Knowledge: CSIR NET, UGC NET & GATE! 9 पॉइंट में जानें तीनों परीक्षाओं में अंतर
X

Knowledge: CSIR NET, UGC NET & GATE! 9 पॉइंट में जानें तीनों परीक्षाओं में अंतर

Difference Between CSIR NET, UGC NET and GATE 2021: यहां आपको राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली तीन एग्जाम का सही अर्थ और इनके बीच का अंतर जानने को मिलेगा. 

Knowledge: CSIR NET, UGC NET & GATE! 9 पॉइंट में जानें तीनों परीक्षाओं में अंतर

नई दिल्लीः Difference Between CSIR NET, UGC NET and GATE 2021: देशभर में हर सालों कई प्रतियोगी परीक्षाएं आयोजित होती हैं, UGC NET, CSIR-UGC NET और GATE एग्जाम भी उन्हीं का हिस्सा है. NET की दोनों ही एग्जाम क्लीयर करने वाले अभ्यर्थी कॉलेज और विश्वविद्यालय में लेक्चरर की नौकरी कर सकते हैं. जबकि GATE की एग्जाम इंजीनियरिंग, साइंस और रिसर्च कोर्स में मास्टर्स डिग्री में एडमिशन के लिए होती है. NET की दोनों ही एग्जाम को लेकर लोगों में कन्फ्यूजन रहती हैं, वहीं GATE के बारे में भी कइयों को ज्यादा जानकारी नहीं होती. ऐसे में हम लेकर 9 पॉइंट में तीनों ही एग्जाम के बीच का अंतर और इनके बीच की समानताएं. 

S. No. CSIR-UGC NET UGC NET GATE
1.  आपको csirnet.nta.nic.in वेबसाइट पर CSIR-UGC NET से संबंधित जानकारी मिलेगी. अभ्यर्थी इसी वेबसाइट पर जाकर आवेदन भी कर सकते हैं. 

अभ्यर्थियों को ugcnet.nta.nic.in पर UGC NET से संबंधित जानकारी मिलेगी. आपको इसी वेबसाइट पर जाकर UGC NET के लिए एप्लीकेशन फॉर्म भरना होगा. 

GATE एग्जाम का एप्लीकेशन फॉर्म भरने के लिए आपको gate.iitkgp.ac.in वेबसाइट पर जाना होगा. 

 

2.  CSIR-UGC NET का फुल फॉर्म Council of Scientific and Industrial Research National Eligibility Test होता है. यहां UGC का फुल फॉर्म University Grants Commission और NET का फुल फॉर्म National Eligibility Test होता है.  UGC का फुल फॉर्म University Grants Commission और NET का फुल फॉर्म National Eligibility Test होता है.  GATE का फुल फॉर्म Graduate Aptitude Test in Engineering होता है. 
 
3. 

राष्ट्रीय स्तर की इस परीक्षा में हर साल लाखों अभ्यर्थी पार्टिसिपेट करते हैं. उम्मीदवारों का परीक्षण करने और लेक्चररशिप की योग्यता जांचने के लिए एग्जाम होती है.

राष्ट्रीय स्तर की इस परीक्षा में हर साल लाखों अभ्यर्थी पार्टिसिपेट करते हैं. उम्मीदवारों का परीक्षण करने और लेक्चररशिप की योग्यता जांचने के लिए एग्जाम होती है.  GATE भी राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होती है. इसके आधार पर इंजीनियरिंग और साइंस के मास्टर्स डिग्री कोर्स में एडमिशन मिलता है.
4.  साइंस, लाइफ साइंस, फिजिक्स, केमिस्ट्री समेत साइंस स्ट्रीम के सभी विषयों के लेक्चरर के लिए यह एग्जाम होती है.  आर्ट्स, सोशल साइंस और कॉर्मस जैसे विषयों को पढ़ाने वाले लेक्चरर्स की योग्यता जांचने के लिए यह एग्जाम होती है. 
 
