कोरोना काल में गई नौकरी, EMI चुकाने में ऐसे मदद कर रहीं Insurance कंपनियां

बीमा कंपनियों ने जो प्रोडक्ट लॉन्च किए हैं वो जॉब लॉस इंश्योरेंस प्रोडक्ट हैं. इन प्रोडक्ट को लेने से नौकरी खोने या फिर कंपनी में छंटनी होने पर मिलने वाले इंश्योरेंस कवर से राहत मिलेगी. 

कोरोना काल में गई नौकरी, EMI चुकाने में ऐसे मदद कर रहीं Insurance कंपनियां
फाइल फोटो

नई दिल्लीः कोविड (Coronavirus) के दौरान अनुमान है कि करीब 1 करोड़ लोगों ने नौकरी खोई है और आगे भी कई सेक्टर्स में अनिश्चतता बनी रह सकती है. अनिश्चितता को देखते हुए कई इंश्योरेंस कंपनियों ने स्पेशल जॉब लॉस इंश्योरेंस (job loss insurance) प्रोडक्ट लॉन्च किए हैं जिसमें कंपनी के बंद होने, छंटनी होने, नौकरी से निकाले जाने पर आपके लोन को तीन महीने तक इंश्योरेंस कंपनी के द्वारा भरा जाएगा. 

ये हैं फीचर्स 
बीमा कंपनियों ने जो प्रोडक्ट लॉन्च किए हैं वो जॉब लॉस इंश्योरेंस प्रोडक्ट हैं. इन प्रोडक्ट को लेने से नौकरी खोने या फिर कंपनी में छंटनी होने पर मिलने वाले इंश्योरेंस कवर से राहत मिलेगी.  

यह भी पढ़ेंः Fortune की टॉप 500 भारतीय कंपनियों की लिस्ट जारी, टॉप 3 में RIL, IOCL और ONGC

इन प्रोडक्ट के जरिए इंश्योरेंस कंपनियां ग्राहकों को तीन महीने तक EMI भुगतान में मदद करेंगी. कोविड के बाद नौकरी से जुड़ी लोगों में अनिश्चितता बढ़ गई है. पॉलिसी लेने के तीन महीने बाद ही नौकरी जाने पर इंश्योरेंस कवर मिलेगा. हालांकि वीआरएस लेने या फिर कंपनी में कोई गड़बड़ी करने के बाद नौकरी से निकाले जाने पर किसी तरह का क्लेम नहीं मिलेगा.  ज्यादातर कंपनियां 3 महीने की EMI भरने का कवर दे रही हैं.

इतना है प्रीमियम और EMI का भुगतान
50 लाख के लोन पर 25 हजार की EMI पर इंश्योरेंस कंपनी 75,000 का भुगतान करेंगी. इस तरह की पॉलिसी पर प्रीमियम 8 से 10 हजार रुपये तक होगा. जॉब लॉस इंश्योरेंस में क्रिटिकल इलनेस का राइडर भी मौजूद है.

ये भी देखें---

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.