट्रो संचालन शुरू हुआ, तब भी स्वास्थ्य खराब होने के कारण वह कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सके थे.

मेट्रोमैन श्रीधरन ने लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के प्रिंसिपल एडवाइजर पद से इस्तीफा दिया
मेट्रो मैन ई श्रीधरन. (फाइल फोटो)

लखनऊ: मेट्रोमैन और लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (LMRC) के प्रधान सलाहकार इंजीनियर श्रीधरन ने स्वास्थ्य संबंधी कारणों का हवाला देते हुए LMRC को अपना इस्तीफा भेज दिया है. वहीं LMRC ने त्याग पत्र को शासन को भेजकर अवगत कराया है. मेट्रो मैन लखनऊ मेट्रो परियोजना से शुरुआती दौर से जुड़े हुए हैं. लखनऊ मेट्रो के प्राथमिक फेस के शुभारंभ में वे लखनऊ आए थे. LMRC के प्रधान सलाहकार के तौर पर श्रीधरन (87) पिछले कुछ माह से लखनऊ नहीं आए थे. दूसरे चरण में करिडोर पर जब मेट्रो संचालन शुरू हुआ, तब भी स्वास्थ्य खराब होने के कारण वह कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सके थे.

लखनऊ मेट्रो के अधिकारियों की माने तो स्वास्थ खराब होने के बाद भी वह बराबर प्रबंध निदेशक कुमार केशव के संपर्क में थे, हर काम की जानकारी फोन पर लेते रहे. वे लखनऊ के अलावा आगरा, कानपुर व गोरखपुर में मेट्रो परियोजनाओं में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे थे. इसी का नतीजा है कि लखनऊ में ईस्ट वेस्ट कॉरिडोर के अलावा प्रदेश के तीन जिलों में मेट्रो का डीपीआर जहां बन चुका है. कानपुर व आगरा में मेट्रो का टेंडर भी जून में निकलने वाला था. 

मेट्रो स्टेशन पर बुर्का पहने महिलाओं को प्रवेश से रोका तो हुआ बवाल, जानें क्या है पूरा मामला

LMRC के प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने कहा, "श्रीधरन ने व्यक्तिगत रूप से उत्तर-दक्षिण करिडोर के निर्माण कार्य की निगरानी की. भूमिगत अनुभाग के निर्माण में उनका मूल्यवान मार्गदर्शन बहुत महत्वपूर्ण था. मैंने उनसे इस्तीफा नहीं देने का अनुरोध किया था, लेकिन उन्होंने कहा कि उनका स्वास्थ्य इस समय काम करने की इजाजत नहीं दे रहा है." मेट्रो सूत्रों की मानें तो जून के अंतिम सप्ताह में लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के प्रबंध निदेशक अब तक किए गए कार्यो से उन्हें अवगत कराने के लिए केरल जाएंगे और उनका हाल चाल लेंगे.