close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

World Cup 2019: इशांत और अक्षर पटेल के लिए खुशखबरी, टीम इंडिया के 5 स्टैंड-बाई में शामिल

बीसीसीआई (BCCI) के अधिकारी ने कहा कि पांच खिलाड़ियों को बता दिया गया है कि वे स्टैंड-बाई सूची में शामिल हैं. 

World Cup 2019: इशांत और अक्षर पटेल के लिए खुशखबरी, टीम इंडिया के 5 स्टैंड-बाई में शामिल
इशांत शर्मा (दाएं से दूसरे) और अक्षर पटेल (बाएं) दोनों ही आईपीएल में दिल्ली की टीम के लिए खेलते हैं. (फोटो: PTI)

नई दिल्ली: इंग्लैंड में अगले महीने से शुरू होने वाले विश्व कप के लिए सोमवार को 15 सदस्यीय भारतीय टीम की घोषणा कर दी गई. टीम में जगह नहीं बनाने के कारण अंबाती रायडू और ऋषभ पंत काफी चर्चा में रहे हैं. इन दोनों खिलाड़ियों को स्टैंड बाई में शामिल किया गया है. इनके अलावा इशांत शर्मा, नवदीप सैनी और अक्षर पटेल भी भारतीय टीम के स्टैंड बाई होंगे. विश्व कप में 10 देश खेलेंगे. इनमें से आठ देश अपनी टीमें घोषित कर चुके हैं.

बीसीसीआई के अधिकारी ने कहा कि पांच खिलाड़ियों को बता दिया गया है कि वे स्टैंड-बाई सूची में शामिल हैं. अगर उनकी जरूरत पड़ती है तो उन्हें तैयार रहना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘इशांत, अक्षर, पंत, रायडू और सैनी को पता है कि उन्हें स्टैंड-बाई में रखा गया है. बोर्ड ने उन्हें इस बारे में सूचित किया है. इनमें से चार खिलाड़ी टीम के साथ इंग्लैंड नहीं जाएंगे सिर्फ नवदीप सैनी भारतीय टीम के साथ इंग्लैंड जाएंगे.’ 

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: पाकिस्तान की टीम का ऐलान; मो. आमिर को जगह नहीं, रिजर्व खिलाड़ी होंगे

इस अधिकारी ने कहा, ‘हम स्टैंड बाई के लिए दो बल्लेबाजों, दो तेज गेंदबाज और एक स्पिनर को देख रहे थे. जैसा कि आप जानते हैं कि ये विश्व कप राउंड रॉबिन फॉर्मेट के आधार पर खेला जाना है. प्रत्येक टीम को टूर्नामेंट में प्रत्येक टीम से मैच खेलना है. इसलिए टूर्नामेंट काफी लंबा है.’ दाएं हाथ के तेज गेंदबाज इशांत ने काफी समय से वनडे मैच नहीं खेला है. वे इंग्लैंड में 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी जीतने वाली भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा थे. इशांत ने 2016 में अपना आखिरी वनडे मैच खेला था. हालांकि वे इस समय टेस्ट टीम में स्थाई सदस्य हैं. 

इशांत के चयन के बारे में अधिकारी ने कहा, ‘आप बाजार में अनुभव नहीं खरीद सकते. इसके अलावा इशांत एक गेंदबाज के रूप में काफी परिपक्व हो गए हैं और जानते हैं कि उनके लिए क्या आवश्यक है. टूर्नामेंट को देखते हुए यह महसूस किया गया कि दबाव की स्थिति में वे बेहतर विकल्प हो सकते हैं. उन्होंने पहले भी ऐसा किया है और वे इसे फिर से ऐसा कर सकते हैं.’ 

(आईएएनएस)