close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चीन को पछाड़ कर ICF ने दर्ज किया विश्व रिकॉर्ड, इसी फैक्ट्री में बनी थी Train-18

ICF ने ही भारत की सबसे तेज Train-18 का निर्माण किया है. यह वर्तमान में दिल्ली और वाराणसी रूट पर चलती है जिसे वंदे भारत एक्सप्रेस के नाम से जाना जाता है.

चीन को पछाड़ कर ICF ने दर्ज किया विश्व रिकॉर्ड, इसी फैक्ट्री में बनी थी Train-18
ICF इस वित्तीय वर्ष में अब तक 2,919 डिब्बों का उत्पादन कर चुका है. (फाइल)

नई दिल्ली: भारतीय रेल की इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (ICF) ने फरवरी में 301 डिब्बे तैयार किये. रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों ने बुधवार को यह दावा किया. उन्होंने कहा कि इससे चालू वित्त वर्ष में अब तक का कुल उत्पादन 2,919 डिब्बों पर पहुंच गया और इसके साथ ही ICF रेल डिब्बे बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में शामिल हो गयी. सूत्रों का कहना है कि चीन की रेल डिब्बा बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी प्रति वर्ष करीब 2,600 डिब्बे तैयार करती है.

ICF ने ही भारत की सबसे तेज वंदे भारत एक्सप्रेस जिसे Train-18 के नाम से भी जाना जाता है, उसका निर्माण किया था. ICF के बनाए कोच श्रीलंका में दौड़ रही है. विश्व के कई अन्य देशों ने भी ट्रेन-18 और ICF से कोच खरीदने की इच्छा जाहिर की है.

दुनियाभर में ब्रांड इंडिया का जलवा, श्रीलंका में दौड़ी भारत में बनी ट्रेन

अधिकारियों ने कहा कि चेन्नई स्थित ICF ने चालू वित्त वर्ष में फरवरी तक 2,919 डिब्बे तैयार किये जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के 2,085 से 40 प्रतिशत अधिक है. ICF ने 2017 में 1,976 डिब्बे तैयार किये थे. एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘ICF जिस दर से डिब्बे तैयार कर रही है, इस वित्त वर्ष के अंत तक यह 3,200 से अधिक डिब्बे तैयार कर लेगी. यह इसे निर्णायक तौर पर विश्व की शीर्ष रेल डिब्बा बनाने वाली कंपनी और पांच अन्य घरेलू कंपनियों की संयुक्त क्षमता से भी बेहतर कंपनी बनाती है.’’ 

देश की सबसे तेज ट्रेन वंदे भारत को ICF ने ही तैयार किया है. भारतीय रेल ने 44 और बंदे भारत बनाने का ठेका दिया हुआ है. इन्हें अगले तीन वित्त वर्ष में चरणबद्ध तरीके से तैयार किया जाएगा. उन्होंने कहा कि राय बरेली स्थित मॉडर्न कोच फैक्ट्री ने फरवरी में 143 डिब्बे तैयार किये हैं. इससे चालू वित्त वर्ष में फरवरी महीने तक उसका कुल उत्पादन 1,283 पर पहुंच गया है. यह पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के 586 डिब्बों की तुलना में 118 प्रतिशत अधिक है.

(इनपुट-भाषा)