महाराष्ट्र में फिर 1 साधु समेत 2 की बेरहमी से हत्या, तेलंगाना से पकड़ा गया आरोपी

पुलिस का कहना है कि आरोपी साधु के शव को उसी की गाड़ी की डिग्गी में डालकर भागने की कोशिश कर रहा था. 

महाराष्ट्र में फिर 1 साधु समेत 2 की बेरहमी से हत्या, तेलंगाना से पकड़ा गया आरोपी
बाल ब्रह्मचारी शिवाचार्य (फाइल फोटो)

सतीश मोहिते, नांदेड़: महाराष्ट्र (Maharashtra) में साधुओं को लगातार निशाना बनाया जा रहा है. पालघर में दो साधुओं की हत्या का मामला अभी पूरी तरह शांत भी नहीं हुआ था कि अब नांदेड़ में एक साधु की हत्या से इलाके में खौफ का माहौल है. अब महाराष्ट्र के नादेंड़ के उमरी तालुका के नागठाना में बाल ब्रह्मचारी साधु शिवाचार्य की हत्या का मामला सामने आया है. शिवाचार्य के पास ही भगवान शिंदे नाम के शख्स की भी लाश मिली. इन दोनों की लाश बाथरूम के पास मिली है. हत्या गला रेत कर की गई. पुलिस ने हत्या के मामले में साईनाथ शिंगाडे नाम के शख्स को तेलंगाना से पकड़ा है. 

पुलिस का कहना है कि आरोपी साधु के शव को उसी की गाड़ी की डिग्गी में डालकर भागने की कोशिश कर रहा था. लेकिन कार मठ के गेट में फंस गई इसलिए वह दूसरी एक बाइक चुराकर भाग गया. लैपटॉप और 65 हजार गाड़ी में  ही छोड़ के भाग गया. फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है.

ये भी पढ़ें- पालघर: साधुओं की हत्या का एक आरोपी निकला कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल में भर्ती

साधु की हत्या पर बीजेपी नेता और प्रवक्ता राम कदम नेप्रदेश सरकार को घेरा है. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में एक महीने के अंतराल में दूसरी बार साधुओं की हत्या हो गई. सरकार पूरी तरह से फेल हो चुकी हैं. उन्होंने कहा कि पहली बार हुई साधुओं की हत्या को सरकार ने अफवाह करार दे दिया था. महाराष्ट्र में न तो साधु-संत सुरक्षित हैं और ना ही पुलिस सुरक्षित है. पिछले 2 महीने में महाराष्ट्र में 240 से अधिक पुलिसवालों पर हमले हुए हैं. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सरकार पूरी तरह से फेल हो गई है. 

वहीं, नांदेड़ के कांग्रेस नेता चरनजीत सप्रा ने साधु की हत्या की निंदा की है. उन्होंने कहा कि ये मामला आपसी रंजिश और चोरी का लगता है. 

ये भी पढ़ें- महाराष्ट्र सरकार ने पालघर के SP गौरव सिंह को छुट्टी पर भेजा, एडिशनल एसपी को दी जिम्मेदारी

गौरतलब है कि बीते महीने महाराष्ट्र के पालघर के गडचिंचले गांव में भीड़ ने दो साधुओं समेत तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी. इस दौरान वहां मौजूद पुलिस मूकदर्शक बनी रही. जानकारी के मुताबिक दोनों साधु लॉकडाउन के दौरान गुजरात में अपने गुरु की अंतिम यात्रा में शामिल होने जा रहे थे. इस मामले में 101 लोग गिरफ्तार किए गए हैं. आगे की जांच जारी है. 

ये भी देखें....