SBI को निपटान प्रक्रिया से 30 हजार करोड़ की वसूली की उम्मीद

देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई (SBI) को ऋणशोधन व दीवाला संहिता (आईबीसी) के तहत निपटान प्रक्रिया से मौजूदा वित्त वर्ष में अपने लगभग 30,000 करोड़ रुपये वसूल होने की उम्मीद है.

SBI को निपटान प्रक्रिया से 30 हजार करोड़ की वसूली की उम्मीद

कोलकाता : देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई (SBI) को ऋणशोधन व दीवाला संहिता (आईबीसी) के तहत निपटान प्रक्रिया से मौजूदा वित्त वर्ष में अपने लगभग 30,000 करोड़ रुपये वसूल होने की उम्मीद है. एसबीआई के वसूल नहीं हो रहे कर्जों के मामले देख रहे उप प्रबंध निदेशक (डीएमडी) पल्लव मोहापात्रा ने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक ने आईबीसी के तहत निपटान के लिए कर्जदारों की दो सूची भेजी है उसमें एसबीआई का अकेले का फंसा धन कुल मिलाकर लगभग 78 हजार करोड़ रुपये है.

भूषण स्टील-टाटा स्टील के समाधान से यह बैंक 8500 करोड़ रुपये की वसूली करने में सफल रहा है. यहां एक कार्यक्रम के अवसर पर उन्होंने कहा कि इसी तरह इलेक्ट्रोस्टील - वेदांता सौदे से बैंक को 6000 करोड़ रुपये की वसूली होने की उम्मीद है. बैंक का कुल एनपीए 2.20 लाख करोड़ रुपये का है. उन्होंने कहा कि आईबीसी के तहत निपटान प्रक्रिया के साथ-साथ बैंक को एक मुश्त निपटान , एआरसी की बिक्री आदि से 10000 करोड़ रुपये और मिलने की उम्मीद है.

बैंक ने कुल 95 हजार करोड़ रुपये के लिए आईबीसी के तहत 250 मामले दाखिल किए हैं. मोहापात्रा ने कहा, 'जो भी दबाव वाली आस्तियां थीं, उन्हें चिन्हित कर लिया गया है. हमें पूरी राशि की वसूली की उम्मीद नहीं है.'