close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तेज हुआ जेवर हवाईअड्डा का काम, तत्काल मंजूर किए गए 894 करोड़ रुपये

जेवर हवाईअड्डा के लिये जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया 2018 की अंतिम तिमाही में गति पकड़ी लेकिन लोकसभा चुनावों के कारण पाबंदी की वजह से काम रूक गया था. यह राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में दूसरा हवाईअड्डा होगा.

तेज हुआ जेवर हवाईअड्डा का काम, तत्काल मंजूर किए गए 894 करोड़ रुपये
विस्थापित होने वाले परिवारों के पुनर्स्थापन और पुनर्वास के लिये 894 करोड़ रुपये की मंजूरी दी गई है. (फाइल)

नोएडा: उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल ने मंगलवार को जेवर हवाईअड्डे के लिये प्रस्तावित बोली दस्तावेज और परियोजना से विस्थापित होने वाले परिवारों के पुनर्स्थापन और पुनर्वास के लिये 894 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है. गौतम बुद्ध नगर में नये अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा के लिये जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया 2018 की अंतिम तिमाही में गति पकड़ी लेकिन लोकसभा चुनावों के कारण पाबंदी की वजह से काम रूक गया था. यह राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में दूसरा हवाईअड्डा होगा.

राज्य सरकार के सूचना विभाग की तरफ से जारी बयान के अनुसार, ‘‘मंत्रिमंडल ने गौतबबुद्ध नगर के जेवर में नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा से जुड़े प्रस्ताव को मंजूरी दे दी. मंत्रिमंडल ने बोली दस्तावेज और छूट समझौते के मसौदे को मंजूरी दे दी.’’ मंत्रिमंडल ने परियोजना निगरानी और क्रियान्वयन समिति (पीएमआईसी) द्वारा प्रस्तावित समयसीमा के तहत नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा लि. के लिये वैश्विक निविदा प्रक्रिया पर भी सहमति जतायी.

जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो चलाने की तैयारी, एकसाथ शुरू होगी एयरपोर्ट और मेट्रो की सुविधा

बयान में कहा गया है, ‘‘मंत्रिमंडल ने परियोजना से विस्थापित होने वाले परिवारों के पुनर्स्थापन और पुनर्वास के लिये 894 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है. साथ ही परियोजना के लिये पहले से मंजूर 275 करोड़ रुपये के कोष को लेकर प्रशासनिक और वित्तीय मंजूरी दे दी.’’ इसमें कहा गया है कि जरूरत के अनुसार परियोजना से जुड़े निर्णय के लिये मंत्रिमंडल ने योगी आदित्यनाथ को अधिकृत किया है.