SBI ने अपने ग्राहकों को दी चेतावनी, ये काम करने पर गंवा देंगे गाढ़ी कमाई

एसबीआई ने अपने ग्राहकों को चेताते हुए कहा कि ग्राहक किसी भी व्यक्ति को कार्ड, पिन, सीवीवी, पासवर्ड न दें. क्योंकि एसबीआई किसी भी तरह से अपने ग्राहकों से उनका डाटा नहीं मांगती है. 

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Mar 03, 2021, 18:59 PM IST
1/5

लालच बुरी बला

लालच बुरी बला

भारत के सबसे बड़े सार्वजनिक बैंक एसबीआई ने अपने ग्राहकों को चेताया है कि वो लालच के चक्कर में न पड़ें. एसबीआई ने कहा कि फिशिंग के मामले तेज हुए हैं. ऐसे में अगर आप लालच में पड़ेंगे, तो अपनी गाढ़ी कमाई से हाथ भी धो सकते हैं. 
तस्वीर: Reuters

2/5

साइबर क्रिमिनल सक्रिय

साइबर क्रिमिनल सक्रिय

एसबीआई ने ये माना है कि मौजूदा समय में साइबर क्रिमिनल सक्रिय हैं और वो अलग तरीके से आम लोगों को निशाना बना रहे हैं. एसबीआई ने ग्राहकों को बताया है कि वो किसी संदिग्ध नंबर या नाम से भेजे गए मैसेज पर क्लिक करके लिंक ओपन न करें. वर्ना आपकी निजी जानकारियां साइबर ठगों तक पहुंच सकती हैं. ऐसे में वो आपका खाता खाली भी कर सकते हैं. एसबीआई ने लोगों से अपील की है कि वो किसी झांसे में न फंसें.
तस्वीर: SBI Twitter

3/5

रिवार्ट पॉइंट के चक्कर में न पड़ें

रिवार्ट पॉइंट के चक्कर में न पड़ें

एसबीआई ने अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट लिखकर बताया है कि कुछ मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि आज कल साइबर क्रिमिनल लोगों के पास एसबीआई के नाम से मैसेज भेजते हैं और उन्हें अपनी जाल में फंसाते हैं. कभी ये रिवार्ड पॉइंट का लालच देकर उनसे फेक लिंक पर क्लिक कराते हैं और पूरी जानकारी चोरी कर लेते हैं. ऐसा करने से बचना होगा.
तस्वीर: SBI वेबसाइट

4/5

एसबीआई की सलाह

एसबीआई की सलाह

एसबीआई ने अपने ग्राहकों को चेताते हुए कहा कि ग्राहक किसी भी व्यक्ति को कार्ड, पिन, सीवीवी, पासवर्ड न दें. क्योंकि एसबीआई किसी भी तरह से अपने ग्राहकों से उनका डाटा नहीं मांगती है. न ही फोन पर, न ही एसएमएस पर और न ही ई-मेल के माध्यम से. 
तस्वीर: SBI वेबसाइट

5/5

कैसे बचें?

कैसे बचें?

किसी संदिग्ध लिंक पर क्लिक न करें. किसी भी लिंक पर जाने से पहले देखते हैं कि वो सिक्योर है या नहीं. यही नहीं, आप अपनी कोई भी जानकारी फोन कॉल पर न दें. और न ही ई-मेल या एसएमएस के माध्यम से ऐसा करें. वर्ना आपकी गाढ़ी कमाई साइबल क्रिमिनल चुरा ले जाएंगे. 
तस्वीर: SBI वेबसाइट

ये भी पढ़ें: Exclusive: देश के हवाई अड्डों को खतरे में डालकर जेट की डील क्यों? खुलासा पार्ट-1