देश के प्रसिद्ध संस्थानों से MTech, PSU, PHD, फेलोशिप प्रोग्राम, मैनेजमेंट पीजी, MS, स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड और रिसर्च के लिए यह एग्जाम होती है. 
5.  CSIR NET की परीक्षा देने के लिए अभ्यर्थी की अधिकतम उम्र 28 साल होनी चाहिए.  UGC NET की परीक्षा देने के लिए अभ्यर्थियों की अधिकतम उम्र 30 साल होनी चाहिए.  GATE एग्जाम की कोई उम्र सीमा नहीं है. अभ्यर्थी इसमें कई अटेम्प्ट भी दे सकते हैं.
6.  CSIR NET की एग्जाम कम्प्यूटर आधारित (CBT) होती है. परीक्षा में MCQ पूछे जाते हैं. 200 नंबर के इस पेपर को 3 घंटे में हल करना होता है. पार्ट-A, पार्ट-B और पार्ट-C तीनों मिलाकर 120 प्रश्न पूछे जाते हैं, इनमें क्रमशः 20, 40 और 60 प्रश्न रहते हैं. गलत जवाब देने पर निगेटिव मार्किंग भी होती है.  UGC NET भी कम्प्यूटर आधारित परीक्षा (CBT) ही होती है. लेकिन इसमें दो पेपर होते हैं, पेपर-1 में 100 नंबर के 50 प्रश्न रहते हैं, वहीं पेपर 2 में 200 नंबर के 100 प्रश्न पूछे जाते हैं. 3 घंटे के लिए होने वाली इस परीक्षा में कोई भी निगेटिव मार्किंग नहीं होती.
 
GATE एग्जाम भी अब ऑनलाइन पैटर्न में आयोजित है. परीक्षा पैटर्न बदलता रहता है, इस बार 100 नंबर के 65 प्रश्न पूछे जाएंगे. 3 घंटे की इस एग्जाम में समय खत्म होने पर कम्प्यूटर स्क्रीन बंद हो जाती है. पेपर में जनरल एप्टीट्यूड (15 नंबर), इंजीनियरिंग मैथ्स (10-13 नंबर) और कैंडिडेट की कोर इंजीनियरिंग से रिलेटेड प्रश्न पूछ जाते हैं. दो तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं, MCQ और रिक्त स्थानों को भरना. वस्तुनिष्ठ प्रश्नों के गलत जवाब देने पर निगेटिव मार्किंग भी होगी. रिक्त स्थानों में गलत जवाब भरने पर निगेटिव मार्किंग नहीं होगी. 
7.  परीक्षा CSIR (Council of Scientific & Industrial Research) आयोजित करवाता है.  परीक्षा CBSE (Central Board Of Secondary Education) आयोजित करवाती है.  GATE एग्जाम IISC बेंगलुरु और 7 IIT संस्थानों द्वारा आयोजित होती है. 
8. CSIR NET अभ्यर्थी का विज्ञान में पोस्ट ग्रेजुएट होना अनिवार्य है.  UGC NET में विज्ञान के अलावा दूसरे एरिया में भी पोस्ट ग्रेजुएशन करना अनिवार्य है.   इंजीनियरिंग की बैचलर डिग्री पूरी होना या विज्ञान के किसी सब्जेक्ट से मास्टर्स डिग्री पूरी करने वालों या मास्टर्स कोर्स के फाइनल ईयर में पढ़ने वाले छात्रों को ही इस एग्जाम में बैठने दिया जाता है. 
9. CSIR NET में बायोलॉजी, फिजिक्स, केमिस्टी, गणितीय विज्ञान, पृथ्वी वायुमंडलीय महासागर और ग्रह विज्ञान जैसे विषयों के प्रश्न पूछे जाते हैं.  UGC NET में कला, मानविकी, सोशल साइंस और वाणिज्य से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं.  GATE में इंजीनियरिंग मैथ्स और जनरल एप्टीट्यूड के प्रश्न पूछे जाते हैं.

यह भी पढ़ेंः- DU Recruitment 2021: नॉन टीचिंग स्टाफ के कई पदों पर निकली भर्ती, यहां जानें योग्यता व अन्य डिटेल

WATCH LIVE TV

Trending news