छाती के बालों से लेकर बीवी की 'फीलिंग्स' तक का बीमा! दिमाग हिला देंगी ये पॉलिसी
X

छाती के बालों से लेकर बीवी की 'फीलिंग्स' तक का बीमा! दिमाग हिला देंगी ये पॉलिसी

जीवन बीमा, एक्सीडेंटल, हेल्थ या प्रॉपर्टी इंश्योरेंस के बारे में तो आपने सुना होगा लेकिन क्या आपको छाती के बालों, टांगों या फीलिंग्स के बीमा के बारे में भी जानकारी है?

 

छाती के बालों से लेकर बीवी की 'फीलिंग्स' तक का बीमा! दिमाग हिला देंगी ये पॉलिसी

नई दिल्ली: इंश्योरेंस पॉलिसी के बारे में तो आप जानते ही होंगे लेकिन आपकी जानकारी सिर्फ जीवन बीमा, एक्सीडेंटल, हेल्थ या प्रॉपर्टी इंश्योरेंस तक ही सीमित है तो ये नाकाफी है. क्योंकि दुनिया में ऐसी-ऐसी इंश्योरेंस पॉलिसी हैं, जिनके बारे में जान आपक दिमाग चकरा जाएगा. दुनिया में फीलिंग्स से लेकर बालों-टांगों के लिए भी बीमा पॉलिसी मौजूद है.

​वैंपायर, जॉम्बी अटैक पॉलिसी

लंदन में बेस्ड बीमा कंपनी ने लोगों के लिए एक अजीबो-गरीब पॉलिसी को कस्टमाइज्ड की है. ये कंपनी भूतों से होने वाले नुकसान या मौत पर कवरेज देने का दावा करती है. कंपनी जॉम्बी अटैक या वैंपायर अटैक इंश्योरेंस पॉलिसी भी देती है.

​एलियन किडनेप इंश्योरेंस

2019 की एक रिपोर्ट के मुताबिक, लंदन की एक बीमा कंपनी ने एलियन द्वारा अपहरण के एवज में भरपाई करने वाला बीमा बेच दिया. हैरानी की बात ये है कि पूरे यूरोप में 30,000 से ज्यादा लोगों ने बीमा कंपनी की बातों पर विश्वास भी कर लिया और बीमा पॉलिसी खरीदी. 

नारियल एक्सीडेंट इंश्योरेंस

साल 2002 में जब क्वींसलैंड, ऑस्ट्रेलिया में नारियल से घायल लोगों ने नुकसान की भरपाई के लिए मुकदमे दायर किए तो हैरान करने वाला खुलासा किया. एक बीमा कंपनी ने लोगों को सिर पर नारियल गिरने की दुर्घना के एवज में क्लेम देने वाला बीमा बेच दिया.

अंगों और बालों तक का बीमा

शरीर के अंगों के लिए भी बीमा पॉलिसी मौजूद हैं. उदाहरण के लिए साइलेंट फिल्मों के समय के एक्टर व कॉमेडियन बेन टर्पिन ने क्रॉस्ड आंखों का बीमा करवाया, सुपरमॉडल हेदी क्लम्स ने टांगों का बीमा लिया, सिंगर डॉली पार्टन के ब्रेस्ट का बीमा था. सिंगर टॉम जोन्स ने तो एक बार अपनी छाती के बालों का भी बीमा कराया था.

यह भी पढ़ें: कोरोना को मिटाने के लिए आने वाली है गोली, HIV की इस दवा के साथा कारगर

​दुल्हन की 'फीलिंग्स' का बीमा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यदि शादी तय होने के बाद दूल्हा या दुल्हन की फीलिंग्स बदल जाती हैं और वे शादी से इंकार कर देते हैं तो दुनिया में इसके लिए इंश्योरेंस कवर मौजूद है. इस कवर को 'चेंज ऑफ हार्ट' या फिर 'कोल्ड फीट' के नाम से जाना जाता है. यानी अगर दूल्हा या दुल्हन का शादी से पहले मन बदल जाए और शादी रद्द हो जाए तो यह इंश्योरेंस कवरेज प्रदान करता है. चेंज ऑफ हार्ट कवरेज के साथ शर्त ये रहती है कि दूल्हा या दुल्हन का मन बदलने पर शादी को कम से कम एक साल पहले रद्द करना होगा और कवरेज में शादी के खाने-पीने का खर्चा शामिल नहीं होगा.

LIVE TV
 

Trending news