यूपी में बेखौफ बदमाश, भांजी को छेड़ने की शिकायत की तो पत्रकार पर हुआ जानलेवा हमला
topStories1hindi715007

यूपी में बेखौफ बदमाश, भांजी को छेड़ने की शिकायत की तो पत्रकार पर हुआ जानलेवा हमला

पत्रकार विक्रम जोशी का कसूर बस इतना था कि उसने अपनी भांजी को लगातार छेड़ने वाले लोगों के खिलाफ थाने में तहरीर दी थी. तहरीर देने से नाराज बदमाशों ने देर रात विक्रम सिर में गोली मार दी.

यूपी में बेखौफ बदमाश, भांजी को छेड़ने की शिकायत की तो पत्रकार पर हुआ जानलेवा हमला

गाजियाबाद: दिल्ली से सटे गाजियाबाद (Ghaziabad) में बदमाश इतने बेखौफ हो गए हैं कि वो पत्रकारों पर भी गोली चलाने लगे हैं. दरअसल गाजियाबाद में पत्रकार विक्रम जोशी ने अपनी भांजी के छेड़ने की तहरीर विजय विहार की प्रताप विहार चौकी में पुलिस को दी थी. फिर पुलिस ने ना तो उसमें कार्रवाई की और ना ही किसी की गिरफ्तारी की. तहरीर देने से नाराज बदमाशों ने सोमवार देर रात पत्रकार विक्रम जोशी को गोली मार दी. विक्रम इस समय जिंदगी और मौत से अस्पताल में लड़ रहा है.

पत्रकार विक्रम जोशी का कसूर बस इतना था कि उसने अपनी भांजी को लगातार छेड़ने वाले लोगों के खिलाफ थाने में तहरीर दी थी. तहरीर देने से नाराज बदमाशों ने देर रात विक्रम सिर में गोली मार दी. वारदात के वक्त पत्रकार विक्रम की दोनों बेटियां भी उनके साथ में थीं. फिर आनन-फानन में विक्रम को यशोदा हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया, उसकी हालत अभी गंभीर बनी हुई है.

बता दें कि विक्रम जोशी पर हमला करते वक्त ये घटना सीसीटीवी में रिकॉर्ड हो गई. विक्रम पर करीब 5 से 6 लोगों ने हमला किया था, जो सीसीटीवी में दिख रहे हैं.

गाजियाबिद पुलिस ने मुख्य आरोपी रवि समेत मामले में 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही प्रताप विहार चौकी इंचार्ज को निलंबित कर दिया है. लेकिन सवाल ये है कि अगर पुलिस कार्रवाई करती तो शायद विक्रम आज अस्पताल में भर्ती ना होता.

ये भी पढ़े- निर्दयी बेटे ने मां को चाकू से मौत के घाट उतारा, चेहरे पर मलता रहा खून

गाजियाबाद के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि सोमवार रात विक्रम जोशी जब अपनी बहन के घर से लौट रहे थे तो उनके ऊपर 5 बदमाशों ने हमला कर दिया और गोली भी मारी. इस सूचना पर हम सभी अधिकारी अस्पताल पहुंचे और टीमें लगाकर साक्ष्य जुटाना शुरू किया. विक्रम का इस समय इलाज चल रहा है.

उन्होंने आगे कहा कि सबूतों के आधार पर हमने 9 लोगों को गिरफ्तार किया है. इन सभी को जेल भेजा जा रहा है और भी नाम जो जांच में सामने आएंगे उन पर भी कार्रवाई होगी.

विक्रम के परिजनों का भी कहना है अगर विक्रम की तहरीर पर कार्रवाई होती तो आज यह घटना ना होती विक्रम की भांजी को लगातार छेड़ा जा रहा था और उसके बावजूद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की.

गौरतलब है कि गाजियाबाद में बदमाश लगातार हावी हो रहे हैं और पुलिस हाथ पर हाथ रख कर बैठी है. अब बदमाश पत्रकारों को भी अपना निशाना बनाने लगे हैं इसके बाद ऐसा लगता है कि कहीं ना कहीं पुलिस की कमजोरी है. जिसके बाद बदमाश आप इतने बेखौफ हो गए हैं.

(इनपुट- राजू राज)

VIDEO...

Trending news