close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रवि शास्त्री ने कप्तान विलियम्सन की तारीफ में किया ट्वीट, तो लोगों ने जमकर की खिंचाई

. इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच फाइनल मुकाबला हर मायने में ऐतिहासिक और रोमांचक रहा.

रवि शास्त्री ने कप्तान विलियम्सन की तारीफ में किया ट्वीट, तो लोगों ने जमकर की खिंचाई
(फोटो: ANI)

लंदन: आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 (World Cup 2019) के फाइनल मुकाबले की चर्चा अभी तक थमी नहीं है. इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच फाइनल मुकाबला हर मायने में ऐतिहासिक और रोमांचक रहा. इंग्लैंड को जीतने के लिए न्यूजीलैंड से 242 रनों की चुनौती मिली थी, लेकिन बेन स्टोक्स की नाबाद 84 और जोस बटलर की 59 रनों की पारियों के बाद भी इंग्लैंड 50 ओवरों में 241 रनों पर ऑल आउट हो गई और दोनों टीमों का स्कोर टाई रहा. इसके बाद सुपर ओवर भी टाई रहा. आखिर में किवी टीम इंग्लैंड से कम बाउंड्रीज लगाने के कारण विश्व कप से हाथ धो बैठी.

भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने बुधवार को न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के कप्तान केन विलियम्सन (Kane Williamson) की विश्व कप फाइनल (World Cup 2019) में मुश्किल स्थिति में भी धैर्य बनाए रखने की काबिलियत की प्रशंसा की है.  शास्त्री ने एक ट्वीट कर विलियम्सन के मैच के मुश्किल समय में शांत रहने की तरीफ की है और उन्हें शुभकामनाएं दी हैं.

शास्त्री ने ट्वीट किया, "घटनाओं को होता देख आपने जो धैर्य और प्रतिष्ठा दिखाई वो बेहतरीन थी. मैच के 48 घंटे बाद भी आपने जो शिष्टता और शांति दिखाई वह लाजवाब है. हम जानते हैं कि आपका एक हाथ विश्व कप पर ही है."

इस ट्वीट को लेकर भारतीय क्रिकेट टीम के फैन कोच शास्त्री की ट्विटर पर जमकर खिंचाई कर रहे हैं. शास्त्री को ट्रोल करते हुए फैन उनसे कई तरह के सवाल पूछ रहे हैं तो वहीं कई यूजर भद्दे कमेंट्स पर उतर आए.

एक यूजर ने लिखा, ''आपको विराट कोहली की बात माननी चाहिए थी, आपने नहीं मानी. अंबाती रायुडू को क्यों नहीं खिलाया.'' वहीं एक शख्स ने रिप्लाई किया है, ''कृपया अब टीम इंडिया के कोच के पद के लिए आवेदन मत देना.''

मैच के बाद विलियम्सन ने कहा था कि इंग्लैंड से बाउंड्रीज के आधार पर मात खाना, इस बात को पचाना काफी मुश्किल है.

विलियम्सन ने मैच के बाद कहा था, "मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे इस बात का जवाब देना पड़ेगा. जब दो टीमें यहां तक पहुंचने के लिए काफी मेहनत करती हैं तब इस तरह की चीजों को पचा पाना आसान नहीं होता है, लेकिन यह ऐसा ही है. नियम शुरू से थे. किसी ने नहीं सोचा था कि बात यहां तक आएगी."

न्यूजीलैंड इस बार लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंची थी लेकिन इस बार भी वह जीत हासिल नहीं कर सकी. पिछली बार 2015 विश्व कप के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने उसे मात दी थी.