close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मो. कैफ के पोस्ट से क्यों डरे नासिर हुसैन, बोले- इन दोनों को देख डरावने सपने आते हैं

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने कहा, ‘आप सुबह-सुबह इन दोनों की तस्वीर नहीं देखना चाहते.’ 

मो. कैफ के पोस्ट से क्यों डरे नासिर हुसैन, बोले- इन दोनों को देख डरावने सपने आते हैं
नासिर हुसैन. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: क्रिकेट वर्ल्ड कप का इंतजार साल, महीने, हफ्ते से घटकर अब दिनों में रह गया है. क्रिकेट का यह महाकुंभ महज पांच दिन बाद शुरू हो जाएगा. आईसीसी वर्ल्ड कप (World Cup 2019) इंग्लैंड और वेल्स में हो रहा है. इंग्लैंड इस समय दुनिया की नंबर-1 टीम है और विश्व कप जीतने की सबसे बड़ी दावेदार भी है. इंग्लैंड के बाद भारत और ऑस्ट्रेलिया को विश्व चैंपियन बनने का दावेदार माना जा रहा है. शायद इसी कारण इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटरों को भारत और ऑस्ट्रेलिया से मिली हार याद आ रही है. नासिर हुसैन (Nasser Hussain) ने मोहम्मद कैफ की एक तस्वीर देखकर ऐसी ही एक हार का जिक्र किया है. 

आईसीसी वर्ल्ड कप (ICC Cricket World Cup 2019) 30 मई से शुरू होने जा रहा है. इसके लिए भारतीय टीम (Team India), इंग्लैंड पहुंच गई है. टीम के साथ कई पूर्व भारतीय क्रिकेटर भी यहां पहुंचे हैं, जो कॉमेंट्री करते दिख सकते हैं. इन क्रिकेटरों में मोहम्मद कैफ और युवराज सिंह शामिल हैं. मोहम्मद कैफ ने इंग्लैंड पहुंचने के बाद ट्विटर पर एक तस्वीर पोस्ट की. इस तस्वीर में मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) और युवराज सिंह (Yuvraj Singh) साथ-साथ नजर आ रहे हैं. 

मोहम्मद कैफ ने इस तस्वीर को पोस्ट करने के बाद लिखा, ‘17 साल बाद एक बार फिर हम लॉर्ड्स पर के मैदान पर साथ हैं. भारतीय टीम को बहुत-बहुत शुभकामनाएं. उम्मीद है कि विराट कोहली और उनकी टीम 14 जुलाई को यहीं पर वर्ल्ड कप की ट्रॉफी हासिल करेगी.’ 

 

 

मोहम्मद कैफ और युवराज सिंह की यह तस्वीर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन को नागवार गुजरी. उन्होंने कैफ की पोस्ट को रीट्वीट करते हुए लिखा, ‘आप सुबह उठते ही यह तस्वीर नहीं देखना चाहते. मुझे आज भी इन दोनों से जुड़े बुरे सपने आते हैं, जब हम नेटवेस्ट फाइनल हार गए थे.’ 

दरअसल, भारत ने साल 2002 में इसी मैदान पर इंग्लैंड को हराकर नेटवेस्ट ट्रॉफी जीती थी. 13 जुलाई को खेले गए उस मैच में इंग्लैंड ने 325 रन बनाए थे. भारत ने इसके जवाब में 146 रन पर पांच विकेट गंवा दिए थे. भारत ने इसके बावजूद यह मैच जीत लिया था. उसकी जीत के हीरो मोहम्मद कैफ (87 नाबाद)  और युवराज सिंह (69) रहे थे, जिन्होंने छठे विकेट के लिए 121 रन की साझेदारी की थी.